विज्ञान वरदान या अभिशाप निबंध Essay in Hindi

विज्ञान वरदान या अभिशाप पर निबंध – हेलो दोस्तों कैसे हो आप लोग आज हम आपके सामने विज्ञान वरदान है या अभिशाप पर निबंध शेयर करने जा रहे हैं. क्योंकि हम लोगों से बहुत विद्यार्थियों ने कहा कि इस टॉपिक पर हमको एग्जाम में बहुत बार पूछा गया है और उनको लिखने में बहुत ज्यादा प्रॉब्लम होती है.

आप लोगों की मदद करने के लिए आज हम आपके साथ इस टॉपिक पर हिंदी निबंध शेयर करने वाले हैं जिसको आप इम्तिहान में लिख सकते हो. चलिए दोस्तों ज्यादा समय बर्बाद ना करते हुए हम आज के इस हिंदी निबंध को देखते हैं.

पढ़े – यदि मै डॉक्टर होता पर निबंध

विज्ञान वरदान या अभिशाप निबंध Essay in Hindi

Vigyan Vardan Ya Abhishap Essay in Hindi

 

आधुनिक युग विज्ञान का युग है. विज्ञान का मुख्य पहलू लक्ष्य उद्देश्य और मानव जीवन के लिए तरह-तरह के साधन जुटा कर उसे सुख सुविधाओं और संपन्नता के वरदानों से भर देना है.

परंतु यह मानव के स्वभाव और व्यवहार पर निर्भर करता है की वह इतने सारे मानवता के लिए वरदान बना दे या अभिशाप. आज जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में विज्ञान के अनेक आविष्कारों ने मानव जीवन को पहले से अधिक सुखी बना दिया है.

आज विज्ञान ने मनुष्य के जीवन को सुखी तथा समृद्ध बनाने के लिए सुई से लेकर हवाई जहाज रेलगाड़ी जलयान गाड़ी और अनेक सामान मुहैया कर सुख सुविधा से भर दिया है. यदि मानव जीवन के लिए वरदान ही है.

तार, टेलीफोन और बेतार के तार द्वारा संवाद भेजने में बड़ी सुविधा हो गई है. यातायात के साधनों के विकास से पंजाब की दूरी बहुत छोटी हो गई है. इसके द्वारा मानव चंद्रमा पर भी पहुंच गया है.

पढ़े – यदि मैं प्रधानमंत्री होता पर निबंध

चिकित्सा के क्षेत्र में भी विज्ञान ने अनेक चमत्कार किए हैं. जिन लोगों का पहले इलाज संभव नहीं था, इंजेक्शन तथा शल्य चिकित्सा द्वारा उनका निदान संभव हो गया है.

प्लास्टिक सर्जरी द्वारा हम अपने शरीर के किसी भी हिस्से का रूप बदल सकते हैं. एक्स-रे तथा अल्ट्रासाउंड द्वारा सुषमा से सुषमा अंगों के चित्र खींचे जा रहे हैं. यहां तक की आंखों का ऑपरेशन हुआ इसका दूसरे के शरीर में प्रत्यारोपण भी संभव हो गया है.

मुद्रण यंत्र जीव विज्ञान की ही देन है जिससे पुस्तकों वह समाचार पत्रों की अनेक प्रतियाँ थोड़े ही समय में मुद्रित की जाने लगी है. रेडियो टेलीविजन तथा वीसीआर आदि मनोरंजन के प्रमुख साधन है जो विज्ञान की ही देन है.

विज्ञान का आधुनिक युग का सबसे महत्वपूर्ण आविष्कार है विद्युत जिससे हमें प्रकाश शक्ति वह तापमान प्राप्त होता है यह मनुष्य के लिए एक प्रकार का वरदान ही है.

दूसरी और आधुनिक विज्ञान ने मानव जीवन और समाज को अभिशप्त भी कम नहीं किया है. विज्ञान ने हमें एक शक्ति भी दी है परमाणु शक्ति जिसका यदि हम दूर उपयोग करें तो पूरा संसार कुछ ही समय में नष्ट हो सकता है.

जीवन के प्रांगण को प्रकाशित करने वाली बिजली क्षण भर में आदमी के प्राणों का शोषण कर उसे निर्जीव बना कर छोड़ देती है. अनेक ऐसे यंत्रों का निर्माण किया जा चुका है जिसका दुरुपयोग पर एक बददिमाग आदमी घर के भीतर बैठकर केवल बटन दबाकर ही प्रलय की वर्षा कर सकता है.

यह सब विज्ञान के अभिशाप ही है. आज विज्ञान ने हमें जो कुछ भी दिया है वह हमारे लिए वरदान प्रथा अभिशाप दोनों है यह केवल हमारे उपयोग पर निर्भर होता है.

पढ़े – Janmashtami Essay in Hindi

आपकी और दोस्तों

दोस्तों यह था विज्ञान वरदान या अभिशाप है पर निबंध हम उम्मीद करते हैं कि आज का युवा हिंदी निबंध पढ़ने के बाद आप लोगों को इस टॉपिक पर परीक्षा में लिखने में कोई भी प्रॉब्लम नहीं होगी.

यदि आप लोगों को यह निबंध पसंद आया हो तो कृपया करके इसे अपने दोस्तों के साथ Facebook WhatsApp Twitter और Google plus पर जरूर शेयर करें और ऐसे ही अन्य निबंध हिंदी में प्राप्त करने के लिए आप नियमित रूप से हमारे ब्लॉग पर आया करें धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *