Nasa Full Form in Hindi | नासा का फुल फॉर्म क्या है

Nasa Full Form in Hindi: आज के इस आर्टिकल में हम आपको नासा की फुल फॉर्म के बारे में जानकारी देने वाले हैं। अगर आप इंटरनेट पर यह सर्च करते रहते हैं कि नासा क्या है या फिर नासा का फुल फॉर्म क्या है, तो आप बिल्कुल सही जगह पर आए हैं, क्योंकि आज आपको इसके बारे में सभी जानकारी प्राप्त होगी।

दोस्तों दुनिया के हर देश के पास अपनी अपनी एजेंसी होती है और यह एजेंसियां अलग-अलग काम करती है। जैसे कुछ एजेंसीया मौसम का हाल पता करती रहती है तो कुछ एजेंसीया देश की आंतरिक सुरक्षा के लिए काम करती है।

वैसे ही कुछ एजेंसीया ऐसी भी है, जो वायुमंडल यानी कि सौर ग्रह में अपने उपकरण को छोड़ने का काम करती हैं और वायुमंडल से जुड़े हुए कई रहस्यों को उजागर करने का काम करती हैं।

इसके अलावा सभी एजेंसियां अपने देश के व्यक्तिगत फायदे के लिए समय-समय पर अंतरिक्ष में उपग्रह छोड़ती रहती है।इसके अलावा वे सेटेलाइट भी छोड़ती है।

हर सैटेलाइट का अपना अलग-अलग उद्देश्य होता है, परंतु हाल के समय में आपने टीवी या अखबारों में यह अवश्य देखा होगा कि, चंद्रयान की चर्चा बहुत खूब जोर शोर से हो रही है। मिशन मंगल या फिर चंद्र जान के पीछे बहुत से देश लगे हुए हैं।

सभी देश मंगल पर या फिर चंद्र पर पानी की खोज तथा अन्य खोज करने में व्यस्त है और ऐसे में एक संस्था का नाम बार-बार आपको दिखाई देता है जिसे नासा कहा जाता है।

आखिर यह नासा संस्था क्या है और नासा संस्था कौन से काम करती है, इसके बारे में जानकारी रखना आपको भी जरूरी है, क्योंकि आपकी जानकारी के लिए बता दें कि नासा दुनिया की सबसे बड़ी अंतरिक्ष से जुड़े रहस्य को खोज करने वाली संस्था है।

नासा का नाम सुनते ही आप यह सोचते होंगे कि आखिर यह नासा क्या है और नासा का हेड क्वार्टर कहां है, जो हमें अंतरिक्ष से जुड़ी हुई जानकारी समय-समय पर देती रहती है।

वैसे तो दुनिया की अधिकतर देशों ने अपना अंतरिक्ष संस्थान स्थापित कर रखा है, परंतु जब अधिक सफलता की बात आती है, तो उसमें सबसे ज्यादा नासा संस्था का नाम ही आता है, क्योंकि अंतरिक्ष में जितनी दूरी का सफर अभी तक नासा संस्था ने तय किया है उतना किसी और संस्था ने नहीं किया है। आइए इसके बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करते हैं।

अनुक्रम दिखाएँ

1. नासा का फुल फॉर्म अंग्रेजी में क्या है

NASA full form in hindi

आइए सबसे पहले नासा का फुल फॉर्म जान लेते हैं। नासा का फुल फॉर्म होता है National Aeronautics and Space Administration। नेशनल एयरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन अमेरिका का एक विभाग है।

यह अमेरिका का एक सरकारी विभाग है और नेशनल एयरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन अंतरिक्ष से जुड़े हुए सभी कार्यक्रमों की देखरेख करता है तथा सैटेलाइट लॉन्च करने का काम करता है। इसके अलावा नासा दुनिया के अन्य देशों की सेटेलाइट को अंतरिक्ष में लांच करवाने में भी अपना योगदान देता है।

कुछ महीने पहले ही नासा ने अंतरिक्ष में कार के आकार का एक यान भेजा था जिसका नाम पार्कर सोलर प्रोब था।यह यान सूर्य के सबसे नजदीक पहुंचने वाला है, जो जल्द ही सूरज के रहस्यों से पर्दा उठाएगा।

2. नासा का फुल फॉर्म हिंदी में क्या है

नासा का हिंदी में पूरा मतलब होता है”राष्ट्रीय वैमानिकी और अंतरिक्ष प्रबंधन” बहुत से लोग यह तो जानते हैं कि नासा क्या है परंतु उन्हें यह नहीं पता होता कि नासा कौन-कौन से काम करता है।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि नासा अंतरिक्ष में विभिन्न प्रकार के सैटेलाइट लॉन्च करता है। इसके अलावा नासा कई बार स्पेस शटल के माध्यम से अंतरिक्ष में मनुष्यों को भी भेज चुका है।

जब एस्ट्रोनॉट अंतरिक्ष में जाते हैं, तब वह वहां से बहुत सी जानकारियां नासा संस्थान को देते हैं और नासा संस्थान उन जानकारियों को जनता के सामने लाती है।

3. नासा क्या है

आइए जान लेते हैं कि नासा क्या है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि नाश्ता एक अमेरिकन संस्थान है। यह एक सरकारी संस्थान है और नासा संस्थान अंतरिक्ष से जुड़े हुए विज्ञान और टेक्नोलॉजी के लिए काम करती है।

अंतरिक्ष के युग का आरंभ तब हुआ था, जब सोवियत संघ ने अपने उपग्रह को अंतरिक्ष में छोड़ा था। नासा की शुरुआत साल 1958 में 29 जुलाई को प्रेसिडेंट Eisenhower के द्वारा की गई थी।

नासा संस्थान की स्थापना करने के पीछे मुख्य उद्देश्य यह था कि, अमेरिका को अंतरिक्ष विज्ञान में आगे बढ़ना था, साथ ही उसे एयरोनॉटिक्स रिसर्च के क्षेत्र में भी अपने पांव जमाने थे, क्योंकि अमेरिका हमेशा से ही महा शक्ति है और ऐसे में वह अन्य देशों की तुलना में आगे बढ़ने के लिए हर क्षेत्र में पहले कदम बढ़ाता है।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि एक एडमिनिस्ट्रेटर के हाथों में ही नासा का कमान होता है और उसका नाम प्रेसिडेंट के द्वारा दिया जाता है और फिर वहां के सीनेट के द्वारा चुनाव करवाकर उसे कंफर्म किया जाता है।

जबसे नासा की स्थापना हुई है, तब से ही इसने सबसे ज्यादा स्पेस रिसर्च के क्षेत्र में अपना काम किया है और इसने अन्य देशों के भी कई सैटेलाइट अंतरिक्ष में छोड़ने में अपना सहयोग दिया है।

नासा का सबसे मुख्य मिशन अपोलो चंद्रमा लैंडिंग का मिशन था। इसके अलावा इसमें स्पेस शटल का मिशन भी प्रमुख मिशन है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अमेरिका ने अपोलो मिशन को तब सफल किया था, जब वह सोवियत संघ से अंतरिक्ष के क्षेत्र में पिछड़ रहा था।

अपोलो मिशन के लिए अमेरिका ने उस समय तकरीबन 20 बिलियन डॉलर रुपए खर्च किए थे और यह 1960 की बात है तथा उस समय यह सबसे महंगे कार्यक्रमों में से एक कार्यक्रम था तथा इसका लक्ष्य था कि मनुष्य कदम चांद पर पहुंचे।

4. नासा का हेडक्वार्टर कहाँ है

यह जाहिर सी बात है कि नासा अमेरिका की सरकारी संस्थान है, तो इसका हेड क्वार्टर भी अमेरिका में ही होगा। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि नासा का हेड क्वार्टर अमेरिका देश के वॉशिंगटन डीसी में स्थित है।

5. नासा का मोटो क्या है?

हर सरकारी संस्थान का अपना कुछ ना कुछ मोटो होता है। मोटो अर्थात नारा। वैसे ही नासा का भी एक नारा है जिसे अंग्रेजी में “फोर द बेनिफिट ऑफ ऑल” कहा जाता है और इसका हिंदी में अर्थ होता है “सभी के लिए लाभ”।

6. नासा का इतिहास क्या है

नासा संस्थान की स्थापना साल 1958 में 29 जुलाई को की गई थी और तब से ही नासा संस्थान अंतरिक्ष के क्षेत्र में कई सफलताएं हासिल कर चुका है और लगातार ये अंतरिक्ष में खोज कर रहा है। वर्तमान में इसकी स्थापना हुए 60 साल हो चुके हैं और इन 6 दशको में नासा ने अंतरिक्ष के क्षेत्र में कई सफलता प्राप्त की है।

साल 1957 में नासा के गठन की शुरुआत तब हुई जब सोवियत संघ ने अपने इंस्टीट्यूट से sputnik नाम के सेटेलाइट को वायुमंडल में छोड़ा। यह ऐसे समय में छोड़ा गया था, जब अमेरिका और रसिया में काफ़ी कडा कंपटीशन था और विश्व युद्ध के बाद दोनों देशों के बीच शीतयुद्ध भी चल रहा था।

इधर जैसे ही सोवियत संघ ने अपने सैटेलाइट को वायुमंडल में भेजा, वैसे ही अमेरिका ने भी अंतरिक्ष संस्थान के निर्माण की दिशा में काम करना चालू कर दिया।

और इस तरह अंतरिक्ष में अपनी खुद की सेटेलाइट छोड़ने के लिए तथा एयरोनॉटिक्स रिसर्च के क्षेत्र में अपने पांव जमाने के लिए साल 1958 में 29 जुलाई को अमेरिका के वॉशिंगटन डीसी में नासा संस्थान की स्थापना की गई।

साल 1961 में अंतरिक्ष में जाने वाले Alan B. Shepherd Junior पहले इंसान बने और इसी साल अमेरिका के प्रेसिडेंट जॉन कैनेडी ने चांद मिशन के बारे में सबसे प्रसिद्ध भाषण दिया। इसके बाद साल 1963 में नासा संस्थान ने बॉडी और एयरक्राफ्ट को बिना पंखों के ऊपर लिफ्ट करने के लिए रिसर्च किया और यह रिसर्च साल 1978 तक चलता रहा।

इसके बाद 2 सालों के बाद Edward H. White Junior ऐसे पहले इंसान बने जिन्होंने अंतरिक्ष में स्पेसवॉक यानी कि अंतरिक्ष वाक किया था।

इसके बाद वह दिन भी आ गया जब मानव इतिहास का सबसे अद्भुत मिशन पूरा हुआ।साल 1969 में 10 जुलाई के दिन रात को 8:17 पर अपोलो 11 यान अंतरिक्ष में चांद की सतह पर लैंड हुआ।

7. नासा की स्थापना कब हुई थी?

सन 1958 में 29 जुलाई को अमेरिका के वाशिंगटन डीसी में नासा संस्थान की स्थापना हुई थी। अमेरिका में स्थित यह संस्थान अंतरिक्ष में सबसे ज्यादा मिशन और सेटेलाइट भेजने वाला संस्थान है।

इस संस्थान ने पूरी दुनिया को अंतरिक्ष से जुड़े हुए कई रहस्यों के बारे में जानकारी दी है और इंसान का पहला कदम अंतरिक्ष पर रखवाने में इस संस्थान का बहुत बड़ा रोल था।

इसके अलावा इस संस्थान के द्वारा भेजे गए सेटेलाइट के माध्यम से इस संस्थान ने विभिन्न ग्रहों के बारे में भी काफी जानकारियां लोगों तक पहुंचाई है।

8. NASA का चेयरमैन कौन है

नासा संस्थान के चेयरमैन का नाम जिम ब्रिडेंस्टाइन है।इनका नाम अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने नॉमिनेट किया था और बाद में इनके नाम को अमेरिकन सीनेट ने कंफर्म किया था।

9. नासा की ऑफिशल वेबसाइट कौन सी है

नेशनल एयरोनॉटिक्स एंड स्पेस रिसर्च की ऑफिशियल वेबसाइट https://www.nasa.gov/ है, जहां से आप इसके बारे में ज्यादा जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

10. नासा का काम क्या है

नासा विभिन्न प्रकार के काम करता है।जैसे नासा सेटेलाइट का निर्माण करता है और उन्हें अंतरिक्ष में छोड़ने का काम करता है। इसके अलावा नासा अंतरिक्ष में स्पेस शटल भी भेजता है। नासा के वैज्ञानिक वायुमंडल का अध्ययन करते हैं।

11. नासा के 10 मिशन के नाम

  • Voyager
  • Pioneer
  • Chandra
  • Viking
  • Wmap
  • Hubble
  • Apollo
  • Spitzer
  • Spirit and opportunity
  • Cassini-Huygens

12. दुनिया के अन्य देशों की स्पेस एजेंसीओं की लिस्ट

1: United States- National Aeronautics and Space Administration

2: Russia- Russian Federal Space Agency, Roscosmos State Corporation for Space Activities

3: Europe- European Space Agency

4: Japan- Japan Aerospace Exploration Agency

5: France- National Centre for Space Studies

6: Germany – German Aerospace Center

7: Italy- Italian Space Agency

8: China- China National Space Administration

9: India- Indian Space Research Organisation

10: Canada- Canadian Space Agency

11: United Kingdom- UK Space Agency

12: South Korea- Korea Aerospace Research Institute

13: Algeria – Algerian Space Agency

14: Ukraine- State Space Agency of Ukraine

15: Argentina- Comision Nacional de Actividades Espaciales

16: Iran- Iranian Space Agency and Iranian Space Research Center

17: Spain- Instituto Nacional de Técnica Aeroespacia

18: Netherlands – Netherlands Space Office

19: Sweden- Swedish National Space Board

20: Brazil- Agência Espacial Brasileira (Brazilian Space Agency)

21: Pakistan- Space and Upper Atmosphere Research Commission

22: South Africa- South African National Space Agency

23: Switzerland- Swiss Space Office

24: Mexico- Agencia Espacial Mexicana (Mexican Space Agency)

25: Belarus- Belarus Space Agency

26: Bahrain- Bahrain’s National Space Science Agency

27: Venezuela – Agencia Bolivariana para Actividades Espaciales Pacific Regional Space Agency Forum ABAE

28: Colombia- Comisión Colombiana del Espacio (Colombian Space Commission)

29: Singapore Centre for Remote Imaging, Sensing and Processing

30: Poland – Polska Agencja Kosmiczna (Polish Space Agency)

31: United Nations- United Nations Office for Outer Space Affairs

13. नासा FAQ’S

– नासा का अंग्रेजी में फुल फॉर्म क्या है?

नासा का अंग्रेजी में फुल फॉर्म होता है National Aeronautics and Space Administration।

– नासा का हिंदी में मतलब क्या है?

नासा का हिंदी में पूरा मतलब होता है”राष्ट्रीय वैमानिकी और अंतरिक्ष प्रबंधन”

– नासा किस देश का संस्थान है?

नासा अमेरिका का संस्थान है।

– नासा की स्थापना कब हुई थी?

नासा की स्थापना सन 1958 में 29 जुलाई को हुई थी।

– नासा की स्थापना क्यों हुई थी ?

नासा की स्थापना स्पेस रिसर्च तथा अंतरिक्ष के रहस्य का पता लगाने के लिए हुई थी।

– नासा का हेड क्वार्टर कहां है?

नासा का हेड क्वार्टर अमेरिका के वॉशिंगटन डीसी में स्थित है।

– नासा का मुख्य काम क्या है?

नासा का मुख्य काम अंतरिक्ष कार्यक्रमों और एयरोनॉटिक्स के बारे में रिसर्च करना है।

– नासा में कितने लोग काम करते हैं?

वर्तमान के समय में नासा में 18000 से अधिक कर्मचारी काम करते हैं।नासा की नौकरी सबसे अच्छी नौकरियों में से एक नौकरी मानी जाती है।

यहां पर काफी बड़े-बड़े इंजीनियर काम करते हैं।इसके अलावा आपको जानकर हैरानी होगी कि नासा में आधे से ज्यादा कर्मचारी हमारे भारत देश के ही है। नासा में हर तीन में से एक कर्मचारी भारतीय हैं।

– पायोनियर उपग्रह को कब लांच किया गया था?

नासा ने पायोनियर उपग्रह को साल 1972 में लांच किया था।

– नासा का वार्षिक बजट कितना है?

नासा का वार्षिक बजट 17.2 बिलियन डॉलर है।यह 2012 के आंकड़े के अनुसार है।

– नासा का संस्थापक कौन था?

नासा का संस्थापक ड्वाइट डेविड आइज़नहावर था।

– नासा का मालिक कौन है?

नासा का मालिक ड्वाइट डेविड आइज़नहावर थे।

– नासा का अध्यक्ष कौन है?

नासा का अध्यक्ष जिम ब्रिडेंस्टाइन थे।

आपकी और दोस्तों:

तो दोस्तों ये था नासा का फुल फॉर्म क्या है, हम आशा करते है की इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आपको नासा का फुल फॉर्म के सहित और भी दूसरी जानकारी मिल गयी होगी.

अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो प्लीज पोस्ट को १ लाइक जरुर करे और अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया साइट्स पर जरुर शेयर करे ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगो को नासा के फुल फॉर्म के बारे में जानकारी मिल पाए धन्येवाद दोस्तों|

Leave a Comment

Your email address will not be published.