साइंटिस्ट कैसे बने | साइंटिस्ट बनने के लिए क्या करे

साइंटिस्ट कैसे बने: हम अपने पास पास जितनी भी सुविधाजनक वस्तुएं देखते हैं, उनकी खोज किसी न किसी किसी साइंटिस्ट ने ही की होती है। इसीलिए जब भी हम किसी साइंटिस्ट को देखते हैं|

तो हमारे अंदर उनके लिए सम्मान की भावना पैदा होती है। साइंटिस्ट लोगों ने मानव जीवन को सरल और सुविधाजनक बनाने के लिए अनेक प्रकार की खोज की है और आगे भी करते रहेंगे, इसलिए वैज्ञानिकों को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता।

वैसे तो साइंटिस्ट की नौकरी तड़क-भड़क या प्रसिद्धि से भरी नहीं होती है और ना ही साइंटिसट बनना आसान होता है, ना ही इनका काम आसान होता है।

इसीलिए जो लोग वाकई में साइंटिस्ट बनना चाहते हैं और साइंटिस्ट बनने के लिए पूरी लगन से मेहनत करना चाहते हैं, उन्हें ही इस क्षेत्र में अपना कदम आगे बढ़ाना चाहिए।

जो अभ्यर्थी साइंटिस्ट बनना चाहता है, उसे इस बात का ध्यान अवश्य रहे कि वह अपनी आजीविका अथवा कमाई करने के लिए वैज्ञानिक नहीं बनना चाहता, परंतु वह मनुष्य के जीवन को सरल और सुरक्षित बनाने के इरादे से इस क्षेत्र में आगे आना चाहता है।

अगर आपका दिमाग भी क्रिएटिव है और आप नए नए रिसर्च अथवा खोज करने में उत्सुक रहते हैं, तो आप वैज्ञानिक बन कर अपना कैरियर बना सकते हैं।

वैज्ञानिक कैसे बनते हैं, अगर आपको इसके बारे में जानकारी नहीं है तो बिल्कुल भी फिक्र ना करें, क्योंकि आज के इस आर्टिकल में हम आपको इसी के बारे में जानकारी देने वाले हैं।

साइंटिस्ट कैसे बने

साइंटिस्ट बनने के लिए क्या करें

scientist kaise bane

आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि वैज्ञानिकों क्या होते हैं, वैज्ञानिक कैसे बनते हैं, वैज्ञानिक बनने के लिए कौन सी पढ़ाई करनी पड़ती है, वैज्ञानिक की सैलरी कितनी होती है तथा अन्य जानकारियां।तो चलिए चलते हैं मुख्य मुद्दे पर और जानते हैं कि वैज्ञानिक अथवा साइंटिस्ट कैसे बने।

1. साइंटिस्ट किसे कहते हैं

साइंटिस्ट अर्थात वैज्ञानिक एक ऐसा व्यक्ति होता है, जो साइंस के विषयों का अध्ययन करता है और साइंस के विषय में विशेष स्किल रखता है।एक अच्छा साइंटिस्ट अपनी कल्पना शक्ति का इस्तेमाल करके चीजों को आसान और सरल बनाने की कोशिश करता है।

कोई भी वैज्ञानिक सबसे पहले किसी भी समस्या का बारीकी से अध्ययन करता है और फिर समस्या के मूल कारण का पता लगाने का प्रयास करता है।

उसके बाद वह वैज्ञानिक समस्या को हल करने के उपायों के बारे में सोचता है, हालांकि समस्या का हल ढूंढने में उन्हें कई बार असफलताओं का सामना भी करना पड़ता है, परंतु तब भी वैज्ञानिक निराश नहीं होते हैं और लगातार कोशिश करते रहते हैं|

और अंत में एक दिन साइंटिस्ट अपने प्रयोग में सफल हो जाते हैं और फिर इसके बाद वह उस प्रयोग की निर्माण विधि और उस प्रयोग के द्वारा समस्या का समाधान करके हमारी हेल्प करते हैं, चलिए अब आगे जानते हैं कि साइंटिस्ट बनने के लिए हमारे अंदर पढ़ाई से संबंधित कौन सी योग्यता होनी चाहिए।

2. वैज्ञानिक बनने के लिए पढ़ाई

जो व्यक्ति साइंटिस्ट बनना चाहता है, उन्हें दसवीं कक्षा को पास करने के बाद केमिस्ट्री, बायोलॉजी, फिजिक्स, मैथ और इंग्लिश जैसे सबजेक्ट के साथ शुरुआत करनी होगी।

आप हायर एजुकेशन के अंतर्गत ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन में भी इन्हीं सब्जेक्ट का चुनाव करें। इन सब्जेक्ट के द्वारा आफ एमएससी, एमफिल, पीएचडी,इंजीनियरिंग जैसे कोर्स करके रिसर्च सेंटर में समय-समय पर निकलने वाली वैज्ञानिकों की नौकरी के लिए एप्लीकेशन दे सकते हैं। साइंटिस्ट बनने के लिए कुछ अंडर ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रैजुएट कोर्स के नाम निम्नलिखित है।

  • बीएससी (Bachelor of Science)
  • प्रासंगिक विषय में बीटेक (B.Tech)
  • एमएससी (Master of Science)
  • प्रासंगिक विषय में एमटेक (M.Tech)

जैसा कि हमने आपको ऊपर बताया है कि हमारे भारत देश में साइंटिस्ट अथवा वैज्ञानिक को बहुत ही सम्मान की नजरों से देखा जाता है, क्योंकि यह हमारे देश के लिए नई नई रिसर्च और खोज करने का काम करते हैं|

हालांकि साइंटिस्ट बनना कोई बच्चों का खेल नहीं है, बल्कि साइंटिस्ट बनने में अच्छे अच्छों का तेल निकल जाता है, परंतु जो व्यक्ति साइंटिस्ट अथवा वैज्ञानिक बनने के लिए सच्ची निष्ठा से कोशिश करता है|

वह व्यक्ति एक न एक दिन साइंटिस्ट जरूर बनता है, कयोंकि जब आप किसी वस्तु अथवा मंजिल को पाने के लिए मेहनत करते हैं तो उस मंजिल को प्राप्त करने में भगवान भी आपका साथ देते हैं, चलिए अब आगे जानते हैं कि साइंटिस्ट बनने के लिए क्या करना पड़ता है।

1. दसवीं के बाद साइंस सेक्शन का चुनाव करें।

जो व्यक्ति साइंटिस्ट बनने की इच्छा रखता है उसे सबसे पहले तो दसवीं कक्षा को पास करने के बाद 12वीं कक्षा में साइंस के विषयों को लेना होता है|

क्योंकि साइंटिस्ट बनने के लिए उम्मीदवार को साइंस के विषय के बारे में जानकारी होनी चाहिए। इसीलिए 12वीं कक्षा में फिजिक्स, केमिस्ट्री,गणित, बायलॉजी जैसे विषयों का चुनाव करें।

2. विशेषज्ञता का चुनाव करें।

जब विद्यार्थी 12वीं की परीक्षा को साइंस के विषयों के साथ अच्छे अंको से पास कर लेता है, तो फिर उसे साइंटिस्ट बनने के लिए बीएससी का कोर्स करने की जरूरत होती है|

परंतु इससे पहले विद्यार्थियों को इस बात का निर्णय अवश्य करना चाहिए कि वह किस विषय में एक्सपर्ट होना चाहता है अर्थात जो विद्यार्थी बायोलॉजी के विषय में एक्सपर्ट होता है, उसे बायोलॉजी वैज्ञानिक तथा जो विद्यार्थी केमिस्ट्री में एक्सपोर्ट होता है, उसे केमिस्ट्री साइंटिस्ट कहा जाता है। इसीलिए 12वीं कक्षा पास करने के बाद आप जिस भी विषय में एक्सपर्ट हो, उसका चुनाव कर लेना चाहिए।

3. अंडर ग्रेजुएट कोर्स करें।

जब विद्यार्थी द्वारा यह निर्णय ले लिया जाता है, कि उसे किस फील्ड में साइंटिस्ट अथवा वैज्ञानिक बनना है, तो उसके बाद विद्यार्थियों को उसी के अनुसार अपने विषयों को सिलेक्ट करके अंडर ग्रैजुएट कोर्स अथवा बैचलर ऑफ साइंस जैसे कोर्स करना चाहिए।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि कभी-कभी कुछ फेमस इंस्टिट्यूट यूजीसी के कोर्स में एडमिशन देने के लिए 12वीं कक्षा में एक निश्चित अंको के प्रतिशत की डिमांड करते हैं। यह प्रतिशत 55 से लेकर 65% तक हो सकता है तथा इस प्रकार के कोर्स का समय 3 साल से लेकर 4 सालों तक का होता है।

4. मास्टर डिग्री हासिल करे।

साइंटिस्ट बनने से जुड़े हुए बेसिक कोर्स करने के बाद विद्यार्थी चाहे तो साइंटिस्ट बनने के लिए मास्टर डिग्री के लिए भी एप्लीकेशन दे सकते हैं। मास्टर डिग्री में विद्यार्थी मास्टर ऑफ साइंस या फिर मास्टर ऑफ टेक्नोलॉजी मे से कोई भी कोर्स कर सकते हैं।

इस तरह के कोर्स को करने के लिए कुछ फेमस इंस्टिट्यूट के द्वारा कम से कम अंको के प्रतिशत निर्धारित किए जाते हैं, साथ ही कुछ बड़े संस्थानों द्वारा गेट जैसी एंट्रेंस एग्जाम के माध्यम से भी एडमिशन दिया जाता है।आमतौर पर इन कोर्स की समय अवधि 2 से लेकर 3 साल तक की होती है।

5. नौकरी के लिए आवेदन करें।

जब विद्यार्थी मास्टर डिग्री प्राप्त कर लेते हैं, तो उसके बाद वह डॉक्टरेट डिग्री जैसे कि पीएचडी के लिए भी एप्लीकेशन दे सकते हैं। इसमें अलग-अलग प्रकार के रिसर्च इंस्टीट्यूट द्वारा पीएचडी की डिग्री दी जाती है।

इसके अलावा अभ्यर्थी चाहे तो नौकरी के लिए भी आवेदन दे सकता है, क्योंकि आज के समय में लगभग हर क्षेत्र में वैज्ञानिकों की बहुत ही अधिक आवश्यकता होती है।

नीचे हमने कुछ ऐसे संस्थानों की लिस्ट दी है, जहां पर समय समय पर वैज्ञानिकों की भर्ती के लिए वैकेंसी निकाली जाती है। जो अभ्यर्थी वैज्ञानिक बनने के सारे चरणों को पूरा कर चुके हैं, वह इन संस्थानों में नौकरी के लिए आवेदन दे सकते हैं।

  • आईएसीएस (इंडियन एसोसिएशन फॉर कल्टीवेशन ऑफ़ साइंस)
  • सीएसआईआर (काउंसिल ऑफ़ साइंटिफिक एंड इंडस्ट्रियल रिसर्च)
  • आईसीएआर (इंडियन काउंसिल ऑफ़ एग्रीकल्चरल रिसर्च)
  • एआरआईईएस (आर्यभट रिसर्च इंस्टिट्यूट ऑफ़ ऑब्जरवेशनल साइंस)
  • आईआईटीएम (इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ ट्रॉपिकल मीटरोलॉजी)
  • इसरो (इंडियन स्पेस रिसर्च आर्गेनाइजेशन)
  • बर्क (भाबा एटॉमिक रिसर्च सेण्टर)

ऊपर बताए गए इंस्टिट्यूट में समय-समय पर वैज्ञानिकों के पदों के लिए भर्ती निकाली जाती है, जिसमें आप आवेदन कर सकते हैं।

इसके अलावा भारत में अन्य कई ऐसे छोटे और बड़े निजी तथा सरकारी रिसर्च इंस्टिट्यूट भी है, जहां पर साइंटिसट की आवश्यकता पड़ती रहती है, इसीलिए उम्मीदवारों को उनकी भर्ती पर भी नजर रखनी चाहिए।

6. साइंटिस्ट की सैलरी

अगर हम वैज्ञानिक अथवा साइंटिस्ट की सैलरी के बारे में बात करें तो, एक साइंटिस्ट की सैलरी उनकी पढ़ाई के ऊपर तथा उन्होंने जहां से डिग्री ली है, उसके ऊपर तथा उन्हें कितना अनुभव है, इसके ऊपर निर्भर होती है।

हालांकि आमतौर पर शुरुआत में साइंटिसट की सैलरी सालाना तौर पर 3 से ₹400000 तक की होती है अर्थात इनकी महीने की सैलरी 35 हजार के आसपास होती है तथा इसके बाद जब एक साइंटिस्ट को काफी अनुभव प्राप्त हो जाता है, तो धीरे-धीरे इनकी सैलरी में भी बढ़ोतरी होने लगती है।

अनुभव प्राप्त करने के बाद इनके पद में भी बढ़ोतरी होती है तथा इसके अलावा अगर किसी साइंटिस्ट ने कोई नई और बड़ी खोज की है, तो उसके लिए उसे लाखों से लेकर करोड़ों रुपए भी मिलते हैं।

7. वैज्ञानिक बनने के लिए आवश्यक जानकारी

जो व्यक्ति वैज्ञानिक बनना चाहता है, उसे किसी भी विषय को जानने के लिए उत्सुक होना जरूरी है क्योंकि आप तो जानते ही हैं कि एक वैज्ञानिक नई नई रिसर्च और खोज करता है और नई रिसर्च और खोज करने के लिए जिन लोगों का दिमाग क्रिएटिव होता है वैसे लोग ही अच्छे होते हैं।

किसी भी विषय में जिज्ञासा होने के कारण हमें उस विषय के बारे में जानने की अधिक इच्छा होती है, इसीलिए जो व्यक्ति साइंटिसट बनना चाहता है, उसके अंदर जिज्ञासा भी होनी चाहिए।इसके अलावा उसके अंदर नई चीजों को सीखने का गुण होना चाहिए और उसे कौन सी चीज की प्रक्रिया कैसे होती है, इसके बारे में जानकारी हासिल करने की कोशिश करनी चाहिए।

जैसा कि आप जानते हैं कि वैज्ञानिक बनना इतना आसान नहीं होता, बल्कि वैज्ञानिक बनने के लिए विद्यार्थियों को काफी मेहनत और लगन से पढ़ाई करनी होती है, इसीलिए वैज्ञानिक बनने के लिए आप अपने रोज के काम जब पूरे कर ले, तो उसके बाद अपने विषय पर फोकस करें और उनका अच्छे-अच्छे अध्ययन करें।

जब कोई व्यक्ति वैज्ञानिक बन जाता है, तो उसे अपने देश के अलावा अन्य देशों के वैज्ञानिकों के साथ भी बातचीत करने के लिए संपर्क बनाना पड़ता है, इसलिए आपको अपनी मातृभाषा के अलावा कई भाषाओं का ज्ञान होना चाहिए और मुख्य रूप से अंग्रेजी भाषा तो आनी चाहिए|

क्योंकि अंग्रेजी भाषा को पूरी दुनिया में मान्यता प्राप्त है और अंग्रेजी भाषा को पूरी दुनिया के लोग अच्छे से समझ लेते हैं और बोल लेते हैं। कई बार ऐसा होता है कि आपको अपनी रिसर्च से संबंधित किसी विषय या प्रक्रिया के बारे में जानने के लिए अन्य देशों के वैज्ञानिकों से संपर्क करना पड़ता है,|

इसलिए आपको वहां की भाषा आनी चाहिए और अगर आपको वहां की भाषा नहीं आती है, तो आप किसी ट्रांसलेटर की सहायता लेकर अपनी बात उन वैज्ञानिकों के सामने रखवा सकते हैं। ट्रांसलेटर अर्थात एक ऐसा व्यक्ति है जो कई भाषाओं को बोलने और समझने में निपुण हो।

वैज्ञानिक बनने के लिए आपको बारहवीं कक्षा के सभी विषयों जैसे कि बायोलॉजी, फिजिक्स, केमिस्ट्री, मैथ पर विशेष ध्यान देना चाहिए, इसीलिए जब आप 12वीं कक्षा में हो तो इन विषयों का अच्छे से अध्ययन करें कयोंकि वैज्ञानिक बनने के लिए यही विषय आगे चलकर आपके काफी काम आएंगे।

इसके अलावा वैज्ञानिक बनने के लिए आप विभिन्न प्रकार के यूट्यूब चैनल का सहारा भी ले सकते हैं, क्योंकि यूट्यूब पर आज ऐसे कई चैनल है, जो काफी पढ़े लिखे व्यक्तियों द्वारा चलाए जाते हैं और उन पर ना सिर्फ वैज्ञानिक बल्कि अन्य नौकरियों तथा परीक्षाओं से संबंधित तैयारियों के बारे में भी विस्तार से बताया जाता है और आपको रोजाना मैंने अपडेट भी दिए जाते हैं।

इन यूट्यूब चैनल पर हर विषय की अलग से तैयारी भी करवाई जाती है। आप अपनी पसंद के अनुसार किसी भी यूट्यूब चैनल का चुनाव “वैज्ञानिक कैसे बने” इसकी तैयारी करने के लिए कर सकते हैं।

आपकी और दोस्तों

तो दोस्तों यह एक साइंटिस्ट कैसे बने, हम उम्मीद करते हैं कि इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आप सभी को पता चल गया होगा कि एक साइंटिस्ट बनने के लिए क्या करना चाहिए|

यदि आपको हमारी यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो प्लीज इस पोस्ट को एक लाइक जरुर करें और अपने दोस्तों के साथ फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर करना ना भूले|

उनके हम चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा लोगों को यह पता चल पाएगी एक साइंटिस्ट बनने की तैयारी कैसे करते हैं धन्यवाद दोस्तों|

Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published.