रेलवे जूनियर इंजीनियर कैसे बने | रेलवे इंजीनियर बनने के लिए क्या करे

रेलवे जूनियर इंजीनियर कैसे बने: हमारे भारत देश में रोजाना हजारों ट्रेनों का आवागमन एक राज्य से दूसरे राज्य में होता है और जैसा कि आप जानते हैं कि हमारे भारत देश की जनसंख्या 130 करोड़ है।

एक अनुमान के मुताबिक हमारे भारत देश की कुल जनसंख्या में से लगभग 10 करोड़ की जनसंख्या रोजाना विभिन्न ट्रेनों से एक राज्य से दूसरे राज्य में यात्रा करती है, अर्थात 10 करोड़ लोग भारत की ट्रेनों में हमेशा सवार रहते हैं

हालांकि अभी लोक डाउन चल रहा है, इसलिए इस समय ट्रेनें बंद है।भारतीय रेल व्यवस्था दुनिया की सबसे बड़ी रेल व्यवस्था है और इतनी बड़ी व्यवस्था को संभालने के लिए भारतीय रेलवे हर साल रेलवे में विभिन्न पदों पर भर्ती करती है, जिसमें से एक पद जेई अर्थात रेलवे जूनियर इंजीनियर का भी होता है।

अगर आप रेलवे जूनियर इंजीनियर बनना चाहते हैं तो आप बिल्कुल सही जगह पर आए हैं, क्योंकि आज हम आपको रेलवे जूनियर इंजीनियर कैसे बनते हैं, इसके बारे में जानकारी देने वाले हैं।

आज के इस आर्टिकल में आप जानेंगे कि रेलवे जूनियर इंजीनियर क्या है, रेलवे जूनियर इंजीनियर कैसे बनते हैं, रेलवे जूनियर इंजीनियर बनने के लिए कौन सी पढ़ाई करनी पड़ती है, रेलवे जूनियर इंजीनियर की सैलेरी कितनी होती है तथा अन्य बातें, तो आइए चलते हैं मुख्य मुद्दे पर और जानते हैं कि रेलवे में जूनियर इंजीनियर कैसे बनते हैं।

अनुक्रम दिखाएँ

रेलवे जूनियर इंजीनियर कैसे बने

रेलवे इंजीनियर बनने के लिए क्या करे

Railway Engineer kaise bane

1. रेलवे में जूनियर इंजीनियर बनने के लिए शैक्षिक योग्यता की जानकारी

अगर आप भारतीय रेलवे में रेलवे जूनियर इंजीनियर बनना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको इससे संबंधित क्षेत्र में डिग्री या फिर डिप्लोमा की डिग्री करना जरूरी है।

जब आप अच्छे अंकों के साथ अपनी ग्रेजुएशन पूरी कर लेते हैं, तो आप रेलवे विभाग द्वारा जारी किए गए एडवर्टाइजमेंट के लिए आवेदन कर सकते हैं।

रेलवे में जूनियर इंजीनियर का पद प्राप्त करने के लिए इंजीनियरिंग में डिप्लोमा, डिग्री, इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी, रासायनिक और धातु कर्म, सहायक असिस्टेंट पद के लिए पीजीडीसीए, बीएससी डिग्री, कंप्यूटर साइंस, बीसीए,बीटेक, बीटेक कंप्यूटर साइंस,DOEACC ‘B’ होना जरूरी है।

2. रेलवे में जूनियर इंजीनियर की सैलरी और अन्य भत्ता

रेलवे में जूनियर इंजीनियर की सैलरी पहले थोड़ी कम थी, परंतु जब से केंद्र सरकार ने सातवें वेतन आयोग को मंजूरी दी है, तो उसके बाद अन्य पदों की तरह ही रेलवे जूनियर इंजीनियर की मासिक सैलरी में भी बढ़ोतरी हुई है।

सातवें वेतन आयोग के लागू होने के बाद रेलवे जूनियर इंजीनियर की अंदाजन सैलेरी महीने की ₹50000 के आसपास हो गई है।

3. रेलवे में जूनियर इंजीनियर बनने के लिए उम्र सीमा की जानकारी

भारतीय सरकार ने संविधान को ध्यान में रखते हुए रेलवे में जूनियर इंजीनियर के पद के लिए अलग-अलग कैटेगरी के लिए अलग-अलग उम्र सीमा निर्धारित की है।

जो लोग सामान्य वर्ग से संबंध रखते हैं, वह लोग रेलवे में जूनियर इंजीनियर बनने के लिए 18 साल से लेकर 33 साल तक आवेदन कर सकते हैं।

इसके अलावा जो लोग ओबीसी समुदाय से संबंध रखते हैं, उन्हें 3 साल की छूट तथा जो लोग एससीएसटी अर्थात अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति से संबंध रखते हैं, उन्हें रेलवे में जूनियर इंजीनियर बनने के लिए 5 साल की छूट आरक्षण के तहत दी जाती है।

हालांकि इसके के लिए ओबीसी समुदाय के लोगों को अपना आरक्षण का प्रमाण पत्र दिखाना जरूरी होता है। ऐसे लोग जो वाकई में एससी एसटी और ओबीसी समुदाय से संबंध रखते हैं, परंतु उनके पास आरक्षण का प्रमाण पत्र नहीं है|

तो वैसे लोग इस उम्र छूट का लाभ नहीं ले पाएंगे। उम्र छूट का लाभ लेने के लिए एसएसटी तथा ओबीसी समुदाय के लोगों को अपना आरक्षण का प्रमाण पत्र दिखाना जरूरी होता है।

4. रेलवे में जूनियर इंजीनियर बनने के लिए परीक्षा फीस

उम्र की तरह ही रेलवे में जूनियर इंजीनियर बनने के लिए सरकार ने आरक्षण का ध्यान रखते हुए अलग-अलग वर्गों के लोगों के लिए अलग-अलग फीस निर्धारित की है।

इसके तहत जनरल और ओबीसी समुदाय से संबंध रखने वाले लोगों के लिए रेलवे की परीक्षा की फीस ₹500 रखी गई है तथा जो लोग एससीएसटी समुदाय से संबंध रखते हैं, उन्हें ₹250 फीस देनी पड़ती है।

5. रेलवे में जूनियर इंजीनियर बनने की चयन प्रक्रिया

भारतीय रेलवे ने जूनियर इंजीनियर के पद के लिए कंप्यूटर आधारित दो स्तरों पर परीक्षा लेने का निर्णय किया है। जिसमे प्रथम लेवल में सभी योग्य अभ्यर्थी परीक्षा में भाग ले सकते हैं और दूसरे लेवल में, जो अभ्यर्थी पहले लेवल की परीक्षा को पास करते हैं, उन्हें शामिल होने का मौका दिया जाता है।

जो अभ्यर्थी सफलतापूर्वक प्रथम परीक्षा और दूसरी परीक्षा को पास कर लेते हैं, उन्हें उसके बाद डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन और मेडिकल एग्जाम के लिए बुलाया जाता है और जब अभ्यर्थी इन सभी प्रक्रिया को सफलतापूर्वक पास कर लेता है|

तो उसके बाद उसे रेलवे में जूनियर इंजीनियर के पद के लिए नियुक्ति पत्र दे दिया जाता है और इस तरह से वह व्यक्ति रेलवे में जूनियर इंजीनियर का पद प्राप्त करने में सफलता हासिल कर लेता है।

6. रेलवे में जूनियर इंजीनियर की भर्ती कौन करता है

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि रेलवे में रेलवे के विभिन्न पदों के अलावा जूनियर इंजीनियर की भर्ती रेलवे भर्ती बोर्ड करता है। रेलवे भर्ती बोर्ड को अंग्रेजी में आरआरबी अर्थात रेलवे रिक्रूटमेंट बोर्ड भी कहा जाता है।

यह रेलवे का सबसे बड़ा भर्ती बोर्ड होता है और इसके जरिए हमारे पूरे देश में रेलवे के विभिन्न पदों के लिए भर्तियां की जाती है और रेलवे रिक्रूटमेंट बोर्ड रेलवे में विभिन्न पदों के लिए भर्ती परीक्षा का आयोजन करवाता है।

हमारे देश में रेलवे के विभिन्न जोन है और हर जोन हर साल रेलवे में भर्ती के लिए नोटिफिकेशन जारी करते हैं, जैसे रेलवे रिक्रूटमेंट बोर्ड ऑफ इलाहाबाद, रेलवे रिक्रूटमेंट बोर्ड ऑफ अहमदाबाद इत्यादि।

7. रेलवे जूनियर इंजीनियर भर्ती परीक्षा का पैटर्न

रेलवे में जूनियर इंजीनियर के पदों पर भर्ती के लिए कंप्यूटर आधारित परीक्षा यानी कि सीबीटी परीक्षा का आयोजन किया जाता है।

इस परीक्षा के तहत टोटल 2 क्वेश्चन पेपर होते हैं, तथा जो अभ्यर्थी सीबीटी:1 की परीक्षा में शामिल होते हैं, उन्हें ही सीबीटी:2 की परीक्षा में शामिल होने के लिए बुलावा भेजा जाता है। यह दोनों परीक्षाएं 2 घंटे की होती है और यह दोनों परीक्षाएं एमसीक्यू पर आधारित होती हैं।

इसके अलावा रेलवे में जूनियर इंजीनियर की परीक्षा में माइनस मार्किंग भी होती है, अर्थात आपके हर गलत जवाब पर आपके 1/3 अंक, आपके कुल प्राप्त अंकों में से कटेंगे, इसलिए आपको जिस सवाल का जवाब नहीं आता उसे खाली छोड़ दें।

जो अभ्यर्थी इन दोनों परीक्षाओं को सफलतापूर्वक पास कर लेता है, उसे फिरे डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन अर्थात दस्तावेज सत्यापन के लिए बनाया जाता है।

जब अभ्यर्थी का डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन सफलतापूर्वक हो जाता है, तो फिर अभ्यर्थी का मेडिकल टेस्ट करवाया जाता है और मेडिकल टेस्ट में पास होने वाले अभ्यर्थी को रेलवे में जूनियर इंजीनियर के पद पर नियुक्ति पत्र प्रदान किया जाता है।

हालांकि अगर किसी अभ्यर्थी का कोई डॉक्यूमेंट गलत निकलता है, तो रेलवे भर्ती बोर्ड उसके खिलाफ लीगल कार्रवाई भी करता है।इसीलिए फर्जी तरीके से अपने डॉक्यूमेंट ना बनवाएं।

8. रेलवे में जूनियर इंजीनियर के लिए परीक्षा सिलेबस

  • गणित
  • सामान्य बुद्धि और तर्क
  • सामान्य जागरूकता
  • सामान्य विज्ञान
  • जनरल नॉलेज
  • फिजिक्स एंड केमिस्ट्री
  • कंप्यूटर के सामान्य एप्लीकेशन
  • बेसिक ऑफ एनवायरमेंट एंड पॉल्यूशन कंट्रोल
  • टेक्निकल एबिलिटी

9. भारत में कितने रेलवे भर्ती बोर्ड है

वर्तमान के समय में हमारे भारत देश में टोटल 21 रेलवे भर्ती बोर्ड है जो कि अहमदाबाद, अजमेर, बिलासपुर, चंडीगढ़, चेन्नई, गोरखपुर, गुवाहाटी, जम्मू, कोलकाता, मालदा, मुंबई, मुजफ्फरपुर, पटना,इलाहाबाद, बेंगलुरु, भोपाल, सिकंदराबाद, सिलीगुड़ी, और त्रिवेंद्रम में हैं।

10. रेलवे रिक्रूटमेंट बोर्ड क्या है

रेलवे रिक्रूटमेंट बोर्ड को हिंदी में रेलवे भर्ती बोर्ड कहां जाता है। रेलवे भर्ती बोर्ड हमारे पूरे भारत देश में जितने भी रेलवे के पदों पर वैकेंसी होती है उनकी वैकेंसी की जानकारी देती है और रेलवे के सभी पदों पर भर्ती परीक्षा का आयोजन करती है। इसके अलावा भी रेलवे में जूनियर और सीनियर लेवल के विभिन्न पद होते हैं।

11. रेलवे के विभिन्न पदों की लिस्ट

गार्ड, फाटक मैन, कुली, टीटी-टीसी-टीटीई, लोको पायलट, स्टेशन मास्टर, सफाई कर्मचारी, जूनियर इंजीनियर,सीनियर इंजीनियर, यार्ड मैनेजर,ट्रेकमैन

12. रेलवे जूनियर इंजीनियर भर्ती परीक्षा की तैयारी कैसे करें

रेलवे में जूनियर इंजीनियर का पद प्राप्त करने के लिए सबसे पहले तो आपको इसके लिए आयोजित होने वाली परीक्षा के सिलेबस के बारे में जानकारी होना अति आवश्यक है, कयोंकि जब आपको किसी भी परीक्षा के सिलेबस के बारे में जानकारी होती है, तब आप अच्छे तरीके से अपनी तैयारी कर पाते हैं

कयोंकि आपको यह पता रहता है कि परीक्षा में किस विषय से संबंधित कितने सवाल पूछे जाते हैं। वह सवाल किस तरह के होते हैं। रेलवे परीक्षा सिलेबस के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए आप इंटरनेट का सहारा ले सकते हैं।

इसके अलावा आप तैयारी करने के लिए एक टाइम टेबल का निर्माण अवश्य करें क्योंकि टाइम टेबल बनाने से आपको यह फायदा होता है कि आपको इस बात की जानकारी रहती है, कि आपको कौन से दिन किस विषय का अध्ययन करना है।

इसके अलावा आप इस बात का भी ध्यान रखें कि, आप जिस भी विषय में कमजोर है उस विषय पर आपको अधिक ध्यान देना है।

सप्ताह में एक बार आपने जो भी पढा है, उसका रिवीजन अवश्य करें, वरना हो सकता है कि आप परीक्षा आते-आते आपने जो भी पढ़ा है, वह भूल जाएं।

इस परीक्षा में जनरल नॉलेज और करंट अफेयर से जुड़े सवाल अधिक आते हैं, इसीलिए आपको इन विषय के बारे में जानकारी होनी चाहिए।आप सामान्य ज्ञान के लिए बाजार में मिलने वाले किताबों का इस्तेमाल कर सकते हैं और करंट अफेयर के लिए आप रोजाना अखबारों तथा टीवी चैनलों को देख सकते हैं।

इस परीक्षा को पास करने के लिए आपसे भारतीय संस्कृति, भूगोल, भारतीय इतिहास, भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन, भारतीय राजनीति और संविधान, भारतीय अर्थव्यवस्था, पर्यावरण से जुड़े मुद्दे, विश्व से जुड़े मसले, खेल, सामान्य विज्ञान एवं तकनीकी विकास से जुड़े सवाल पूछे जा सकते हैं। इन पर खास तौर पर ध्यान दें।

अगर आपको लगता है कि आप बिना किसी कोचिंग के इस परीक्षा को पास नहीं कर पाएंगे, तो आप अपने घर के आस-पास स्थित किसी अच्छे कोचिंग इंस्टिट्यूट को ज्वाइन कर सकते हैं।

इसके अलावा आप चाहे तो ऑनलाइन वीडियो प्लेटफॉर्म यूट्यूब का सहारा भी इस परीक्षा की तैयारी करने के लिए कर सकते हैं। कयोंकि आज यूट्यूब पर एजुकेशन से संबंधित ऐसे कई चैनल है, जो ना सिर्फ रेलवे जूनियर इंजीनियर के पदों के लिए बल्कि अन्य पदों के लिए भी तैयारियां करवाते हैं।

आपकी और दोस्तों

तो दोस्तों यह था रेलवे जूनियर इंजीनियर कैसे बने, हम आशा करते हैं कि इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आप सभी को पता चल गया होगा कि रेलवे में एक जूनियर इंजीनियर बनने के लिए क्या करना पड़ता है|

अगर आपको हमारी यह पोस्ट हेल्प लगी हो तो प्लीज इसे अपने दोस्तों के साथ फेसबुक और व्हाट्सएप पर अवश्य शेयर करें|

क्योंकि हम चाहते हैं कि अधिक से अधिक लोगों को इस पोस्ट की मदद से यह पता चलता है कि रेलवे जूनियर इंजीनियर बनने की तैयारी कैसे करते हैं धन्यवाद दोस्तों|

Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published.