मकड़ी के बारे में 17 रोचक तथ्य | Interesting facts about Spider in Hindi



मकड़ी के बारे में रोचक तथ्य

Interesting facts about Spider in Hindi

मकड़ियों पानी पर चलते हैं, और पानी के नीचे साँस भी ले सकते हैं

स्पाइडर अपने जाले को रीसायकल करने के लिए खा जाते है

अपने घर में जो मकड़ियों रहती है उनमेसे 95% कभी बाहर नहीं गए है और वो घर में ही रहते है

हमारे जीवनकाल में हमारी नींद में भी एक मकड़ी खाने की संभावना करीब 0% है

स्पाइडर स्व-प्रेरित कोमा में प्रवेश करके पानी के अंदर घंटों तक जीवित रह सकते हैं

अनुसंधान से पता चलता है कि यदि आप मकड़ियों से डरते हैं, तो आप अपने बेडरूम में एक मकड़ी मिलने की अधिक संभावना है

मकड़ी चिति से डरती है क्यूंकि चीटियों में फोरमिक एसिड होता है

आखरी बार मकड़ी के काटने से किसी की मृत्यु ऑस्ट्रेलिया में 1 9 81 में हुई थी

मकड़ियों के पास लिंग नहीं होता है

मकड़ियों, झींगा और घोंघे में नीला खून होता है

मकड़ी के कुल ४६,००० प्रजाति पायी गयी है अभी तक

मकड़ी को भी नशा होता है अगर आप उनको गांझे का धूवा स्मेल कराएंगे तो

मकड़ी अपने मड़की के जाले की ध्वनि से दूसरे मकड़ियों से बात करती है

मकड़ी ज्यादा नहीं कटती है लेकिन जब वो कटती है तब आपको उस जगह पर सूजन हो सकता है

मकड़ी अपना जाला खुद ही बनती है और वो इससमे बहुत ही तेजी से चल और दौड़ सकती है