राशन कार्ड कैसे बनाये | राशन कार्ड बनाने के लिए क्या करे

राशन कार्ड कैसे बनाये: हमारे भारत देश में राशन कार्ड को बहुत ही महत्वपूर्ण डॉक्यूमेंट माना जाता है, क्योंकि राशन कार्ड हमारे पूरे भारत देश में मान्य होता है। वैसे तो आमतौर पर राशन कार्ड के जरिए भारत के गरीब और मध्यम लोगों को हर महीने सरकार कम कीमतों पर चावल और गेहूं तथा अन्य चीजें उपलब्ध करवाती है।

इसे सामान्य भाषा में कोटा कहा जाता है, परंतु इसके अलावा भी राशन कार्ड विभिन्न चीजों में बहुत ही उपयोगी साबित होता है।

हमारे भारत देश में ऐसे कई गरीब लोग हैं, जो एक वक्त का खाना भी नहीं जुटा पाते। ऐसे में परिवार को पालना तो दूर की बात है। कुछ लोग मजदूरी करके अपना और अपने परिवार का पेट पालते हैं, तो कुछ लोग अन्य काम करके भोजन का प्रबंध करते हैं।

ऐसे ही लोगों को देखते हुए हमारी भारत सरकार ने गरीबों को राहत देने के लिए और उन्हें सस्ती कीमतों पर अन्न उपलब्ध करवाने के लिए राशन कार्ड की व्यवस्था की है।

परंतु क्या आप जानते हैं की राशन कार्ड कैसे बनता है और राशन कार्ड बनवाने के लिए कौन से डॉक्यूमेंट की आवश्यकता पड़ती है तथा राशन कार्ड से हमें कौन कौन से फायदे होते है।

अगर आप नहीं जानते तो, चिंता करने की कोई बात नहीं है, क्योंकि हम आपको आज के इस आर्टिकल में राशन कार्ड कैसे बनवाएं, उसके बारे में जानकारी प्रदान करने वाले हैं।

दोस्तों हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि राशन कार्ड दो तरीकों से बनता है। एक ऑफलाइन और दूसरा ऑनलाइन।आज के इस आर्टिकल में हम आपको ऑफलाइन राशन कार्ड कैसे बनवाएं तथा ऑनलाइन राशन कार्ड के लिए अप्लाई कैसे करें, इन दोनों तरीकों के बारे में बताने वाले हैं, तो चलिए चलते हैं मुख्य मुद्दे पर और जानते हैं कि राशन कार्ड कैसे बनवाएं।

अनुक्रम दिखाएँ

राशन कार्ड कैसे बनाये

राशन कार्ड बनवाने के लिए क्या करे

ration card kaise banaye

1. राशन कार्ड क्या है

सबसे पहले तो आपको बता दें कि, राशन कार्ड एक ऐसा डॉक्यूमेंट होता है, जो हर राज्य सरकार यानी कि स्टेट गवर्नमेंट के द्वारा प्रदान किया जाता है।

इसके पीछे यह उद्देश होता है कि, जिस व्यक्ति के पास राशन कार्ड रहेगा, वह व्यक्ति सरकारी राशन की दुकान से सस्ती कीमतों पर चावल गेहूं चना चीनी तथा मिट्टी का तेल प्राप्त कर सकेगा।

आमतौर पर जो लोग गरीब होते हैं, वह लोग महंगी कीमतों पर इन सभी चीजों को नहीं खरीद पाते, इसीलिए भारत सरकार ने उन लोगों को सस्ते दरों पर अनाज उपलब्ध करवाने के लिए सरकारी राशन दुकान की व्यवस्था की है, जिसे ग्रामीण भाषा में कोटा कहा जाता है और जो कोटा चलाता है, उसे कोटेदार कहा जाता है।

इसके अलावा हाल ही में मोदी सरकार ने “वन नेशन वन राशन” नाम की योजना चालू करने की घोषणा की है।इस योजना के अंतर्गत एक ही राशन कार्ड पूरे देश में मान्य होगा।

अर्थात जिस व्यक्ति के पास राशन कार्ड होगा, वह भारत के किसी भी राज्य में हो,वहां से राशन ले सकता है।उदाहरण के स्वरूप अगर किसी व्यक्ति के पास उत्तर प्रदेश का राशन कार्ड है और वह किसी कारण से पश्चिम बंगाल में रह रहा है, तो वह उत्तर प्रदेश के राशन कार्ड से ही पश्चिम बंगाल में भी राशन ले सकता है।

2. ई राशन कार्ड क्या है

दोस्तों आपने राशन कार्ड के अलावा कहीं ना कहीं ई राशन कार्ड के बारे में भी जरूर सुना होगा और आप यह अवश्य सोचते होंगे कि, आखिर e-ration राशन कार्ड क्या होता है।

तो हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, सरकारी राशन की दुकान में कई बार धांधली होती है, इसी कारण लाभार्थी को राशन नहीं मिल पाता है।

इसलिए सरकार ने ई राशन कार्ड की व्यवस्था की है जो कि एक इलेक्ट्रॉनिक पब्लिक डिसटीब्यूशन सिस्टम होता है जिसे शॉर्ट में ईपीडीएस कहा जाता है।

इस सिस्टम के माध्यम से सरकार यह चेक करती है कि क्या वाकई में लाभार्थी को राशन मिला है या नहीं।इस सिस्टम के माध्यम से जब लाभार्थी स्केनर मशीन में अपना अंगूठा लगाता है, तब उसके नाम पर राशन अलॉट हो जाता है।

मतलब कि जब तक लाभार्थी का अंगूठा स्केनर मशीन में नहीं लगेगा, तब तक उसके नाम का राशन अलॉट नहीं होगा।

3. राशन कार्ड का उपयोग

जैसा कि हमने आपको ऊपर बताया कि राशन कार्ड एक बहुत ही महत्वपूर्ण डॉक्यूमेंट है, जिसका इस्तेमाल राशन लेने के अलावा अन्य कामों के लिए भी किया जाता है, आइए जानते हैं कि राशन कार्ड अन्य कौन कौन से कामों के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं।

  • एलपीजी कनेक्शन के लिए
  • सरकारी और निजी कार्यालयों में
  • निवास के पता के लिए
  • पहचान पत्र के लिए
  • राशन दुकान में (राशन ) खाद्य पदार्थ जैसे – शक़्कर ,चना ,दाल,गेहूं ,चावल , आदि और अन्य आवशयक पदार्थ एलपीजी ,केरोसिन खरीदने के लिए।
  • जीवन बीमा के लिए
  • ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए
  • स्कूल कालेजों में
  • कोर्ट कचहरी में
  • मोबाइल सिम कार्ड खरीदने में
  • बैंक अकाउंट खोलने के लिए
  • मतदान कार्ड बनाने के लिए
  • पासपोर्ट बनाए जाने के लिए

4. राशन कार्ड कितने प्रकार का होता है

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, राशन कार्ड को सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत राज्य सरकार अथवा स्टेट गवर्नमेंट के द्वारा जारी किया जाता है और राशन कार्ड टोटल तीन प्रकार के होते हैं, जिनके बारे में हम आपको नीचे जानकारी दे रहे हैं।

#1 अत्यधिक गरीब परिवार – अंत्योदय

जो बहुत ही गरीब होते हैं उन्हें अंतोदय कार्ड दिया जाता है।जिन परिवारों की आर्थिक स्थिति बिल्कुल भी ठीक नहीं होती है, जिसके पास खाने के लिए अन्न नहीं होता उन्हें अंत्योदय कार्ड जारी किया जाता है।इस कार्ड का रंग पीला होता है।

#2 गरीबी रेखा के नीचे -BPL

बीपीएल कार्ड उन लोगों को दिया जाता है, जो गरीबी रेखा के नीचे आते हैं।इस कार्ड को बनवाने के लिए व्यक्ति की आय ₹10000 से कम होनी चाहिए।आमतौर पर बीपीएल कार्ड नीला, लाल, गुलाबी रंग का होता है।

#3 गरीबी रेखा के ऊपर -APL

यह कार्ड वैसे परिवारों को दिया जाता है जो गरीबी रेखा से ऊपर होते हैं और इस कार्ड का रंग नारंगी होता है।इस कार्ड के लिए कोई अधिकतम इनकम निर्धारित नहीं की गई है।

5. राशन कार्ड ऑनलाइन अप्लाई करने के लिए डॉक्यूमेंट

राशन कार्ड ऑनलाइन अप्लाई करना बहुत ही आसान है, हालांकि राशन कार्ड चाहे आप ऑफलाइन अप्लाई करें या फिर ऑनलाइन राशन कार्ड बनवाने के लिए आपको कुछ डॉक्यूमेंट देने की आवश्यकता होती है।

वह कौन से डॉक्यूमेंट है, जो राशन कार्ड बनवाने के लिए जरूरी होते हैं, उसकी जानकारी हमने आपको नीचे दी है।

अगर आप राशन कार्ड बनवाना चाहते हैं तो आपके पास नीचे बताए गए डॉक्यूमेंट होने चाहिए।कुछ राज्यों में नीचे के सभी डॉक्यूमेंट मांगे जाते हैं तो कुछ राज्यों में नीचे बताए गए डॉक्यूमेंट में से कुछ ही डॉक्यूमेंट राशन कार्ड बनवाने के लिए मांगे जाते हैं।

  • मतदान कार्ड
  • परिवार के मुखिया का पासपोर्ट साइज फोटो,
  • पत्ता व आवास प्रमाण
  • बिजली, पानी का बिल व टेलीफ़ोन बिल (इनमे से कोई भी एक)
  • आधार कार्ड
  • पैन कार्ड
  • निवास का कोई प्रमाण

हालांकि अब राशन कार्ड अप्लाई करने के लिए सामान्य तौर पर सिर्फ आधार कार्ड और पान कार्ड की डिटेल ही मांगी जाती है।

6. राशन कार्ड बनवाने के लिए एलिजिबिलिटी

ऐसा व्यक्ति जो भारतीय नागरिकता रखता है तथा किसी परिवार का मुखिया है या परिवार के मुखिया के अलावा कोई अन्य व्यक्ति राशन कार्ड के लिए आवेदन कर सकता है।

परंतु राशन कार्ड के लिए आवेदन करने से पहले उसे इस बात का ध्यान अवश्य रखना चाहिए कि उसका अथवा उसके परिवार के किसी भी सदस्य का नाम किसी और राशन कार्ड में जुड़ा हुआ ना हो तथा जिस मुखिया के नाम पर राशन कार्ड अप्लाई होगा, उसका पहचान प्रमाण पत्र देना जरूरी है।

7. राशन कार्ड बनवाने के लिए कितने रुपए लगते हैं

अगर हम राशन कार्ड बनवाने के लिए फीस के बारे में बात करें तो सामान्य तौर पर राशन कार्ड बनवाने के लिए आपको ₹3 से लेकर ₹45 तक देने पड़ सकते हैं। हालांकि की सभी राज्यों में फीस अलग-अलग हो सकती है।

कुछ राज्यों में वर्तमान में राशन कार्ड बनवाने के लिए आपको ₹100 की फीस देनी पड़ती है। इसके अलावा अगर आप साइबर कैफे में जा कर राशन कार्ड अप्लाई करवाना चाहते हैं तो आपको ₹100 सरकारी फीस के अलावा ₹100 साइबर कैफे वाले को देने पड़ते हैं।

8. राशन कार्ड अप्लाई करने के कितने दिन बाद मिल जाता है

सामान्य तौर पर, जब आप राशन कार्ड के लिए ऑफलाइन है या ऑनलाइन अप्लाई कर देते हैं, तो उसके बाद कम से कम 15 और अधिक से अधिक 30 दिन के अंदर आपको राशन कार्ड मिल जाता है।

हालांकि सभी राज्यों में राशन कार्ड प्राप्त होने की सीमा अलग अलग हो सकती है। अगर हम वर्तमान की बात करें तो, वर्तमान में राशन कार्ड एक प्रिंट के तौर पर आपको 15 या 30 दिन के बाद मिल जाता है।

उस प्रिंट में आपके परिवार के सभी सदस्यों के नाम, उनकी उम्र लिखी हुई होती है। जैसे अगर आपके परिवार में 5 सदस्य हैं और आपके राशन कार्ड में पांचों के नाम हैं तो आपको 5 यूनिट राशन दिया जाएगा।

जिसका अर्थ होता है कि 5 यूनिट के बराबर आपको 25 किलो राशन दिया जाएगा। अगर हम इसे उदाहरण के तौर पर समझे तो एक यूनिट अर्थात 5 किलो राशन।

9. राशन कार्ड बनवाने के तरीके

सामान्य तौर पर आप राशन कार्ड दो तरीकों से बनवा सकते हैं, जिसमें पहला तरीका है कि आप अपने जिला, तहसील या फिर ब्लॉक से राशन कार्ड बनवाएं और दूसरा तरीका है कि, आप ऑनलाइन राशन कार्ड के लिए एप्लीकेशन भरें। आइए हम आपको इन दोनों तरीकों के बारे में जानकारी देते हैं।

#1 जिला, तहसील या ब्लॉक से राशन कार्ड कैसे बनवाएं

जिला, तहसील या ब्लॉक से राशन कार्ड बनवाने के लिए आप इन जगह पर जा सकते हैं और वहां पर राशन कार्ड के लिए मिलने वाले फॉर्म को लेकर उसमें मांगी गई सभी जानकारी को सही-सही भर के सभी डॉक्यूमेंट को साथ में अटैच करके वहीं पर जमा कर सकते हैं।

आवेदन फॉर्म जमा करने के बाद अगर आप की सभी जानकारी सही से भरी हुई होगी तो आपको 15 से 20 दिन के अंदर राशन कार्ड मिल जाएगा।

#2 ऑनलाइन राशन कार्ड के लिए एप्लीकेशन कैसे दें

तहसील के अलावा आप अपना राशन कार्ड ऑनलाइन भी बनवा सकते हैं। ऑनलाइन राशन कार्ड बनवाने के लिए भारत के हर राज्य की अपनी अपनी अलग-अलग वेबसाइट है, इसीलिए आप जिस राज्य में रहते हैं आपको उसी राज्य से ऑनलाइन राशन कार्ड के लिए एप्लीकेशन भरना होगा।

ऑनलाइन एप्लीकेशन भरने के लिए आपके पास वैलिड आधार कार्ड, पैन कार्ड होना जरूरी है। इसके अलावा ऑनलाइन कटने वाली सरकारी फीस को देने के लिए आपके पास ₹100 भी होनी चाहिए।

अगर आपके पास वैलिड आईडी प्रूफ, ₹100 है तो आप सीधा साइबर कैफे में जाएं और वहां जाकर कहे कि मुझे अपना राशन कार्ड ऑनलाइन बनवाना है। इसके बाद साइबर कैफे वाला आपसे आपके परिवार के जिस सदस्य का नाम राशन कार्ड में डलवाना है उसका आधार कार्ड मांगेगा और फिर वह सभी डॉक्यूमेंट को लेकर सही सलामत आपका राशन कार्ड ऑनलाइन अप्लाई कर देगा।

ऑनलाइन राशन कार्ड अप्लाई करने के बाद 30 दिन के अंदर आपका राशन कार्ड आपके दिए हुए पते पर पहुंच जाएगा।

अगर आपका राशन कार्ड 30 दिन के अंदर आपको नहीं मिलता तो आप राशन कार्ड की वेबसाइट पर जाकर रेफरेंस नंबर डालकर अपने राशन कार्ड का स्टेटस चेक कर सकते हैं।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, जब आप ऑनलाइन अपना राशन कार्ड अप्लाई करवाएंगे, तब आपको एक रेफरेंस नंबर मिलेगा, उसी से आप अपने राशन कार्ड का स्टेटस चेक कर सकते हैं।

10. राशन कार्ड ऑनलाइन अप्लाई करें या फिर ऑफलाइन

वैसे तो इन दोनों तारीको से आप अपना राशन कार्ड बनवा सकते हैं, पर अगर इन दोनों तरीकों में से सबसे अच्छे तरीके के बारे में बात करें तो, सबसे अच्छा तरीका यही है कि आप ऑनलाइन ही अपना राशन कार्ड बनवाने के लिए आवेदन दें।

क्योंकि अगर आप अपनी तहसील या ब्लॉक में राशन कार्ड बनवाने के लिए आवेदन देंगे तो हो सकता है कि, आपका आवेदन फॉर्म सही जगह तक पहुंच ही ना पाए

क्योंकि आप तो जानते ही हैं कि आजकल कितनी धांधली होती है। इसके अलावा अगर आपके पास कोई डॉक्यूमेंट नहीं है तो आपको बार-बार अपने ब्लॉक अथवा तहसील के धक्के खाने पड़ सकते हैं, इसलिए हमारी नजर में आप अपना राशन कार्ड ऑनलाइन ही बनवाए।

11. राशन कार्ड बनवाने के बाद राशन मिलने की प्रक्रिया

अगर आपने अपना राशन कार्ड बनवाने के लिए आवेदन दे दिया है, तो आप यह अवश्य जानना चाहते होंगे कि आखिर राशन कार्ड बनने के बाद आपको राशन कैसे मिलेगा।

तो हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि जब आपका राशन कार्ड बन जाता है, तो उसके बाद आपको अपना राशन पाने के लिए सबसे पहले कोटेदार के पास जाना होता है और वहां पर बायोमेट्रिक मशीन में अपने अंगूठे को स्कैन करना होता है।

अगर बायोमेट्रिक मशीन आपके अंगूठे या आपके हाथों की किसी भी उंगली को सफलतापूर्वक स्कैन कर लेती है, तो आप के नाम पर राशन अलॉट हो जाता है और फिर जब कोटेदार राशन का वितरण करता है।

तब आप अपनी यूनिट के हिसाब से जाकर राशन ले सकते हैं। जैसे अगर आपके परिवार में 5 सदस्य हैं तो आपको पांच यूनिट राशन मिलेगा यानी कि आपको 25 किलो राशन मिलेगा और अगर आपके परिवार में सिर्फ आप ही हैं तो, आपको एक यूनिट यानी कि 5 किलो राशन मिलेगा।

अगर आप नहीं जानते की यूनिट क्या है, तो हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि प्रति यूनिट आपको 5 किलो राशन मिलेगा। जैसे अगर आपकी दो यूनिट है तो आपको 10 किलो राशन मिलेगा।

आपकी और दोस्तों

तो दोस्तों यह था राशन कार्ड कैसे बनाएं, हमने इस आर्टिकल में अपनी पूरी कोशिश करें कि आपको अच्छे से और पूरी जानकारी दें कि राशन कार्ड बनाने के लिए क्या करना पड़ता है|

अगर आपको हमारी यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो प्लीज इसे अपने दोस्तों के साथ फेसबुक और व्हाट्सएप पर अवश्य शेयर करें ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों को पता चल पाएगी राशन कार्ड कैसे बनवाते हैं धन्यवाद दोस्तों|

Leave a Comment

Your email address will not be published.