TC या TT कैसे बने | टिकेट कलेक्टर बनने के लिए क्या करे

TC या TT कैसे बने: हमारे भारत देश की आबादी 130 करोड़ की है और यह जाहिर सी बात है कि 130 करोड़ की आबादी में हर व्यक्ति के पास अपना पर्सनल वाहन नहीं होगा|

इसीलिए भारत सरकार ने बहुत साल पहले ही भारत में रेलवे लाइनों का विस्तार करना चालू कर दिया था, हालांकि भारत में पहली रेलवे मुंबई से ठाणे के बीच अंग्रेजों के समय चालू हुई थी, परंतु जब हमारा भारत देश अंग्रेजों की गुलामी से आजाद हुआ, तो भारत सरकार ने रेलवे पटरियों के विस्तार पर विशेष ध्यान दिया।

अगर हम वर्तमान की बात करें तो आज के समय में हमारी भारतीय रेलवे दुनिया का सबसे बड़ा रेलवे नेटवर्क है और भारतीय रेलवे भारत में सबसे ज्यादा नौकरी देने वाला विभाग भी है।

हर साल भारतीय रेलवे में अलग-अलग पदों के लिए रेलवे रिक्रूटमेंट बोर्ड द्वारा भर्ती निकाली जाती है, जिसमें हर साल लाखों लोग आवेदन करते हैं और सिलेक्ट भी होते हैं।वैसे तो रेलवे में अनेक प्रकार के पद होते हैं, परंतु ज्यादातर लोगों को रेलवे में टीसी अथवा टीटी का पद पसंद आता है।बहुत से लोगों की इस पद में रुचि देखने को मिलती है।

अनुक्रम दिखाएँ

Ticket Collector या TT कैसे बने

TT बनने के लिए क्या करें

tt kaise bane

अगर आप भी रेलवे में टीटी या फिर टीसी बनना चाहते हैं, तो आज के हमारे इस आर्टिकल को पूरा अवश्य पढ़ें, क्योंकि आज के इस आर्टिकल में हम आपको रेलवे में टीटी या टीसी कैसे बनते हैं, इसके बारे में पूरी जानकारी देने वाले हैं।

आज के इस आर्टिकल में आप जानेंगें कि टीटी या टीसी का फुल फॉर्म क्या होता है, टीटी कौन-कौन से काम करता है, रेलवे में टीटी बनने के लिए कौन सी पढ़ाई करनी पड़ती है, रेलवे टीसी की सैलरी कितनी होती है तथा अन्य जानकारियां, तो चलिए चलते हैं मुख्य मुद्दे पर।

1. टीटीई,टीटीआई और टीसी पदो की जानकारी

ज्यादातर लोगों को इनके नामों को लेकर भ्रम रहता है।इसीलिए इस समस्या को समझने के लिए इनके नामों का मतलब समझना जरूरी है।रेलवे में इसके लिए टोटल 3 पद होते हैं, जिन पर नौकरी मिलती है।

  • टीटीई अर्थात ट्रेवलिंग टिकट एग्जामिनर के रूप में
  • टीटीआई अर्थात ट्रेवलिंग टिकट इंस्पेक्टर के रूप में
  • टीसी अर्थात टिकट कलेक्टर के रूप में

यह तीनों पद अलग-अलग काम करने के लिए होते हैं, परंतु ज्यादातर यह सभी काम एक ही व्यक्ति के द्वारा किया जाता है।

2. टीटीई, टीटीआई, टीसी का फुल फॉर्म

  • TTE का मतलब Travelling Ticket Examiner
  • TTI का मतलब Traveling Ticket Inspector
  • TC का मतलब Ticket Collector

3. टीटी या टीसी बनने के लिए योग्यता

इसकी योग्यता में थोड़ी भिन्नता हो सकती है परंतु सामान्य तौर पर सभी चीजें समान होती है।

रेलवे में टीटी बनने के लिए सामान्य वर्ग के अभ्यर्थियों की उम्र 18 साल से लेकर 30 साल के बीच होनी चाहिए। इसके अलावा जो लोग आरक्षण की श्रेणी में आते हैं, जैसे अनुसूचित जाति अनुसूचित जनजाति तथा ओबीसी समुदाय के लोग, उन्हें सरकार द्वारा उम्र में छूट दी जाती है।

इसके अलावा जो लोग रेलवे में टीटी का पद प्राप्त करना चाहते हैं, उन्हें भारतीय नागरिक होना जरूरी है, साथ ही अगर वह नेपाल अथवा भूटान के नागरिक हैं, तब भी वह रेलवे में टीटी के पद के लिए एप्लीकेशन दे सकते हैं।

रेलवे में टीटी बनने के लिए अभ्यर्थी को 12वी कक्षा को पास करना जरूरी है तथा उसके 12वी कक्षा में कम से कम 50% अंक भी होने चाहिए। इसके अलावा जिन लोगों के पास डिग्री और डिप्लोमा है, वह भी इस नौकरी के लिए एप्लीकेशन भर सकते है।

4. टीटी या टीसी बनने के लिए रिटेन एग्जाम

टीटी बनने के लिए अभ्यर्थी जो पेपर देता है उसे 6 भागों में विभाजित किया जाता है और इस पेपर को देने के लिए अभ्यर्थी को 90 मिनट का समय दिया जाता है, साथ ही इस पेपर में माइनस मार्किंग भी की जाती है। मतलब कि अगर आपने किसी सवाल का जवाब दिया तो आप के 1/3 अंक कट जाएंगे।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि टीटी बनने की जो परीक्षा होती है, वह कंप्यूटर के माध्यम से ऑनलाइन करवाई जाती है और यह परीक्षा सभी रेलवे बोर्ड में एक साथ आयोजित होती है।

इस परीक्षा में टोटल 120 सवाल पूछे जाते हैं और यह सवाल सामान्य ज्ञान, सामान्य विज्ञान, तर्क क्षमता, गणित विषय से संबंधित होते हैं।इसलिए अगर आप इस परीक्षा को पास करना चाहते हैं, तो आपको ऊपर बताए गए विषयों का अच्छे से अध्ययन करना होगा, तभी आप इस परीक्षा को पास कर पाएंगे और अपना टीटी या टीसी बनने का सपना पूरा कर पाएंगे।

#1. आरआरबी टीसी सामान्य जागरूकता पाठ्यक्रम

भारतीय संस्कृति, वैज्ञानिक अवलोकन,भारत का इतिहास,भारत में आर्थिक मुद्दे,भारत की भूगोल,राजनीति विज्ञान,भारत में प्रसिद्ध स्थान,नए आविष्कार,राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय वर्तमान मामलों,भारत और उसके पड़ोसी देशों के बारे में,विश्व संगठन,विज्ञान और नवाचार,देश और राजधानियां

#2. आरआरबी टीसी अंकगणितीय पाठ्यक्रम

प्रतिशत,साधारण ब्याज,लाभ हानि,छूट,औसत,कार्य, समय,साझेदारी,संख्याओं के बीच संबंध,समय और दूरी,माहवारी,दशमलव और फ्रैक्शंस,पूरे नंबर की गणना,मौलिक अंकगणितीय परिचालन,अनुपात और अनुपात,टेबल्स और ग्राफ

#3. आरआरबी जनरल साइंस पाठयक्रम

भौतिक विज्ञान,रसायन विज्ञान,जीवविज्ञान

#4. आरआरबी टीसी तर्क क्षमता पाठ्यक्रम

वर्णमाला श्रृंखला,संख्या श्रृंखला,संख्या रैंकिंग,गैर मौखिक श्रृंखला,मिरर छवियां,क्यूब्स और पासा,कोडिंग-डिकोडिंग,अंकगणितीय तर्क,घड़ियों और कैलेंडर,निर्णय लेना,रक्त संबंध,एम्बेडेड आंकड़े

#5. आरआरबी तकनीकी विषय पाठ्यक्रम

एसी बुनियादी बातों,विद्युत मशीनें,मूल इलेक्ट्रॉनिक्स,बेसिक इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग अवधारणाओं,विद्युत ऊर्जा का उपयोग,अनुमान और लागत,चुंबकीय सर्किट,एनालॉग और डिजिटल इलेक्ट्रॉनिक्स,मापन के साथ ही मापने के उपकरण

5. टीटी या टीसी बनने के लिए फिजिकल फिटनेस

जब आप टीटी बनने के लिए लिखित परीक्षा को पास कर लेते हैं, तो उसके बाद आपको फिजिकल फिटनेस के लिए बुलाया जाता है। इस प्रक्रिया में आपका शारीरिक परीक्षण किया जाता है|

अगर आप इस प्रक्रिया में सफल हो जाते हैं, तो फिर आपको ट्रेनिंग के लिए रेलवे जोनल ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट में भेजा जाता है और वहां पर जब आपकी ट्रेनिंग पूरी हो जाती है, तो उसके बाद आपको टीटी के पद पर नियुक्त कर दिया जाता है और इस तरह से आप एक सरकारी टीटी या फिर टीसी का पद प्राप्त कर लेते हैं।

6. टीटी या टीसी का ड्रेस कोड

जब आप ट्रेन में यात्रा करते हैं, तो आपने देखा होगा कि एक काले कोट पहने हुए व्यक्ति सभी यात्रियों का टिकट चेक करता है। इससे आप जान सकते हैं कि टीटी अधिकारी काले रंग का कोट पहनते हैं और इनके गले में एक आई कार्ड भी होता है।

7.  टीटी या टीसी की सैलरी

यह सवाल इंटरनेट पर बहुत सर्च किया जाता है। लोग यह जानने में काफी रुचि रखते हैं कि आखिर एक टीटी या फिर टीसी की महीने की सैलरी कितनी होती है।

अगर हम टीटी की महीने की सैलरी के बारे में बात करें तो एक टीटी की महीने की सैलरी 35000 के आसपास होती है, हालांकि पहले टीटी को महीने की ₹27000 की सैलरी मिलती थी परंतु सातवें वेतन आयोग के लागू होने के बाद इनकी तनख्वाह में वृद्धि हो गई।

इसके अलावा जैसे-जैसे इनका प्रमोशन होता जाता है, वैसे वैसे ही इनकी तनख्वाह में भी वृद्धि होती जाती है।इसके साथ ही टीटी को पीएफ और ग्रेजुएटी का लाभ भी मिलता है।

टीटी होने का सबसे बड़ा फायदा यह है, कि आपको फ्री में एक राज्य से दूसरे राज्य में यात्रा करने का मौका मिलता है।इसके अलावा टीटी अधिकारी और उसके परिवार के सदस्यों को रेलवे के द्वारा निशुल्क यात्रा भी दी जाती है, साथ ही टीटी अधिकारी और उसके परिवार के लोगों को मेडिकल से संबंधित सुविधाएं निशुल्क मिलती है।

8. टीटी या टीसी का काम

जैसा कि इसके नाम से ही मालूम पड़ता है कि यह ट्रेन में यात्रा करने वाले यात्रियों का टिकट चेक करता है और अगर कोई यात्री बिना टिकट के ट्रेन की यात्रा कर रहा है, तो यह उन्हें तुरंत टिकट बनवाने के लिए कहता है|

अगर यात्री तुरंत टिकट बनवाने में असमर्थ है, तो टीटी का यह फर्ज बनता है कि वह रेलवे प्रोटक्शन फोर्स को बुलाकर उस यात्री को ट्रेन से किसी भी स्टेशन पर उतार दें, क्योंकि ट्रेन में बिना टिकट यात्रा करना अवैध है, इसके साथ ही यह देश के साथ धोखा भी है।

इसके अलावा अगर ट्रेन में किसी यात्री को किसी भी प्रकार की समस्या है, तो उस समस्या का समाधान टीटी करने का प्रयास करता है।

इसके अलावा अगर ट्रेन में किसी यात्री का कोई सामान खो जाता है, तो टीटी रेलवे पुलिस प्रोटेक्शन फोर्स की मदद लेकर उस सामान को ढूंढने का प्रयास करता है|

साथ ही अगर ट्रेन में कोई किसी महिला से छेड़खानी या बदतमीजी करने का प्रयास कर रहा है तो इसका समाधान भी टीटी अधिकारी करने का प्रयास करता है।

9. टीटी या टीसी बनने के फायदे

आप तो यह जानते ही होंगे कि टीटी की नौकरी एक सरकारी नौकरी होती है, इसीलिए इसमें प्राइवेट नौकरियों की तरह नौकरी खो जाने का कोई डर नहीं होता है बल्कि आपके पास से टीटी की नौकरी तभी जाएगी, जब आप रिटायर होंगे। इसके अलावा टीटी की नौकरी करने के कारण आपको भारत के कई राज्यों मे घूमने का मौका मिलता है, साथ ही नई नई जगह को देखने का मौका भी मिलता है।

10. टीटी परीक्षा की तैयारी कैसे करें

टीटी की परीक्षा को पास करने के लिए आपको इसकी तैयारी पर विशेष तौर पर ध्यान देना होगा। आप टीटी की परीक्षा की तैयारी किस प्रकार कर सकते हैं, इसकी जानकारी हमने नीचे दी है।

टीटी की परीक्षा को पास करने के लिए आपको करंट अफेयर को विशेष तौर पर पढ़ना होगा, क्योंकि इसमें अधिकतर सवाल करंट अफेयर से जुड़े हुए ही आते हैं।

करंट अफेयर के बारे में जानकारी लेने के लिए आप रोजाना अखबारों और इंटरनेट का सहारा ले सकते हैं तथा यूट्यूब और फेसबुक पर न्यूज़ चैनल भी देख सकते हैं।

इसके अलावा जो अभ्यर्थी टीटी की तैयारी कर रहा है, उसकी जनरल अवेयरनेस भी अच्छी होनी चाहिए।

अभ्यर्थी के पास अंग्रेजी, बेसिक गणित और जनरल नॉलेज का अच्छा ज्ञान होना चाहिए।

इसके अलावा आप टीटी की तैयारी करने के लिए अपने घर के आस-पास स्थित किसी अच्छे कोचिंग इंस्टिट्यूट का सहारा भी ले सकते हैं या फिर आप घर बैठे ही यूट्यूब के द्वारा भी टीटी की परीक्षा की तैयारी कर सकते हैं|

क्योंकि यूट्यूब पर ऐसे कई चैनल है, जो काफी पढ़े लिखे लोगों द्वारा चलाए जाते हैं और उन चैनलों पर आपको ना सिर्फ टीटी बल्कि अन्य परीक्षा की तैयारी कैसे करें, इसके बारे में भी जानकारी बताई जाती है तथा परीक्षा से संबंधित सभी अपडेट दिए जाते हैं।

11. टिकट कलेक्टर बनने के लिए आवेदन कैसे करें

भारत की रेलवे रिक्रूटमेंट बोर्ड द्वारा हर साल रेलवे में विभिन्न पदों के लिए वैकेंसी निकाली जाती है, इसमें टीटी की भी वैकेंसी होती है, तो अगर आप टीटी के पद के लिए आवेदन करना चाहते हैं|

इसके लिए सबसे पहले इसकी भर्ती निकलने का इंतजार करें और जब इसकी भर्ती निकले तो इसका फॉर्म भरें। उस फॉर्म में अपनी सभी जानकारियां सही-सही भरें और उसके बाद ऑनलाइन फीस कटवा कर अपने फोरम को जमा कर दें।

जब आपका फॉर्म जमा हो जाएगा तो उसके बाद रेलवे रिक्रूटमेंट बोर्ड टीसी की परीक्षा का आयोजन करेगा और आपको उस परीक्षा में शामिल होना है तथा उस परीक्षा को पास करना है।

परीक्षा को पास करने के बाद आपका फिजिकल फिटनेस टेस्ट होगा और अगर आपने फिजिकल फिटनेस टेस्ट पास कर लिया तो फिर आपको ट्रेनिंग के लिए भेजा जाएगा और ट्रेनिंग पूरी करने के बाद आपको भारत में चलने वाली किसी भी ट्रेन में टीटी का पद दिया जाएगा। आपकी जानकारी के लिए बता दे कि जब आप ट्रेनिंग करेंगे तो आपको उसकी तनख्वाह भी मिलेगी।

आपकी और दोस्तों

तो दोस्तों यह था टिकट कलेक्टर या टीटी कैसे बने, हम उम्मीद करते हैं कि इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आप सभी को पता चल गया होगा कि टीटी बनने के लिए क्या करना पड़ता है.

यदि आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आई हो तो प्लीज इस पोस्ट को एक लाइक जरुर करें और अपने दोस्तों और घर परिवार वालों के साथ फेसबुक और व्हाट्सएप पर भी शेयर करना ना भूले ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों को पता चल पाएगी टिकट कलेक्टर कैसे बनते हैं धन्यवाद दोस्तों.

Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published.