तिल्ली रोग का इलाज के घरेलू उपाय लक्षण



तिल्ली रोग का इलाज के घरेलू उपाय लक्षण – तिल्ली (Spleen) एक अंग है जो सभी रीढ़धारी प्राणियों में पाया जाता है। मानव में तिल्ली पेट में स्थित रहता है। यह पुरानी लाल रक्त कोशिकाओं को नष्ट करने का कार्य करता है तथा रक्त का संचित भंडार भी है। यह रोग निरोधक तंत्र का एक भाग है source – wikipedia

तिल्ली रोग के लक्षण

१. तिल्ली रोग के सबसे बड़े लक्षण ये है की हाथ पांव में सूजन आ जाता है और पेट की तरफ से जाना जाता है

तिल्ली रोग का घरेलू इलाज उपाय

१. घिगवार का पत्ता चीरकर उस पर १० ग्राम नौशादर पीसकर लगाये और धुप में लेट जाये. निचे बर्तन रख दे. उसमे से जो रस निकलेगा उसे शीशी में भर ले. आधा आधा चम्मच दिन में २ बार २ चम्मच पानी में मिलाकर २० दिन तक ले

२. बथुए का साग बनाकर जिसमे मिर्च मसाला ना पड़ा हो, एक हफ्ता इस्तमाल करने से तिल्ली रोग का इलाज करने में बहुत लाभ होता है

३. खली पेट मुली पत्ता सहित तथा काला नमक खाना तिल्ली रोग के लिए बहुत ज्यादा लाभदायक साबित होता है

कुछ जरुर लेख

१. बवासीर कैसे ठीक करे

२. पेट गैस कैसे ठीक करे 

३. अफारा कैसे ठीक करे 

४. मिर्गी ठीक करने के उपाय

आपकी और दोस्तों

दोस्तों ये था तिल्ली रोग का घरेलू इलाज उपाय और लक्षण हम उम्मीद करते हैं कि आजकल मलाई एयरपोर्ट पर कि आपको पता चल गया होगा की तिल्ली रोग के घरेलू उपचार क्या है.

अगर आपको हमारा यह पोस्ट अच्छा लगा हो तो कृपया करके इसे अपने दोस्तों के साथ और दूसरे घर परिवार वालों के साथ जरूर सेंड करें जिनको यह पता नहीं है कि तिल्ली का रोग का इलाज क्या होता है धन्यवाद दोस्तों