LIC एजेंट कैसे बने | LIC एजेंट बनने के लिए क्या करे

LIC एजेंट कैसे बने: हमारे भारत देश की आबादी 130 करोड़ है और इसमें कुछ लोग काफी अमीर है तो कुछ लोग काफी गरीब है, वहीं कुछ लोग मध्यम वर्ग के हैं परंतु यह सभी लोग अपने लिए छोटी या बड़ी कोई ना कोई जीवन बीमा पॉलिसी अवश्य करवाते हैं|

क्योंकि हर व्यक्ति यही चाहता है कि जब कभी उसे आपातकाल में किसी भी वस्तु के लिए जरूरत पड़े तो उसके पास एक ऐसी पॉलिसी हो, जिसमें से वह पैसे निकाल सके या फिर वह पॉलिसी उसके काम आ सके।

इसीलिए हमारे भारत देश में लोग कई तरह की पॉलिसी करवाते हैं जिसमें सबसे ज्यादा लोग पॉलिसी एलआईसी पॉलिसी करवाते हैं।एलआईसी हमारे भारत देश की बहुत ही पुरानी और विश्वसनीय कंपनी है। इस कंपनी के माध्यम से हमारे देश में असंख्य लोगों ने जीवन बीमा पॉलिसी ली है।

हमारे भारत देश में ऐसे कई लोग हैं, जो किसी की नौकरी करने से अच्छा खुद बॉस बनना पसंद करते हैं। अगर आप भी ऐसे लोगों में से हैं, तो हम आपको यह बिल्कुल भी नहीं कहेंगे कि आप अपनी नौकरी छोड़ दे|

बल्कि हम आपको यह कहेंगे कि अगर आप अपनी नौकरी करने के साथ-साथ अतिरिक्त कमाई करना चाहते हैं, तो आप एलआईसी एजेंट अथवा इंश्योरेंस एजेंट बनकर अपनी कमाई कर सकते हैं।

यह काम आप पार्ट टाइम या फुल टाइम दोनों कर सकते हैं।यह तो आप पर निर्भर करता है कि आप इस काम को फुल टाइम करना चाहते हैं या पार्ट टाइम करना चाहते हैं।

इंश्योरेंस का मार्केट हमारे देश में बहुत ही बड़ा है और आगे यह और भी अधिक फैलेगा क्योंकि भविष्य की चिंताओं को देखते हुए लोग अब इंश्योरेंस के महत्व को समझने लगे हैं।

वर्तमान में सिर्फ जीवन बीमा ही नहीं बल्कि अन्य कई प्रकार के इंश्योरेंस भी लोगों द्वारा करवाए जाते हैं। जैसे वाहन इंश्योरेंस, एक्सीडेंट इंश्योरेंस,हेल्थ इंश्योरेंस, मेडिक्लेम इंश्योरेंस इत्यादि।

भारत में जितने भी इंश्योरेंस देनी वाली कंपनियां है, वह सभी अपनी इंश्योरेंस और पॉलिसियों को बेचने के लिए इंश्योरेंस एजेंट को नियुक्त करती हैं। इसमें सबसे बड़ी कंपनी है एलआईसी, जिसे हम लाइफ इंश्योरेंस कॉरपोरेशन भी कहते हैं।

अगर आप भी एलआईसी एजेंट बनकर अपनी नौकरी के साथ-साथ पार्ट टाइम काम करके अतिरिक्त कमाई करना चाहते हैं, तो हमारे आज के इस आर्टिकल को पूरा अवश्य पढ़ें|

LIC एजेंट कैसे बने

LIC एजेंट बनने के लिए क्या करे

Lic Agent kaise bane

क्योंकि आज के इस आर्टिकल में हम आपको एलआईसी एजेंट के बारे में पूरी जानकारी देने वाले हैं। आज के इस आर्टिकल में आप जानेंगे कि एलआईसी एजेंट क्या है|

एलआईसी एजेंट बनने के लिए कौन सी पढ़ाई करनी पड़ती है, एलआईसी एजेंट की तनख्वाह कितनी होती है, एलआईसी एजेंट का कमीशन कितना होता है, एलआईसी एजेंट कौन से काम करता है इत्यादि, तो चलिए जानते हैं कि एलआईसी एजेंट कैसे बनते हैं।

1. इंश्योरेंस एजेंट कौन है

आपने कभी ना कभी अपने किसी सगे संबंधी को आप से या फिर आपके किसी और सगे संबंधी से कोई इंश्योरेंस पॉलिसी को लेने के लिए बात करते हुए तथा उन्हें उसके बारे में समझाते हुए देखा होगा|

और आपने यहां तक भी सुना होगा कि वह इंश्योरेंस एजेंट आपको अथवा आपके सगे संबंधियों को यह भी कहता है कि आपकी प्रीमियम के पैसे मैं भर दूंगा और जब आपके पास पैसे आए तब आप मुझे लौटा देना।

ऐसे में क्या आपने कभी यह सोचने की कोशिश की है कि आखिर वह व्यक्ति खुद ही क्यों दूसरों के पैसे भर रहा है। अगर आप नहीं जानते तो, हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि वह व्यक्ति एक इंश्योरेंस एजेंट होता है|

और वह यही चाहता है कि वह ज्यादा से ज्यादा पॉलिसी बेचे कयोंकि जब वह ज्यादा पॉलिसी बेचेगा, तो उसकी कमाई भी ज्यादा ही होगी। इसके लिए कई बार इंश्योरेंस एजेंट अपने पास से ही किसी पॉलिसी के पैसे भरकर उस पॉलिसी को सामने वाले व्यक्ति को बेचते हैं और इसके बाद जब वह ग्राहक अपना प्रीमियम भरता है तो उस पॉलिसी को बेचने वाले एजेंट को कमीशन मिलता है।

2. एल आई सी का फुल फॉर्म

अगर आप एलआईसी का फुल फॉर्म नहीं जानते, तो आपकी जानकारी के लिए बता दें कि एलआईसी का फुल फॉर्म होता है लाइफ इंश्योरेंस कॉरपोरेशन और एलआईसी को हिंदी में भारतीय जीवन बीमा निगम कहा जाता है।

3. एलआईसी की स्थापना कब हुई

आप में से बहुत से लोग यह नहीं जानते होंगे कि भारत की सबसे बड़ी इंश्योरेंस प्रदाता कंपनी एलआईसी की स्थापना कब हुई थी। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि भारतीय जीवन बीमा निगम की स्थापना साल 1956 में 19 जनवरी को हुई थी|

परंतु इसके पहले कोलकाता की एक ब्रिटिश फर्म कंपनी ने ओरिएंटल लाइफ इंश्योरेंस की स्थापना की थी, लेकिन साल में 1871 में स्थापित बॉम्बे म्युचुअल लाइफ इंश्योरेंस सोसाइटी पहली ऐसी बीमा कंपनी थी|

जिसने सामान्य प्रीमियम की दर पर भारतीय लोगों को जीवन बीमा इंश्योरेंस देने की शुरुआत की। इसके बाद जब हमारा भारत देश अंग्रेजों की गुलामी से आजाद हुआ तो साल 1956 में 19 जनवरी को केंद्र सरकार ने सभी भारतीय और विदेशी बीमा कंपनियों को अपने अधिकार में लेकर 1 सितंबर साल 1956 में उनका राष्ट्रीयकरण कर दिया।

4. एलआईसी एजेंट बनने के लिए पढाई

अगर आप एलआईसी एजेंट बनना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको दसवीं और बारहवीं कक्षा का पास होना जरूरी है। इसके अलावा आपकी कम से कम उम्र 18 साल होनी चाहिए, क्योंकि 18 साल होने पर व्यक्ति कानूनी रूप से बालिक हो जाता है।अगर आपने ग्रेजुएशन किया है तब भी आप एलआईसी एजेंट बन सकते हैं

5. एलआईसी एजेंट बनने की प्रक्रिया

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि भारतीय जीवन बीमा निगम निगम एक ऐसी संस्था है, जो पिछले 50 सालों से भी अधिक वर्षों से हमारे भारत देश के लोगों की सेवा कर रही है।

यह संस्था हर उस व्यक्ति के लिए है, जो जीवन बीमा पॉलिसी लेने में इंटरेस्टेड रहता है। फिर चाहे वह आम इंसान हो या खास इंसान हो। हमारे भारत देश के लोगों का इस कंपनी पर अटूट विश्वास है, इसलिए हर साल इस कंपनी से लाखों लोग जीवन बीमा पॉलिसी करवाते हैं।

एलआईसी कंपनी में इंश्योरेंस एजेंट बनने के लिए आपको ऑनलाइन आवेदन करना होता है। इसके लिए आपको सबसे पहले अपने घर के आस-पास स्थित एलआईसी की शाखा या फिर कार्यालय में जाना होता है|

और वहां के विकास अधिकारी से मिलना होता है और अगर विकास अधिकारी आपको एलआईसी एजेंट बनने के लिए उपयुक्त व्यक्ति समझता है, तो फिर आपको एलआईसी एजेंट बनने के लिए जो ट्रेनिंग होती है, उसके लिए बुलाया जाता है।

यह ट्रेनिंग लगभग 50 घंटों की होती है तथा इस ट्रेनिंग में अभ्यर्थियों को बीमा बिजनेस से संबंधित जानकारियां दी जाती हैं और जब अभ्यर्थी सफलतापूर्वक ट्रेनिंग पूरी कर लेता है, तो फिर अभ्यर्थी को एलआईसी एजेंट रिक्रूटमेंट टेस्ट पास करना होता है।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह परीक्षा भारतीय बीमा नियामक और विकास प्राधिकरण करवाती है।जब आप इस टेस्ट में पास हो जाते हैं, तो इसके बाद आपको एलआईसी की शाखा कार्यालय द्वारा एलआईसी एजेंट के तौर पर नियुक्त कर दिया जाता है।

इसके बाद आप एलआईसी पोलिसी बेच सकते हैं।

6. एलआईसी एजेंट बनने के लिए डॉक्यूमेंट

एलआईसी एजेंट बनने के लिए आपके पास कुछ जरूरी डॉक्यूमेंट भी होने चाहिए, जिसमें आपके पास पासपोर्ट साइज की 6 फोटो, आपके दसवी और बारहवीं कक्षा के सर्टिफिकेट, आप का निवास प्रमाण पत्र, आपकी वोटर आईडी कार्ड,आपका आधार कार्ड और आपका पैन कार्ड शामिल है।

7. एलआईसी एजेंट की सैलरी अथवा कमिशन

आप में से अधिकतर लोगों को यह गलतफहमी होती है, कि एलआईसी एजेंटों को सैलरी मिलती है, परंतु हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह बात बिल्कुल गलत है।

एलआईसी एजेंट को किसी भी प्रकार की कोई सैलरी नहीं मिलती है बल्कि एलआईसी एजेंट की कमाई कमीशन के द्वारा होती है। मतलब कि जब एक एलआईसी एजेंट कोई बीमा किसी व्यक्ति को बेचता है|

तो एलआईसी एजेंट को एक बीमा पॉलिसी कराने पर प्रीमियम से 35% कमीशन मिलता है और यह कमीशन एलआईसी एजेंट जितनी पॉलिसी बेचता है, उन सब के ऊपर मिलता है। इस तरह से एलआईसी एजेंट की कमाई होती है, ना कि इन्हें कोई सैलरी मिलती है।

8. एलआईसी एजेंट बनने के लिए ऑनलाइन एप्लीकेशन

अगर आप एलआईसी एजेंट बनने के लिए ऑनलाइन एप्लीकेशन भरना चाहते हैं, तो इसके लिए सबसे पहले आपको एलआईसी की ऑफिशल वेबसाइट agencycareer.licindia.in पर जाकर अपना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाना होगा।

इसके बाद एलआईसी कार्यालय की तरफ से आपको फोन अथवा ईमेल आएगा। इसमें आपको एलआईसी एजेंट बनने के लिए आगे की प्रक्रिया और नियमों के बारे में बताया तथा समझाया जाएगा। आप की जानकारी के लिए बता दें कि ऑनलाइन प्रक्रिया में आपको सिर्फ बेसिक जानकारी दी जाएगी।

अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए आप एलआईसी के कार्यालय से संपर्क कर सकते हैं या फिर खुद एलआईसी कार्यालय में जाकर जानकारी हासिल कर सकते हैं।

9. एलआईसी एजेंट बनने के फायदे

एलआईसी एजेंट को बीमा पॉलिसी बेचने पर कमीशन तो मिलता ही है, इसके अलावा इन्हें  अन्य कई फायदे भी मिलते हैं, जिसकी जानकारी हमने आपको नीचे दी है।

एलआईसी एजेंट को ब्याज मुक्त एडवांस पैसे जैसे कि त्यौहार मनाने के लिए, दो पहिया अथवा चार पहिया वाहन खरीदने के लिए, घर बनाने के लिए मिलते हैं।

एलआईसी एजेंट को एलआईसी कंपनी की तरफ से ग्रेजुएटी की सुविधा के साथ-साथ कार्यालय भत्ता, ट्रेवल खर्चा, स्टेशनरी खर्चा, डायरी, कैलेंडर, पेन,विजिटिंग कार्ड, लेटर पैड भी मिलता है।

जो थोड़े वृद्ध लोग हैं, वह उम्र में छूट के साथ एलआईसी के कर्मचारी बन सकते हैं और उन्हें इंटरव्यू में भी प्रेफरेंस दी जाती है।

जो व्यक्ति एलआईसी एजेंट होता है, वह आजीवन पॉलिसी बेचने का काम कर सकता है। इसीलिए एक एलआईसी एजेंट कभी भी रिटायर नहीं होता है। वह आजीवन कमाई कर सकता है और पेंशन प्राप्त करने का अधिकार भी रखता है।

10. सफल इंश्योरेंस एजेंट बनने के लिए टिप्स

अगर आप एलआईसी एजेंट के तौर पर सफलता प्राप्त करना चाहते हैं, तो आपको अपने ग्राहकों को अपनी बातों से पूर्ण रूप से संतुष्ट करना होगा।

इसके अलावा आप अपने ग्राहकों को उन्हीं फायदे के बारे में जानकारी दें, जो एलआईसी अथवा इंश्योरेंस कंपनी वास्तव में दे रही हो। ग्राहकों से किसी भी प्रकार के झूठे वादे ना करें ना ही उनसे झूठ बोले कयोंकि जब आपका झूठ पकड़ा जाएगा तब आपसे कोई भी ग्राहक नहीं जुड़ेगा।

एक एलआईसी एजेंट को अपनी कंपनी के द्वारा दी जा रही सभी सुविधाओं और बीमा के बारे में जानकारी होना जरूरी है तथा एलआईसी एजेंट को अपने ग्राहकों को सभी बीमा पॉलिसी के बारे में अच्छे से समझाना आना चाहिए, क्योंकि जब आप के ग्राहक आपकी बातों को अच्छी समझेंगे तभी वह आपसे इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदेंगे।

एलआईसी एजेंट बनने के लिए आपकी कम्युनिकेशन स्किल अच्छी होनी चाहिए क्योंकि एलआईसी एजेंट को सबसे पहले इंश्योरेंस पॉलिसी के बारे में ग्राहकों को समझाना होता है और उन्हें इंश्योरेंस पॉलिसी लेने के लिए कंवेंस करना होता है।

एक सफल एलआईसी एजेंट बनने के लिए आपको सोशल मीडिया का इस्तेमाल भी करना आना चाहिए क्योंकि जब भी आपकी  कंपनी सस्ते और अच्छे बीमा प्लान लॉन्च करती है, तो आप सोशल मीडिया के माध्यम से उस पॉलिसी के बारे में अपने ग्राहकों तथा अन्य लोगों को जानकारी दे सकते हैं।

एलआईसी एजेंट को इंश्योरेंस कंपनी की तरफ से आयोजित होने वाले सेमिनार अथवा कांफ्रेंस में भाग लेना चाहिए, क्योंकि वहां पर ऐसे कई व्यक्ति आते हैं, जो सफल एलआईसी एजेंट होते हैं, इससे आपको उनसे प्रेरणा लेने का मौका मिलेगा।

11. इंश्योरेंस के प्रकार

आम तौर पर भारत में दो प्रकार के इंश्योरेंस बहुत अधिक बेचे जाते हैं, जिनमें पहला होता है लाइफ इंश्योरेंस और दूसरा होता है जनरल इंश्योरेंस।

#1 लाइफ इंश्योरेंस

लाइफ इंश्योरेंस की समय सीमा लंबी होती है और इसमें लंबे समय तक इन्वेस्टमेंट किया जाता है।इस इंश्योरेंस का लाभ तब मिलता है जब लाभार्थी की मृत्यु हो जाती है।

लाभार्थी की मृत्यु के बाद इंश्योरेंस का लाभ उसके परिवार वालों को मिलता है या फिर जब इंश्योरेंस की अवधि पूरी हो जाती है, तो लाभार्थी को मिलता है।

#2 जनरल इंश्योरेंस

जनरल इंश्योरेंस में मुख्य तौर पर हेल्थ इंश्योरेंस, ऑटोमोबाइल इंश्योरेंस, वाहन इंश्योरेंस इत्यादि क्षेत्र आते हैं।

12. भारत की इंश्योरेंस प्रदाता कंपनियों की सूची

  • श्री राम व्हीकल इंश्योरेंस
  • एचडीबी व्हीकल इंश्योरेंस
  • एलआईसी इंडिया जीवन बीमा
  • स्टार इंडिया मेडिकल इंश्योरेंस
  • ओरिएंटल इंश्योरेंस
  • रिलायंस हेल्थ केयर इंश्योरेंस
  • आदित्य बिरला मेडिकल इंश्योरेंस

आपकी और दोस्तों

तो दोस्तों यह था एक एलआईसी एजेंट कैसे बने| हम उम्मीद करते हैं कि इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आप सब को पता चल गया होगा कि एक एलआईसी एजेंट बनने के लिए क्या करना पड़ता है|

यदि आपको हमारे इस आर्टिकल से कुछ मदद मदद मिली हो इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ और घर परिवार वालों के साथ फेसबुक और व्हाट्सएप पर अवश्य शेयर करें ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों को यह पता चल पाए कि यह एलआईसी एजेंट बनने के लिए क्या करना चाहिए धन्यवाद दोस्तों|

Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published.