ईश्वर जो करता है अच्छा ही करता है कहानी स्टोरी



ईश्वर जो करता है अच्छा ही करता है कहानी – हेलो दोस्तों आज एक बार फिर हम आप लोगों के साथ एक जबरदस्त हिंदी कहानी शेयर करने वाले हैं और यह कहानी पढ़ने के बाद आप लोगों को पता चल जाएगा कि भगवान जो भी करता है हमेशा अच्छे के लिए करता है.

बहुत लोग कहते हैं कि हमारे साथ भगवान ऐसा क्यों कर रहा है और हमारे साथी इतना बुरा क्यों होता है. दोस्तों कई बार हमारे साथ कुछ ऐसा हो जाता है जिसको हम उस समय पर खराब समझते हैं लेकिन अंत में हमको पता चल जाता है कि भगवान ने जो कुछ भी हमारे साथ किया था वह अच्छे के लिए किया था.

और यही बात आप लोगों को हम इस कहानी के माध्यम से एहसास कराएंगे इसलिए हम आप लोगों से रिक्वेस्ट करेंगे कि इस कहानी को आप पूरा अंत तक पर है. चलिए दोस्तों आज की कहानी शुरू करते हैं.

पढ़े – देश भक्ति पर कहानी

ईश्वर जो करता है अच्छा ही करता है कहानी

भगवन जो करता है अच्छे के लिए ही करता है स्टोरी

ishwar jo karta hai achha hi karta hai

किसी गांव में एक राजा रहता था और उसके साथ एक मंत्री रहता था. उस मंत्री को भगवान और ईश्वर पर बहुत ज्यादा भरोसा और विश्वास था. उसके मुंह में हमेशा एक ही बात रहती थी कि ईश्वर जो भी करता है अच्छे के लिए करता है.

एक बार अचानक से कुछ मंत्री का पुत्र मर जाता है. इस घटना के होने के बाद गांव की सभी लोग मंत्री के साथ सहानुभूति प्रकट करने के लिए उसके पास आते हैं लेकिन मंत्री उन सब लोगों से कहता है कि भगवान जो करता है अच्छा ही करता है.

अगर मेरे पुत्र की मृत्यु हुई है और यह भगवान की मर्जी है हम इंसान इसमें कुछ नहीं कर सकते हैं. दुख तो मुझको बहुत हो रहा है लेकिन भगवान की मर्जी से यह संसार चल रहा है.

मंत्री के मुंह से ऐसी बात सुनकर पूरे गांव वाले आश्चर्यचकित रह गए और उनका मुंह खुला का खुला ही रह गया खुशी का पुत्र मरा है और उसका पिता ऐसी बात कर रहा है.

कुछ दिन बाद राजा की एक उंगली चाकू से कट जाती है. तभी उस मंत्री ने तुरंत ही राजा के सामने कह दिया कि आपको चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है यदि आप की उंगली कट गई है तो इसमें भगवान की मर्जी होगी.

पढ़े – Rabbit and Lion Story in Hindi

यह बात सुनकर राजा को बहुत ज्यादा गुस्सा और क्रोध आया और उसने उस मंत्री को तुरंत ही अपने सैनिकों को बुलाकर अपने राजमहल से बाहर निकाल दिया.

कुछ दिन बाद राजा ने उस मंत्री को अपने राजमहल में बुलाया और उसको अपने साथ जंगल में शिकार करने के लिए मिलकर चला गया. जंगल में अकेले राजा और मंत्री को देखकर वहां छुपे हुए डाकुओं ने राजा और मंत्री को घेर लिया.

राजा और मंत्री को वह लोग अपनी देवी की बलि चढ़ाने के लिए अपने साथ ले गए. बलि देने से पहले डाकुओं ने राजा और मंत्री की पूरी जानकारी लेना चाहा. तब बाद में पता चला कि मंत्री का तो पुत्र ही नहीं है और राजा की एक उंगली कटी हुई है.

यह सुनकर डाकू ने राजा और मंत्री को वापस भेज दिया और उनकी बलि नहीं चढ़ाई गई. उन्होंने कहा कि हमारी देवी को पुत्रहीन व्यक्ति और अंगहीन की बलि नहीं चढ़ाते हैं.

उसके बाद मंत्री और राजा खुशी-खुशी अपने राजमहल लौट गए लेकिन रास्ते में राजा ने मंत्री से कहा किसी ने ठीक कहा था ईश्वर जो करता है अच्छे के लिए करता है. इसके बाद राजा और मंत्री एक दूसरे के और भी ज्यादा पास हो गए.

शिक्षा – यह कहानी से हम लोगों को यह शिक्षा मिलती है कि ईश्वर पर भरोसा रखने वाले व्यक्ति पर किसी प्रकार का संकट नहीं आता है और भगवान जो भी करता है हमेशा हमारी अच्छाई के लिए करता है.

पढ़े – अंत भले का भला पर हिंदी कहानी

आपकी और दोस्तों

दोस्तों यह था ईश्वर जो करता है अच्छे के लिए ही करता है पर कहानी हम उम्मीद करते हैं कि आज की है हिंदी स्टोरी आप लोगों को जरूर पसंद आई होगी.

आप इस कहानी को अपने दोस्तों के साथ और घर परिवार वालों के साथ जरुर शेयर करें ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों को पता चल जाए की भगवान जो भी करता है हमारे भलाई के लिए करता है. और दोस्तों ऐसे ही और भी हिंदी स्टोरी और लाभदायक आर्टिकल पढ़ने के लिए नियमित रूप से हमारे ब्लॉग पर आया करें.