दिवाली पर निबंध – Happy Diwali Essay in Hindi



दिवाली पर निबंध हिंदी में – नमस्कार दोस्तों आज हम आपके सामने दीपावली पर निबंध लेकर आए हैं क्योंकि दिवाली भारत में बहुत बड़ा त्यौहार माना जाता है और पूरे इंडिया में दीपावली को बड़े धूमधाम से मनाया जाता है. इसलिए आज की इस पोस्ट में हम आपके सामने दीपावली पर छोटा निबंध हिंदी में आपके साथ शेयर करने जा रहे हैं हम उम्मीद करते हैं कि आपको हमारा यह निबंध एस्से अच्छा लगेगा

हम इस निबंध को हिंदी में इसलिए लिख रहे हैं क्योंकि बहुत से लोगों को अंग्रेजी समझ में नहीं आती है इसलिए हम अपने इस वेबसाइट पर कोशिश करते हैं कि ज्यादा से ज्यादा हिंदी में लिखने की कोशिश करें ताकि पूरे भारत वासियों को हमारा निबंध पढ़ने में कोई प्रॉब्लम है और दिक्कत का सामना ना करना पड़े

पढ़े – होली पर निबंध

स्कूल में छोटे बच्चों को दीपावली पर निबंध लिखने के लिए बहुत कहा जाता है और हम बड़ों को क्यों मदद करते ही हैं हम छोटे बच्चे जो लोग स्कूल में पढ़ते हैं और विद्यार्थी हैं उनकी भी अपनी वेबसाइट से मदद करना चाहते हैं इसलिए हम उनकी हेल्प करने के लिए आज दीपावली पर निबंध लिखने जा रहे हैं

और हम उम्मीद करते हैं कि स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों को इस पोस्ट से बहुत ज्यादा मदद होगी ताकि वह अपने एग्जाम में अच्छे नंबर प्राप्त कर सके चलिए ज्यादा समय बर्बाद ना करते हुए हम सीधे देखते हैं दिवाली पर निबंध हिंदी में

पढ़े – रक्षा बंधन पर निबंध

दिवाली पर निबंध हिंदी में – दीपावली पर छोटा निबंध

Happy Diwali Essay in Hindi

Happy Diwali Essay in Hindi

भारतवर्ष अनेक त्योहारों का देश है उन परिवारों में से दीपावली हिंदुओं का बहुत पॉपुलर त्यौहार माना जाता है. दिवाली का अर्थ है दीपों की पंक्ति की टीम हिंदी लोग बदली चलाकर उनकी कतार लगा देते हैं.

दीपावली का त्यौहार कार्तिक मास के कृष्णपक्ष की अमावस्या को सारे भारतवर्ष में बड़ी धूमधाम के साथ मनाया जाता है. किसी दिन पहले छोटी दीपावली बता दो दिन पहले धनतेरस मनाया जाता है.

इन दीपो मोमबत्ती तथा बिजली के बल्ब इतनी रोशनी की जाती है कि अमावस्या की रात की पूर्णिमा की रात से जगमगाने लगती है. इस दिन भगवान राम 14 वर्ष का वनवास काटकर सीता तथा लक्ष्मण शरीफ अयोध्या लौटे थे

इस खुशी में अयोध्या में रहने वाले लोग किस दिन दीपक जलाए थे तथा घर घर में मिठाइयां बाटी थी. किस खुशी में लोग आज भी अपने घरों को सजाते हैं तथा आतिशबाजी चलाते हैं. भाई के लिए हर कोई बहुत ज्यादा खुश रहता है और बहुत सारे पटाखे फोड़ते हैं

दीपावली के दिन हर कोई नए कपड़े पहनता है और अपने रिश्तेदारों को हैप्पी दीपावली की शुभकामनाएं देते हैं. दिवाली के दिन सभी बच्चे बूढ़े नए वस्त्र धारण करते हैं और एक दूसरे को गले लगकर हैप्पी दीपावली बोलते हैं

त्यौहार से पूर्व सभी लोग अपनी दुकानें तथा घरों में कलर लगाते हैं और घर की अच्छी तरीके से साफ सफाई करते हैं. दिवाली के दिन हर कोई अपने रिश्तेदारों को मिठाइयां बांटते हैं और तरह-तरह के उपहार देते हैं

दीपावली के दिन हर कोई अपने पूरे परिवार वालों के साथ मिलकर लक्ष्मी पूजन करते हैं और वह लोग भगवान से प्रार्थना करते हैं कि उनके घर में धन की कभी भी कमी ना हो और उनके घर में सुख शांति बनी रहे

वीडियो लक्ष्मी माता की सच्चे मन से और पूरी श्रद्धा के साथ पूजा करते हैं ताकि लक्ष्मी माता उन पर और भी ज्यादा प्रसन्न हो जाए और उनके घर में धन की वृद्धि हो

लक्ष्मी पूजन के बाद वह लोग अपने घर के खिड़की और दरवाजे खोल कर रखते हैं ताकि लक्ष्मी माता प्रवेश कर पाए और उनके घर में उजाला और रोशनी बना रहने के लिए वह लोग अपने घर में भी यह जलाते हैं

लेकिन एक बात यहां पर है कि दीपावली के दिन बहुत से लोग शराब पीते हैं और जुआ खेलते हैं लेकिन इसके वजह से उनकी प्रार्थना पूरी बर्बाद हो जाती है और उनके घर में धन की वृद्धि बिल्कुल भी होती है और लक्ष्मी माता नाराज हो जाती है

इसलिए जो लोग दीपावली के दिन शराब पीते हैं और जुआ खेलते हैं उन लोगों को यह सब चीज बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए ताकि उनके घर में लक्ष्मी माता का प्रवेश अच्छी तरीके से हो पाए और उनके घर में कभी भी पैसे की प्रॉब्लम ना हो

दिवाली मानो खुशियों का त्योहार माना जाता है और पूरे साल में यह केवल एक ही बार आता है और दीपावली के त्यौहार के दिन हर कोई अपनी सारी परेशानी और दुख तकलीफ को पीछे छोड़कर आतिशबाजी में लग जाता है

दीपावली को हरा भरा बनाने के लिए हमको थोड़ा सावधान होना बहुत जरूरी है क्योंकि आजकल प्रदूषण इतना ज्यादा हो गया है जिससे कि हमारा रहन-सहन भी खराब होने लगा है

हमें कोशिश करना चाहिए कि हम ज्यादा धुआं होने वाला पटाखे ना फोड़े और ज्यादा शोर करने वाले पटाखे ना छोड़ें क्योंकि इससे ध्वनि प्रदूषण और वायु प्रदूषण होता है जो कि हमारे लिए बहुत ज्यादा नुकसानदायक है

बहुत ज्यादा आवाज करने वाले पटाखे फोड़ने से छोटे बच्चों को बहुत ज्यादा तकलीफ होती है और जानवरों को बहुत ज्यादा तकलीफ होती है इसलिए हमको बहुत ज्यादा आवाज करने वाले पटाखे नहीं फोड़ने चाहिए ताकि दूसरों को तकलीफ ना हो

दिवाली के दिन हम अपने घर के बाहर रंगोली बनाते हैं और अलग-अलग रंग की मद्दद से हम अपने घर के आंगन को सजाते हैं जिससे कि लक्ष्मी माता और भी ज्यादा प्रसन्न हो जाती है

पढ़े – दिवाली मनाने का कारण

आपकी और देखते

दोस्तों यह था दिवाली पर निबंध या दिवाली पर छोटा निबंध हिंदी में  ( happy diwali essay in hindi ) हम उम्मीद करते हैं कि आज का यह निबंध पढ़कर आपको अच्छा लगा होगा और इस निबंध को आप ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ जरूर शेयर करें

शेयर करने के लिए आप नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करके इसे फेसबुक WhatsApp ट्विटर और गूगल प्लस पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें हैप्पी दीपावली