यदि मैं प्रधानमंत्री होता पर निबंध – If I was President of India Essay in Hindi



If I was President of India Essay in Hindi – नमस्कार दोस्तों आज का पोस्ट स्टूडेंट्स और विद्यार्थी लोगो के लिए बहुत ज्यादा हेल्पफुल होगी क्यूंकि हमने देखा है की एग्जाम में बच्चो को यदि मैं प्रधानमंत्री होता पर निबंध लिखने को कहा जाता है.

लेकिन बहुत से स्टूडेंट्स को इस टॉपिक पर निबंध लिखने में थोड़ी प्रॉब्लम होती है और उनको समझ में नहीं आया है की इस टॉपिक पर क्या लिखे. खास कर उन बच्चो को जिनको पॉलिटिक्स में ज्यादा इंटरेस्ट नहीं होता है.

लेकिन यदि आपसे कहा गया है की अगर मैं प्रधानमंत्री होता पर हिंदी निबंध लिखको तो आप हमारे इस हिंदी essay का उपयोग कर सकते हो. तो चलिए दोस्तों आज के इस निबंध को पढ़ते है.

पढ़े – इंदिरा गांधी पर हिंदी निबंध

यदि मैं प्रधानमंत्री होता पर निबंध

If I was President of India Essay in Hindi

हमारा देश भारतवर्ष एक गणतंत्र देश है. यहां वयस्क मताधिकार के द्वारा कोई भी योग्य व्यक्ति जो भारत का नागरिक हो इस देश का प्रधानमंत्री बन सकता है. फिर भी भारत जैसे महान लोकतंत्र देश का प्रधानमंत्री बनना वास्तव में गर्व और गौरव की बात है.

प्रधानमंत्री बनने के लिए लंबे और व्यापक जीवन अनुभव का राजनीतिक कार्य और गतिविधियों का प्रत्यक्ष अनुभव रहना बहुत आवश्यक होता है.

यदि मेरे पास यह सब योग्यताएं वह अनुभव नहीं है फिर भी मेरे मन में बार-बार यह बात आती है. यदि मैं भारत का प्रधानमंत्री होता तो? प्रधानमंत्री का दायित्व संभालते ही सबसे पहले मैं राष्ट्र की सुरक्षा की ओर ध्यान देता.

इसीलिए मुझे देश की सैन्य शक्ति को मजबूत करना होगा. सभी भारतीय वासियों में एकता की भावना उत्पन्न करता. यदि मैं देश का प्रधानमंत्री बन जाऊं तो उद्देश्य व शिक्षा के स्थान पर व्यावसायिक व तकनीकी शिक्षा को प्रचलित कराऊंगा.

पढ़े – जवाहरलाल नेहरू पर हिंदी निबंध

देश में बेरोजगारी निर्धनता अज्ञानता और अंधविश्वास जो देश के विकास में बाधक है उनको हल करने का प्रयत्न करूंगा. देश की आर्थिक स्थिति में सुधार लाने के लिए भारतीय कृषि मैं सुधार की अत्यंत आवश्यकता है, इसके बिना ना तो समस्या का सामना संभव है और ना ही उद्योग तथा व्यापार की प्रगति ही संभव है.

इसलिए मैं देश की कृषि को वैज्ञानिक पद्धति से बढ़ावा दूंगा. यदि मैं प्रधानमंत्री होता तो सभी तरीके के निर्माण विकास योजनाएं इस तरह से लागू करवाता कि वे राष्ट्र संसाधनों से ही पूरी हो सके.

राष्ट्रीय-हितों, एकता और समानता की रक्षा, व्यक्ति के मान सम्मान की रक्षा नारी जाति के साथ हो रहे अन्याय का दमन में हर संभव उपाय से करता और करवाता.

यदि मैं देश का प्रधानमंत्री होता तो देश की उत्थान के साथ साथ समाज कल्याण की ओर विशेष ध्यान देता. दलित वर्ग, पीड़ित, अपाहिज व असहाय बंधुओं को यथासंभव सहायता प्रदान करता.

देश की प्रगति में बाधक मूल्य वृद्धि, मुनाफाखोरी, चोर बाजारी, भ्रष्टाचार जैसे मुख्य समस्याओं को जड़ से समाप्त करने का प्रयत्न करता. श्रीमती इंदिरा गांधी की तरह पाकिस्तान के आतंकवादी रवैया के विरुद्ध कठोरता से पेश आता तथा देश की आर्थिक समृद्धि के लिए निर्वतमान प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेई की तरह निस्वार्थ और निष्कलंक रूप के कार्यकर्ता.

यदि मैं देश का प्रधानमंत्री होता तो सबसे पहले मैं गांव के छोटे-छोटे शहरों स्कूल और अस्पताल बनाने की कोशिश करता क्योंकि छोटे-छोटे गांव में बच्चों की शिक्षा के लिए अच्छे स्कूल नहीं है और वहां पर अच्छे अस्पताल भी नहीं हैं.

जिसकी वजह से हमारे कल के भविष्य होने वाले बच्चों को सही से एजुकेशन नहीं मिल पाती है और अस्पताल ना होने के कारण न जाने कितने लोग सही इलाज ना होने के कारण अपनी जान गवा देते हैं.

पढ़े – महात्मा गांधी पर हिंदी निबंध

इसलिए मैं अपना पूरा प्रयत्न करूंगा कि पूरे भारत देश के छोटे-छोटे गांव में बच्चों की पढ़ाई लिखाई अच्छे से होने के लिए स्कूल और मरीजों की सही से इलाज होने के लिए अस्पताल बनाने की पूरी कोशिश करूंगा.

आपकी और दोस्तों

तो दोस्तों ये था यदि मैं प्रधानमंत्री होता पर निबंध ( If I was President of India Essay in Hindi ) और हम उम्मीद करते है की अब आपको इस टॉपिक पर निबंध लिखने में कोई भी प्रॉब्लम नहीं होगी. अगर आपको ये हिंदी essay पसंद आया हो तो इसको अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे.

आप इस पोस्ट को फेसबुक, व्हात्सप्प और गूगल प्लस पर जरुर शेयर करे ताकि ज्यादा से ज्यादा बच्चो की हेल्प हो पाए. धन्येवाद दोस्तों