हिंदी भाषा पर कविता | Hindi Bhasha Poem in Hindi

Hindi Bhasha Poem in Hindi: नमस्कार दोस्तों आज के इस पोस्ट में हम आपके साथ हिंदी भाषा पर कविता शेयर करने वाले है जिसको पढ़कर आपको बहुत अच्छा लगेगा। दोस्तों आप हर एक टॉपिक पर इंटरनेट पर कविता मिल जाएगी लेकिन हिंदी भाषा पर अच्छी कवितायेँ बहुत काम है|

इसी वजह से हम आज इस पोस्ट में आपके साथ हिंदी भाषा पर पोएम शेयर करेंगे। तो फिर चलिए दोस्तों  बिना टाइम बर्बाद करते हुए सीधे इस पोस्ट को स्टार्ट करते है|

हिंदी भाषा पर कविता

Hindi Bhasha Poem in Hindi

hindi bhasha par kavita

1. हिंदी है महान

हिंदी है हमारी राजभाषा, करना है इसका सम्मान
गर्व से कहो हिंदी हैं हम, हिंदुस्तान है हमारी पहचान।।

राष्ट्रभाषा का दर्जा मिला, हिंदी से हमारी पहचान
हिंदुस्तान के वासी हैं हम, हिंदी हमारा मान सम्मान।।

हिंदी बोलें गर्व अनुभूति के साथ,
इससे मिलती राष्ट्र को पहचान
हिंदी भाषा है मृदुभाषा, बोलने में लगे महान।।

विश्व भर में बोली जाने वाली
सभी भाषाओं में है हिंदी महान
आओ हम सब मिलकर करें हिंदी को बारम्बार प्रणाम।।

बोलने में मत शरमाओ यह है हमारी पहचान
हिंदी है हम हिंद के वासी, वतन हमारा हिंदुस्तान
मीठी बोली, वेशभूषा और हिंदी है, हिंद की पहचान।।

2. हिंदी राजभाषा है

हिंदी राजभाषा है
हम सब की अभिलाषा है।।

हिंदी आन है अभिमान है
हम सब की पहचान हैं।।

हिंदी की बोली है अनमोल
हर पल बढ़ाती ज्ञान है।।

हिंदी का करो मान सम्मान
तभी बनेगी हम सब की पहचान।।

हिंदी है मीठी बोली
हम सबकी शान
इसीलिए है हिंदी से हम सब की पहचान।।

हिंदी में ही पढ़ेंगे लिखेंगे
भारत का हम नाम करेंगे ।।

अंधेरे में भी राह दिखाती
ज्ञान का ये दीपक जलाती।।

हिंदी हो सिरमौर
यह हम सब की अभिलाषा है।।

हिंदी से सदा बढ़ता रहे हमारा मान
फूले फले सदा हिंदी, हिंदी हमारी राष्ट्रभाषा
यही है आशा, बस यही है आशा।।

हिंदी राजभाषा है
हम सब की अभिलाषा है।।

3. हिंदी का उद्भव

हिंदी का उदभव हुआ
कालांतर आर्य भाषाओं में
हिंदी से बना हिंदी शब्द
प्राचीनतम वैदिक भाषाओं में
हिंदी का इतिहास जुड़ा
संस्कृत भाषाओं में
हिंदी बन गई महान हिंदू राज्य भाषाओं में।।

कोमल सी इठलाती हिंदी
शब्दों में रची जाती है
वाक्यों में बोला जाता है
अलंकारों में सुनाई जाती है।।

कहानी हो कविता हो
हर शब्द में समा जाती है
कठिन शब्दों का भावार्थ
सरल शब्दों में बतलाती है।।

संस्कृति को अमर किया हर भारतवासी कहता है
भारतीयता की है पहचान हर हिंद का वासी कहता है।।

4. हिंदी भाषा पर कविता

जब जन्म हुआ हमारा
हमने सबसे पहले क्या बोला होगा
हिंदी भाषा में हमने मां शब्द बोला हुआ।।

इस भाषा में वह संगम है
वह प्यार का अभिनंदन है
अपनत्व झलकता है इससे
हर भाषा का ये संगम है।।

अपनी भाषा होती है हमारे साथ
वह भावों की अभिव्यक्ति में
बोलने में सरल, सुनने की शक्ति में
हर भाषा का सम्मान अलग
पर हिंदी का है मान अलग
बोली जाती सब देशों में
भारतीयता की पहचान सजग।।

यह भाषा नहीं है अभिव्यक्ति है
जन-जन की शक्ति है
गौरवशाली इतिहास है इसका
भारत माता की शक्ति है।।

5. हिंदी भाषी है हम कविता

अंधेरे में भी ज्ञान का दीपक चलाती
प्रकाश पुंज जगमग, अंधेरा मिटाती
ज्ञान की देती है रोशनी हमें
हिंदी करती है रोशन हमें।।

हिंदी में ही पढ़ते लिखते
हिंदी भाषा पर मान करते
हिंदी दिवस मना कर हम हिंदी का सम्मान करते।।

पूर्वोत्तर से लेकर पश्चिम तक हिंदी बोली जाती है
बृज,अवधी भाषा में भी उसकी झलक दिखाई दी जाती है।।

प्राचीन काल से चली आ रही हिंदी भाषी परंपरा
लोगों के दिलों को जोड़े रखती हिंदी भाषी परंपरा
गौरव की अनुभूति कराती हिंदी भाषी परंपरा।।

हिंदी का शब्दकोश विशाल
इसकी विशेषता है कमाल
हिंदी की कवियत्री मीराबाई
विद्यापति थे प्रथम गीतकार।।

आपकी और दोस्तों:

तो दोस्तों ये था हिंदी भाषा पर कविता, हम उम्मीद करते है की आपको हमारी ये सभी पोएम जरूर पसंद आयी होगी| अगर आपको हमारी ये पोएम अच्छी लगी तो प्लीज इसको अपने दोस्तों के साथ शेयर करे क्यूंकि हम चाहते है की ज्यादा से ज्यादा लोगो को हिंदी भाषा पर पोएम पढ़ने को मिले धन्यवाद दोस्तों|

Leave a Comment

Your email address will not be published.