आईपीएस ऑफिसर कैसे बने | आईपीएस ऑफिसर बनने के लिए क्या करें

आईपीएस ऑफिसर कैसे बने: भारत में 12वीं कक्षा पास करने के बाद से ही विद्यार्थियों को अपने भविष्य की चिंता सताने लगती है। 12वीं कक्षा पास करने के बाद उनके सामने सबसे बड़ी यही दूविधा रहती है कि अब वह आगे क्या करें।

आप तो जानते ही हैं कि व्यक्ति को सफल होने के लिए उसका पढ़ा लिखा होना बहुत जरूरी होता है क्योंकि आज पढ़ाई के दम पर ही व्यक्ति को अच्छी खासी नौकरी मिलती है।

हम यह बिल्कुल भी नहीं कह रहे कि जो लोग पढ़े लिखे नहीं हैं वह लोग सफल नहीं हो पाते परंतु वर्तमान के समय को देखते हुए पढ़ाई का महत्व ज्यादा है।

हमारे भारत देश में शुरू से ही सरकारी नौकरी का काफी क्रेज रहा है क्योंकि जिस व्यक्ति को सरकारी नौकरी मिल जाती है, उसे पैसे के साथ-साथ पावर और समाज में मान सम्मान भी मिलता है और उसका कैरियर अच्छे से स्थापित हो जाता है।

इसीलिए हर साल यूपीएससी द्वारा आयोजित परीक्षा में कई लड़के और लड़कियां सरकारी पदों पर नियुक्त होते हैं। वैसे तो भारत में बहुत से सरकारी पद है परंतु भारतीय विद्यार्थियों को सबसे ज्यादा आईपीएस का पद पसंद होता है।

अगर आप भी पढ़ लिख कर के आईपीएस बनना चाहते हैं परंतु आपको आईपीएस कैसे बने, इसके बारे में जानकारी नहीं है तो चिंता करने की कोई बात नहीं है.

अनुक्रम दिखाएँ

आईपीएस ऑफिसर कैसे बने

आईपीएस ऑफिसर बनने के लिए क्या करें

IPS officer kaise bane

दोस्तों इससे पहले की हम आपको ये बताये की एक आईपीएस ऑफिसर कैसे बनते है उससे पहले हम आपको बताना चाहते है की एक आईपीएस ऑफर क्या होता है और उससे रिलेटेड कुछ बहुत ही जरुरी जानकारी.

आगे इस आर्टिकल में हम आपको बताएँगे की आईपीएस ऑफिसर बनने की तैयारी कैसे करे. चलो फिर आगे बढ़ते है.

आईपीएस किसे कहते हैं

What is IPS in Hindi

भारत की सभी सिविल सर्विस में आईपीएस का पद ऊंचा माना जाता है। यह आईएएस के बाद आता है। आपकी जानकारी के लिए बता बता दें कि आईपीएस के पद की स्थापना साल 1948 में की गई थी।

आईपीएस भारत की तीन मुख्य सिविल सर्विस में से एक है।आईपीएस का पूरा नियंत्रण गृह मंत्रालय के पास होता है।आईपीएस की परीक्षा का आयोजन भारत की संस्था यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन के द्वारा किया जाता है।यह परीक्षा हर साल आयोजित होती है|

जो व्यक्ति इस परीक्षा को पास कर लेता है उसे आईपीएस के पद पर नियुक्त किया जाता है।शायद आप जानते ना हो परंतु सीबीआई, आईबी और रॉ जैसी संस्थाओं को भी आईपीएस अधिकारी को संभालने के लिए दिया जाता है।

आईपीएस का फुल फॉर्म

Fullform of IPS in Hindi

अगर हम आईपीएस के फुल फॉर्म की बात करें तो इसका फुल फॉर्म होता है “इंडियन पुलिस सर्विस” जिसे हिंदी में भारतीय पुलिस सेवा कहा जाता है। आईपीएस के पद की भर्ती संघ लोक सेवा आयोग के द्वारा की जाती है।

आईपीएस ऑफिसर का काम

Job Profile of IPS officer

वैसे तो एक आईपीएस अफसर को बहुत सारे काम करने होते हैं परंतु उनमें से जो मुख्य काम है, उसकी जानकारी हम आपको नीचे दे रहे हैं।

  • एक आईपीएस अधिकारी का सबसे मुख्य काम होता है कि वह अपराधियों को गुनाह करने से रोके और अगर किसी अपराधी ने गुनाह किया है तो उसे जल्द से जल्द गिरफ्तार करके अदालत के सामने पेश करें।
  • एक आईपीएस अधिकारी कानून व्यवस्था का अच्छे से पालन करता है तथा करवाता है।
  • आईपीएस अधिकारी नशीली दवाओं की तस्करी तथा उनके कारोबार को रोकने का काम करता है।
  • इसके अलावा मानव तस्करी, आतंकवाद को रोकने का काम, सीमा सुरक्षा को बनाए रखने का काम तथा दंगों को रोकने का काम भी करता है।

आईपीएस के लिए शैक्षिक योग्यता

Education Qualification for IPS officer

अगर आप आईपीएस अधिकारी बनना चाहते हैं तो इसके लिए आपको किसी भी विषय से ग्रेजुएशन होना अनिवार्य है। इसके अलावा जो लोग ग्रेजुएशन के अंतिम सेमेस्टर की परीक्षा दे रहे हैं या फिर देने वाले हैं, वह लोग भी आईपीएस बनने की परीक्षा में शामिल हो सकते हैं।

आईपीएस बनने के लिए उम्र

Required Age To Become An IPS officer

आईपीएस की परीक्षा देने वाले अभ्यर्थियों की उम्र 21 साल से लेकर 30 साल के बीच होनी चाहिए। इसके अलावा जो लोग एससी एसटी, ओबीसी की कैटेगरी में आते हैं तथा आरक्षण पाते हैं, वैसे लोगों को सरकार द्वारा उम्र में 5 साल की छूट दी जाती है।

इसके अलावा आईपीएस बनने के लिए आपका भारतीय नागरिक होना जरूरी है, साथ ही ऐसे व्यक्ति जो नेपाल और भूटान के हैं वह भी भारतीय आईपीएस पद के लिए आवेदन कर सकते हैं।

आईपीएस बनने के लिए शारीरिक योग्यता

Physical Requirements for IPS officer

1. लंबाई (Height)

अगर आप आईपीएस बनना चाहते हैं और आप सामान्य कैटेगरी से हैं तो आप की लंबाई 165 सेंटीमीटर होनी चाहिए।इसके अलावा अगर आप आरक्षण की श्रेणी में आते हैं तो आप की लंबाई 160 सेंटीमीटर होनी चाहिए।

वही जो महिलाएं सामान्य श्रेणी में आती है उनकी लंबाई 150 सेंटीमीटर तथा जो महिलाएं आरक्षण की श्रेणी मे आती है, उनकी लंबाई 145 सेंटीमीटर होनी चाहिए।

2. सीना (Chest)

आईपीएस बनने के लिए पुरुष उम्मीदवारों का सीना कम से कम 84 सेंटीमीटर तथा महिला उम्मीदवारों का सीना कम से कम 79 सेंटीमीटर होना जरूरी है, तभी आप आईपीएस बन सकते हैं।

3. आंखों की रोशनी (Eye Sight)

आईपीएस के पद के लिए आई साइट 6/6 या 6/9 होना जरूरी है वही कमजोर आंखों के लिए 6/12 या 6/9 विजन होना जरूरी है।

आईपीएस के लिए परीक्षा पैटर्न और पाठ्यक्रम

IPS exam pattern and syllabus

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि आईपीएस की परीक्षा का आयोजन यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन करवाती है।

यह परीक्षा हर साल होती है।आईपीएस बनने की परीक्षा दो स्टेप्स में होती है, जिसमें पहले प्रारंभिक परीक्षा देनी पड़ती है फिर मुख्य परीक्षा देनी पड़ती है। इन दोनों का परीक्षा पैटर्न और पाठ्यक्रम नीचे बताए अनुसार हैं।

1. प्रारंभिक परीक्षा पैटर्न|Preliminary exam pattern

प्रारंभिक परीक्षा में 2 पेपर होते हैं। इसमें पहला पेपर जनरल स्टडी का और दूसरा पेपर सीसैट का होता है।यह दोनों पेपर 200-200 अंक के होते हैं।

मतलब की टोटल 400 अंक होते हैं तथा इसमें सभी सवाल ऑब्जेक्टिव होते हैं तथा इसके पहले पेपर में 100 सवाल होते हैं और दूसरे पेपर में 80 सवाल होते हैं।

इस परीक्षा को देने के लिए आपको यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन द्वारा 2 घंटे का समय दिया जाता है और आप इस परीक्षा को हिंदी या अंग्रेजी किसी भी भाषा में दे सकते हैं।

प्रारंभिक परीक्षा सिलेबस

Preliminary exam syllabus

पेपर 1:

इस पेपर में राष्‍ट्रीय और अंतरराष्‍ट्रीय,भारतीय इतिहास और भारतीय राष्‍ट्रीय आंदोलन, जनरल साइंस,पब्लिक पॉलिसी), आर्थिक और सामाजिक विकास (सस्‍टेनेबल डवलपमेंट, गरीबी, जनसंख्‍या), इनवायरमेंटल इकोलॉजी, बायो-डायवर्सिटी, क्‍लाइमेट चेंज, भारत और विश्‍व का भूगोल, भारतीय राज तंत्र और गवर्नेंस (संविधान, पॉलिटिकल सिस्‍टम, पंचायती राज और समसामयिक विषय, जैसे विषयों से ऑब्‍जेक्टिव सवाल पूछे जाते हैं।

पेपर 2:

इस पेपर में डिसिजन मेकिंग और प्रॉब्‍लम सॉल्विंग, जनरल मेंटल एबिलिटी,कॉम्प्रिहेंशन, इंटर पर्सनल स्किल्‍स, लॉजिकल रीजनिंग और एनालिटिकल एबिलिटी,बेसिक न्‍यूमरेसी और डेटा इंटरप्रिटेशन से संबंधित सवाल पूछे जाते हैं।

2. मुख्य परीक्षा पैटर्न

Main exam pattern

जब आईपीएस बनने की इच्छा रखने वाला उम्मीदवार प्रारंभिक परीक्षा को पास कर लेता है तो उसे फिर मुख्य परीक्षा देनी होती है।इस परीक्षा में आपको टोटल 9 पेपर देने होते हैं, जिनमें से आप को 7 पेपर पर बहुत अधिक ध्यान देना होता है क्योंकि आप की मेरिट इन्ही 7 पेपरों में प्राप्त अंकों के आधार पर बनाई जाती है। इस परीक्षा में हर पेपर 250 अंकों का होता है।आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस परीक्षा में आपको पास होने के लिए कम से कम 33% अंक लाना जरूरी है और अगर आप इससे ज्यादा अंक लाते हैं तो आपके सिलेक्शन के चांस ज्यादा हो जाएंगे।

मुख्य एग्जाम सिलेबस

Main exam syllabus

पेपर 1:

इस पेपर में आपको दिए गए विकल्पों में से किसी एक विषय पर निबंध लिखना होता है। यह पेपर टोटल 250 अंकों का होता है।

पेपर 2:

इस पेपर में आपसे विश्व का इतिहास और भूगोल तथा समाज तथा भारतीय विरासत और संस्कृति से संबंधित सवाल पूछे जाते हैं। यह पेपर भी 250 अंकों का होता है।

पेपर 3:

इस पेपर में आपसे शासन व्यवस्था, सामाजिक न्याय, राजनीति, अंतरराष्ट्रीय संबंध तथा संविधान शासन प्रणाली से संबंधित सवाल किए जाते हैं। यह पेपर भी 250 अंकों का होता है।

पेपर 4:

इस पेपर में आपसे टेक्नोलॉजी, आर्थिक विकास, जैव विविधता, पर्यावरण तथा सुरक्षा से संबंधित सवाल किए जाते हैं। यह पेपर भी 250 अंकों का होता है।

पेपर 5:

इस पेपर में आपसे जनरल स्टडी, सत्य निष्ठा और अभिरुचि से संबंधित सवाल किए जाते हैं।यह पेपर भी 250 अंकों का होता है।

पेपर 6,7:

यह दोनों पेपर 250-250 अंकों के होते हैं। इन दोनों पेपर में आपसे मानव विज्ञान, बॉटनी, केमिस्‍ट्री, सिविल इंजीनियरिंग,एग्रीकल्‍चर, एनिमल हस्‍बेंड्री और वेटनरी साइंस, कॉमर्स और एकाउंटेंसी, इकनॉमिक्‍स, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग,फिलॉसफी, फिजिक्‍स, पॉलिटिकल साइंस और अंतरराष्‍ट्रीय संबंध,भूगोल, भू-विज्ञान, इतिहास, लॉ, मैनेजमेंट, मकेनिकल इंजीनियरिंग, मेडिकल साइंस,मनोविज्ञान, पब्लिक एडमिनिस्‍ट्रेशन, समाजशास्‍त्र, स्‍टेटस्टिक्‍स, जू़लॉजी से संबंधित सवाल पूछे जाते हैं।

आईपीएस का इंटरव्यू

Interview of IPS officer

जो उम्मीदवार आईपीएस बनने की मुख्य परीक्षा को पास कर लेते हैं, उन्हें परीक्षा पास करने के बाद इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि आईपीएस का इंटरव्यू कुल 45 मिनट का होता है और आईपीएस उम्मीदवार का इंटरव्यू काफी पढ़े लिखे लोग करते हैं।

इंटरव्यू देने के बाद मेरिट लिस्ट बनाई जाती है। इस इंटरव्यू में आपसे करंट अफेयर, आपके बारे में जानकारी और आपका दिमाग कितना तेज चलता है इत्यादि चीजें पूछे जाती हैं।

इसके अलावा कभी-कभी इंटरव्यू लेने वाले लोग सीधी बात को भी इस तरह घुमा फिरा कर पूछते हैं कि आप असमंजस में पड़ जाए। इसके पीछे उनका यह उद्देश होता है कि आप अपने दिमाग का कितना इस्तेमाल करते हैं तथा आप कितने एक्टिव रहते हैं।

आईपीएस की ट्रेनिंग

Training of IPS officer

जो उम्मीदवार आईपीएस की नौकरी के लिए सिलेक्ट हो जाते हैं उन्हें 1 साल की ट्रेनिंग कराई जाती है।यह ट्रेनिंग सबसे पहले मसूरी में और उसके बाद हैदराबाद में होती है।

इस ट्रेनिंग में उम्मीदवार को भारतीय दंड धाराओं के बारे में, भारतीय कानून के बारे में तथा क्रिमिनोलॉजी की ट्रेनिंग प्रदान की जाती है।

आईपीएस बनने के अन्य विकल्प

Options to become An IPS officer

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि आईपीएस बनने के दो रास्ते हैं। इसमें पहला रास्ता यह है कि आप संघ लोक सेवा द्वारा आयोजित परीक्षा को पास करें और दूसरा रास्ता यह है कि आप राज्य द्वारा कराई जाने वाली पीसीएस की परीक्षा को पास करें और फिर एसपी के पद को प्राप्त करें और इसके बाद लगातार 8 से 10 सालों तक नौकरी करने के बाद प्रमोशन पाकर आईपीएस अधिकारी बने।

आईपीएस ऑफिसर की सैलरी कितनी होती है?

Salary of IPS officer

एक आईपीएस ऑफिसर को सैलरी उसके पद के अनुसार मिलती है। नीचे हमने अलग अलग पदों के लिए कितनी सैलरी मिलती है उसकी जानकारी दी है।

1. डेप्युटी सुपरिंटेंडेंट ऑफ पुलिस

15,600-39,100 (Grade Pay Of 5,400)

2. अडिशनल सुपरिंटेंडेंट ऑफ पुलिस(डीएसपी)

15,600-39,000 (Grade Pay 6,600)

3. सुपरिंटेंडेंट ऑफ पुलिस (एसपी) या डेप्युटी कमिशनर ऑफ पुलिस(डीसीपी)

15,600-39,000 (Grade Pay 7,600)

4. सीनियर सुपरिंटेंडेंट ऑफ पुलिस (एसएसपी) या डेप्युटी कमिशनर ऑफ पुलिस(डीसीपी)

15,600-39,000 (Grade Pay 8,700)

5. डेप्युटी इंस्पेक्टर जनरल ऑफ पुलिस या अडिशनल कमिशनर ऑफ पुलिस

37,400-67,0000 (Grade Pay 8,900)

6. इंस्पेक्टर जनरल ऑफ पुलिस (आईजीपी) या जॉइंट कमिशनर ऑफ पुलिस

37,400-67,000 (Grade Pay 10,000)

7. अडिशनल डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस (एडीजीपी) या स्पेशल कमिशनर ऑफ पुलिस(एससीपी)

37,400-67,000 (Grade Pay 12,000)

8. डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस (डीजीपी) या कमिशनर ऑफ पुलिस(सीपी)

80,000 (No Grade Payment)

आईपीएस की एग्जाम कितनी बार दे सकते हैं?

अक्सर कई बार जो लोग आईपीएस की परीक्षा पास नहीं कर पाते हैं उनके मन में यह सवाल जरूर आता है कि क्या वह दोबारा आईपीएस की परीक्षा दे सकते हैं या नहीं।

अगर आप भी यही सोचते हैं तो आपकी जानकारी के लिए बता दें कि जो व्यक्ति सामान्य वर्ग से हैं वह 32 साल की उम्र तक लगातार छह बार आईपीएस की परीक्षा दे सकते हैं।

इसके अलावा जो लोग ओबीसी समुदाय से हैं वह लोग लगातार 9 बार 35 साल की उम्र तक आईपीएस की परीक्षा दे सकते हैं।इसके साथ ही जो लोग एससी एसटी की श्रेणी में आते हैं वह लोग लगातार 37 साल तक आईपीएस की परीक्षा दे सकते हैं।

आईएएस और आईपीएस में कौन ज्यादा पावरफुल होता है?

सिविल सेवा की तैयारी करने वाले हर अभ्यर्थी के मन में यह सवाल जरूर आता है कि आखिर आईपीएस और आईएएस में से किसकी पावर ज्यादा होती है।

वैसे यह दोनों ही पद बहुत बड़े पद हैं परंतु अगर हम पावर की बात करें तो आईपीएस से ज्यादा एक आईएएस अधिकारी की पावर होती है।

जब एक आईएएस अधिकारी डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट बनता है तो वह पुलिस विभाग के साथ-साथ अन्य विभागों का भी हेड होता है परंतु एक आईपीएस अधिकारी सिर्फ अपने पुलिस विभाग का ही मुखिया होता है और उसके ऊपर पुलिस विभाग की जिम्मेदारी होती है।

आईएएस अधिकारी किसी भी आईपीएस अधिकारी को कानून व्यवस्था संभालने के लिए निर्देश दे सकता है। अगर आईएएस अधिकारी ने किसी आईपीएस अधिकारी को कोई निर्देश दिए हैं तो आईपीएस अधिकारी का यह कर्तव्य है कि वह उन निर्देशों का पालन करें।

रिलेटेड पोस्ट:

आईएएस ऑफिसर कैसे बने

डॉक्टर बनने के लिए कोनसा कोर्स करे 

आईपीएस ऑफिसर की तयारी कैसे करते है

सरकारी टीचर बनने के लिए क्या करना चाहिए

आपकी और दोस्तों:

तो दोस्तों ये था एक आईपीएस ऑफिसर कैसे बने, हम उम्मीद करते है की इस पोस्ट को पूरा पढ़ने के बाद आपको आईपीएस ऑफिसर बनने की पूरी जानकारी मिल गयी होगी.

हमने इस पोस्ट में आपके साथ सभी सही जानकारी शेयर करी है और यदि आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो प्लीज इस पोस्ट को १ लिखे जरुर करे और अपने दोस्तों के साथ फेसबुक और whatsapp पर अवश्य शेयर करे ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगो को आईपीएस ऑफिसर बनने की पूरी जानकारी मिल पाए. धन्येवाद दोस्तों.

Leave a Comment

Your email address will not be published.