पढाई के लिए बेस्ट टाइम टेबल कैसे बनाये – Study टाइम टेबल बनाये

पढाई के लिए बेस्ट टाइम टेबल कैसे बनाये – हेलो दोस्तों क्या आप जानना चाहते हैं कि स्टडी के लिए टाइम टेबल कैसे बनाएं या पढ़ाई के लिए टाइम टेबल कैसे बनाएं आज आप बिल्कुल सही लेट करें कि हम आपको इस पोस्टमैन यह बताएंगे कि पढ़ाई और स्टडी करने के लिए समय सारणी कैसे बनाएं

दोस्तों यह बात तो बिल्कुल सही है कि अगर आप अपने जीवन में कोई भी चीज टाइम टेबल के हिसाब से करेंगे या समय के हिसाब से करेंगे तो आप उसको करने में कामयाब हो जाएंगे फिर चाहे वो पढ़ाई लिखाई हो या फिर खेल कूद हो या फिर कसरत हो या फिर जीवन के कोई भी चीज आप देख लीजिए उसमें अगर आप समय सारणी करेंगे तो आपको सफलता मिलेगी

हमसे बहुत से बच्चे और कॉलेज जाने वाले या स्कूल जाने वाले बच्चे पूछते हैं कि पढ़ाई के लिए या स्टडी के लिए टाइम टेबल कैसे बनाएं जिससे कि वह अपने हर एक सब्जेक्ट को कवर कर पाए और एग्जाम की तैयारी अच्छी तरीके से कर ले

दोस्तों जब हम पढ़ा लिखा करते थे तो उस समय में हमें भी टाइम टेबल याद समय सारणी उसे पढ़ाई करने की आदत है जिसकी वजह से हम काफी अच्छे नंबर एग्जाम में प्राप्त कर पाते थे और हम हर विषय में अव्वल रहते थे

तो दोस्तों चलिए ज्यादा समय बर्बाद ना करते हुए हम सीधे देखते हैं कि पढ़ाई स्टडी के लिए टाइम टेबल कैसे बनाएं या पढ़ाई स्टडी के लिए समय सारणी कैसे बनाएं

पढाई के लिए बेस्ट टाइम टेबल कैसे बनाये

Padhai Ke Liye Best Time Table Kaise Banaye

दोस्तों सबसे पहले हम आप को यह बताना चाहते हैं कि टाइम टेबल है या समय सारणी आपके पढ़ाई या स्टडी करने के लिए बहुत ज्यादा उपयोगी है क्योंकि इससे आप हर एक विषय में अच्छे नंबर प्राप्त कर पाएंगे

हमें देखा है कि जो बच्चे बिना टाइम टेबल के पढ़ाई करते हैं या स्टडी करते हैं वह अक्सर एक विषय में तो तेज हो जाते हैं पर दूसरे विषय में कमजोर हो जाते हैं पर लेकिन आपने टाइम टेबल समय सारणी का इस्तेमाल किया तो आप हर एक विषय में हर एक सब्जेक्ट में अच्छे होंगे और आपको अच्छे नंबर भी प्राप्त होंगे इंतिहान में

आपको तो पता है ना जब आप स्कूल या कॉलेज जाते हो तो आपके पूरे दिन में टाइम टेबल के हिसाब से लेक्चर होते हैं यह क्यों होते हैं क्योंकि अगर आपको 1 दिन में एक ही विषय पढ़ाया जाए तो आप बाकी विषय कब पड़ेंगे

तो दोस्तों यही तरीका आपको अपने पढ़ाई करने के लिए और अपनी स्टडी करने के लिए भी इस्तेमाल करना होगा और आप को नियमित रुप से अपने टाइम टेबल को फॉलो करना है रोजाना

टाइम टेबल बनाने के लिए सबसे पहले आपको कितने विषय हैं आपके और कितने सब्जेक्ट हैं आपके इसको नोट करना है

मान लीजिए आपके पास 10 विषय हैं तो आपको हर दिन दो विषय को पढ़ना होगा इससे यह होगा कि आप हफ्ते में अपने सारे विषय को अपने सारे सब्जेक्ट को अच्छी तरीके से याद कर पाओगे जिससे कि आपको इम्तिहान जब करीब आएगा आपके तो आपको कोई दिक्कत नहीं होगी क्योंकि आपने शुरू से ही हर एक सब्जेक्ट को अच्छी तरीके से पढ़ाई कीजिए

इसका दूसरा फायदा यह है कि हमने देखा है बहुत से बच्चे एक सब्जेक्ट पढ़ कर बोर हो जाते हैं मान लीजिए अगर आपने 1 घंटे तक साइंस पड़ा तो उसके बाद आप 1 घंटे के लिए दूसरा सब्जेक्ट चुने जैसे कि फिजिक्स केमेस्ट्री गणित इससे आपका इंटरेस्ट बना रहेगा और आप बोर नहीं होंगे

आपको यह करना है कि आप के जितने भी विषय हैं आप के जितने भी सब्जेक्ट है उसको सही तरीके से पूरे हफ्ते भर के टाइम टेबल में शेड्यूल करना है

वह तो टाइम टेबल बनाते समय आप को यह बिल्कुल भी नहीं करना है कि किसी भी विषय को छोड़ देना है या किसी भी विषय के बारे में ऐसा सोचना है कि जब परीक्षा आएगी हमें तब पढ़ाई करूंगा या करूंगी तो यह बिल्कुल गलत तरीका है पढ़ाई करने का

स्टडी के लिए समय सारणी बनाये

क्योंकि अक्सर हमने देखा है कि बच्चे टाइम टेबल होने के बावजूद भी टाइम टेबल या समय सारणी को सही से फॉलो नहीं करते हैं जिसकी वजह से उनको एग्जाम के टाइम पर गया परीक्षा के टाइम पर बहुत ज्यादा दिक्कत होती है

वह सोचते हैं कि अभी हम अपने मनपसंद विषय मनपसंद सब्जेक्ट को पढ़ लेते हैं और जब एग्जाम आएगा तब हम कठिन सब्जेक्ट को पढ़ेंगे दोस्तों इससे आपको एग्जाम में बेहतर नंबर नहीं आ पाएंगे मान लीजिए आप

आपके अच्छे नंबर तो क्या आप बहुत बुरी परिस्थिति में फंस जाएंगे और हम आपको यही कहेंगे कि जो आपके कठिन सब्जेक्ट है उनको पहले आप अच्छे से पढ़े अच्छे से याद करें क्योंकि जो सब्जेक्ट को आसान रखते हैं उनको तो आप याद कर सकते हो पर जो कठिन सब्जेक्ट है उसको याद करने में थोड़ा आपको समय लगेगा

तो आप अपने टाइम टेबल बनाने के लिए कभी भी अपने कमजोर विषय या अपने कमजोर सब्जेक्ट इग्नोर बिल्कुल भी ना करें और हम तो आपसे यह कहेंगे चाहे आप किसी सब्जेक्ट में कमजोर हो या बहुत तेज हो आपको अपने टाइम टेबल में हर एक विषय को हर एक सब्जेक्ट को पूरे हफ्ते में बांटना है

इसे आप एक अच्छा टाइम टेबल बनाने में या समय सारणी बनाने में कामयाब हो जाओगे और आपको इम्तिहान देने के समय या इम्तिहान जैसे आपका करीब आएगा आपको कोई भी दिक्कत नहीं होगी क्योंकि आप की तैयारी इतनी तगड़ी होगी

हमने बहुत से बच्चों को देखा है जो टाइम टेबल बनाते हैं इस तरीके से की एक हफ्ते एक ही विषय पर स्टडी करते हैं या पढ़ाई करते हैं और दूसरे हफ्ते मैसेज दूसरे विषय पर जाते हैं पर दोस्तों हम आपसे कहेंगे यह तरीका सही तरीका नहीं है

क्योंकि जब आप तीसरे हफ्ते फिर से पहले वाले सब्जेक्ट को याद करोगे तो आपको यह महसूस होगा कि आपने जो कुछ भी पढ़ा था उसको आप भूल चुके हो

बापूजी बिल्कुल भी नहीं करना है कि एक हफ्ते तक एक ही विषय को पढ़ना है आपको हर दूसरे तीसरे दिन अलग-अलग सब्जेक्ट और इसीलिए एक बेहतरीन टाइम टेबल बनाने के टिप्स हम आपको दे रहे हैं

आपको अपने हर एक विषय को अपने टाइम टेबल में डालना है जिससे कि आपका हर एक सब्जेक्ट मैं अच्छा कमांड बैठ पाए और आप हरित विषय में बिल्कुल स्ट्रांग हो जाओ

टाइम टेबल बनाने के लिए आपको ज्यादा कोई परेशानी भी नहीं करनी होगी आपको केवल एक पेपर पर अपने सारे विषय को पूरे हफ्ते भर के लिए बांटना होगा और हर दिन में दो या तीन विषय पर आपको पढ़ाई करनी है

और इस पेपर को आप अपने दीवार पर चिपका सकते हैं जिससे कि जब आप पढ़ाई करने के लिए बैठे हैं स्टडी करने के लिए बैठे तो आप अपने टाइम टेबल के हिसाब से अपने समय सा आदमी के हिसाब से आपको पता चल पाए कि आज हमें कौन से सब्जेक्ट पढ़ना है

आपकी और दोस्ती

तो दोस्तों यह था कि स्टडी पढ़ाई के लिए टाइम टेबल कैसे बनाएं या स्टडी टाइम टेबल के लिए समय सारणी कैसे बनाएं और हम दिल से यही दुआ करेंगे कि आप अपने इम्तिहानों में अपने परीक्षा में अच्छे नंबरों से पास हो जाएं

दोस्तों अगर आपको हमारा यह लेख अच्छा लगा हो तो कृपया करके अपने दोस्तों के साथ अपने भाई बहनों के साथ जरुर शेयर करें ताकि उन्हें भी टाइम टेबल बनाने के बारे में Idea मिल पाए और वह भी अपने इम्तिहान में सही तरीके से तैयारी कर पाए

शेयर करने के लिए आप WhatsApp फेसबुक ट्विटर और गूगल प्लस पर शेयर कर सकते हैं जिससे कि उनको भी पता चल पाए की पढ़ाई स्टडी के लिए टाइम टेबल कैसे बनाएं धन्यवाद दोस्तों

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *