गोरा बच्चा कैसे पैदा होता है | गोरा बच्चा कैसे पैदा करे तरीका

गोरा बच्चा पैदा कैसे होता है: दुनिया में हर कोई चाहता है कि उसका बच्चा स्वस्थ सुंदर सुडौल गोरा और सबसे अच्छा दिखे। इसके लिए मां-बाप कई सारे प्रयास करते हैं, लेकिन फिर भी कभी-कभी उनके चाहने अनुसार उनका बच्चा सुंदर, गोरा और स्वस्थ नहीं होता। किसी भी चीज को पाने के लिए उसके लिए पहले ही प्रयास करना जरूरी होता है।

आज के इस पोस्ट में हम आपको सुंदर स्वस्थ सुडोल और गोरा बच्चा पाने के उपाय बताएंगे जिन्हें अगर आप अपनाते हैं तो आपका जन्म लेने वाला बच्चा गोल मटोल सुंदर और गोरा पैदा होगा। तो चलिए अब हम जानते हैं प्रेगनेंसी के दौरान किए जाने वाले कुछ उपाय के बारे में जिन्हें आपको प्रेग्नेंट होने के दौरान 9 महीने तक अपनाना है।

सबसे पहले आपको प्रेगनेंसी के दौरान अपना खान-पान को अच्छा रखना चाहिए। इस दौरान महिलाओ को पोषक तत्वो से भरपूर चीजों का सेवन करना चाहिए। तभी बच्चा स्वस्थ और गोरा पैदा होता है।

गोरा बच्चा पैदा कैसे होता है उपाय

गोरा बच्चा कैसे पैदा करे तरीका

gora bacha kaise paida hota hai

1.हरी सब्जियो का सेवन करें

प्रेगनेंसी के दौरान मां को हरी सब्जी, दूध, दही, मौसमी फल जैसे चीजो का सेवन करना बेहद फायदेमंद होता है। इन सब चीजों से बच्चा स्वस्थ और सुंदर होता है। पत्तेदार हरी सब्जियो का सेवन करने से बच्चे के रंग पर बहुत प्रभाव पड़ता है।

हरी सब्जियों में विटामिन A, विटामिन K, फाइबर, पोटेशियम इत्यादि पाए जाते हैं जो के भ्रूण के लिए अच्छा होने के साथ ही बच्चे के रंग को भी गोरा बनाने में प्रभाव कारी होता है।

2. मौसमी फलो का सेवन करें

मौसमी फलो का सेवन गर्भवती महिलाओ के लिए और उनके बच्चो के लिए बहुत लाभकारी है। फलो का सेवन करने से मां और बच्चा दोनो को छोटी-मोटी बीमारियो से लड़ने में ताकत मिलती है और होने वाले बच्चे को भी जल्दी से खांसी, जुकाम जैसी समस्याएं नहीं होती और बच्चा स्वस्थ रहता है।

3.केला खाए

स्वस्थ सुंदर बच्चा पाने के लिए गर्भवती महिलाओ को रोजाना केला खाना चाहिए। फलो में केला सबसे ज्यादा फायदेमंद होता है केला खाने से शरीर में बहुत शक्ति आती है। अगर गर्भवती महिलाएं केला खाती है तो उनका शरीर ठीक होने के साथ ही जन्म लेने वाला बच्चा भी स्वस्थ पैदा होता है।

4. संतरे का सेवन करें

गर्भवती होने के दौरान माता को संतरा खाना चाहिए। बच्चे के रंग को गोरा बनाने के लिए संतरा भी लाभकारी होता है। क्योंकि संतरे में पाए जाने वाले तत्व बच्चे के रंग को निखारता है। संतरे में विटामिन C होने के साथ ही फाइबर भी पाई जाती है। इसका खट्टा मीठा स्वाद तो हर गर्भवती महिला को लुभाता है और इसके खाने से गर्भवती महिलाओ को कब्ज की समस्या नहीं होती। इसीलिए गर्भवती होने के दौरान महिलाओ को संतरा खाना चाहिए और इससे शरीर में पानी की कमी भी महसूस नहीं होती।

5. नारियल का सेवन करें

गर्भावस्ता के दौरान महिलाओ को नारियल खाना चाहिए। क्योंकि नारियल में बहुत ज्यादा पोटेशियम होता है जो बच्चे की त्वचा और बालो के लिए फायदेमंद होता है। गर्भावती महिलाओ को नारियल पानी भी पीना , यह भी बच्चे के लिए फायदेमंद होता है। नारियल का सफेद रंग त्वचा के मिलेनिन में मिलकर रक्त संचार में मदद करता है जिस कारण त्वचा का रंग भी साफ होता है।
इसीलिए गर्भवति महिलाओ को नारियल खाना । इससे बच्चा सुन्दर होता है, उनकी त्वचा चमकदार होती है।

6.आंवले का मुरब्बा

प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओ को आंवले का मुरब्बा खाना चाहिए। क्योंकि आंवले में विटामिन C के साथ ही आयरन और कैल्शियम भी प्रचुर मात्रा में पाई जाति है। जो बच्चे के रंग को निखारती है। इस समय अगर महिला आंवले का मुरब्बा खाती है तो उनके पेट दर्द और पाचन से सम्बंधित कोई परेशानी नहीं होती।

7. केसर वाला दूध

केसर वाले दूध का सेवन करने से शिशु का रंग साफ होने के साथ ही बच्चा गोरा भी होता है। केसर में औषधीय गुणो की खान मौजूद होती है। केसर के सेवन से मां और बच्चा दोनो को मिनरल और अन्य पोषक तत्व प्राप्त होते हैं। गर्भवती महिलाओ के लिए दूध वैसे भी बहुत जरूरी होता है। दूध में कैल्शियम और प्रोटीन प्रचुर मात्रा में पाई जाती है। दूध पीने से बच्चे का रंग तो गोरा होता ही है साथ ही वह बुद्धिमान भी होते हैं। इसीलिए गर्भवती महिलाओ को रोजाना एक गिलास केसरवाले दूध का सेवन करना चाहिए।

साथ ही महिला के रंग में भी निखार आता है इस दौरान महिलाओ को रोजाना एक गिलास दूध में केसर डालकर पीना चाहिए और सेवन करते समय ध्यान रखें कि एक गिलास दूध में 4 से 5 केसर डालें। इससे ज्यादा केसर का प्रयोग ना करें क्योंकि केसर का परिमाण ज्यादा होने पर गर्भ से जुड़ी समस्याएं हो सकती हैं । केसर औषधीय गुणों की खान होता है। केसर मां और बच्चे दोनों को मिनरल व अन्य पोषक तत्व मिलते हैं।

8. बादाम खाएं

बादाम केवल बच्चे को सुंदर ही नहीं बनाता, बल्कि यह शिशु को गोरा करने के साथ ही उसके विकास में भी मदद करता है। बादाम में प्रचुर मात्रा में विटामिन C पाया जाता है जो बच्चे के रंग को निखारने के साथ ही उनका विकास तेजी से करने में मदद करता है। बादाम के सेवन उनके बालो के लिए भी अच्छा होता है इसीलिए गर्भावस्था के दौरान महिलाओ को रोजाना 4 से 5 बादाम भिगोकर रखना चाहिए और रोज सुबह उसे दूध के साथ चबाकर खाना चाहिए।

9. अंगूर खाएं

इन दिनों महिलाओं को अंगूर के रस का सेवन करना चाहिए। अंगूर का रस पीने से बच्चे को कई तरह की बीमारियो से बचाया जा सकता है। अंगूर में भरपूर मात्रा में अल्फा हाइड्रॉक्सी एसिड होती है जो बच्चे के रक्त को शुद्ध करता है और उनकी त्वचा में भी निखार आती है । इसलिए प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओ को अंगूर का भी सेवन करना चाहिए।

10. अनार खाएं

प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओ को अनार का जूस पीना चाहिए। अनार में आयरन का भरपूर स्रोत पाया जाता है। इसके सेवन से मां और शिशु दोनो की हड्डियां मजबूत होती है।

11. गाजर का सेवन करें

प्रेग्नेंट होने के दौरान महिलाओ को गाजर भी खाना चाहिए। महिलाए चाहे तो गाजर का जूस बनाकर पी सकती है या फिर उन्हें सलाद बनाकर भी खा सकती है। गाजर का रस पीने से महिलाओ की खून की कमी दूर होती है और बच्चा स्वस्थ पैदा होता है।

12. चकुन्दर खाएं

गर्भवती महिलाओ को गाजर के साथ ही चकुन्दर का भी सेवन करना चहिए। चुकंदर से महिलाओ में खून की कमी दूर होती है जिससे बच्चा स्वस्थ पैदा होने के साथ ही उनका रंग भी गोरा होता है।

13. अंडे का सेवन करें

प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओ को नियमित तौर पर अंडे का सेवन करना चाहिए। अंडे का सफेद हिस्सा कैल्शियम से भरपूर होता है जो बच्चे के दिमाग को तेज करने के साथ ही उनको स्वस्थ बनाए रखता है और उनके दिमाग को भी तेज बनाता है। इसीलिए महिलाओ को नियमित तौर पर अंडे का सेवन करना चाहिए।

14. तनाव को कह दें बाय बाय

तनाव हमारे जीवन और हमारी सेहत दोनो के लिए ही बहुत ज्यादा हानिकारक है। खास करके जब आप गर्भवती हो, उस समय तनाव लेना ना सिर्फ आपकी सेहत पर खराब असर डालेगा साथ ही आपके बच्चे के लिए भी कठिनाइयां खड़ी कर देगा। अगर आप चाहती हैं कि आपका बच्चा गोल मटोल और गोरा पैदा हो तो आपको तनाव लेने से बचना होगा। अपने गर्भावस्था के दौरान जितना हो सके खुश रहे और तनाव बिल्कुल ना लें।

लेकिन एक बात और गौर करने लायक है कि बच्चे को सिर्फ गोरा बनाने से ही नहीं होता, अपने बच्चो में उचित गुणों का विकास करना भी जरूरी होता है। नीचे दिए गए दो लाइनों पर जरा ध्यान दीजिए।

15. बच्चो के गुणो का विकास करें

कहा जाता है कि गर्भावस्था के दौरान महिलाए जो करती है, जो सोचती है, जैसा स्वभाव रखती है जन्म लेने के बाद बच्चे का स्वभाव भी वैसा ही हो जाता है। इसीलिए गर्भवती महिलाओ को केवल अपने खानपान में ही नहीं बल्कि हर एक क्षेत्र में ध्यान देकर चलना चाहिए। इन दिनों गर्भवती महिलाओ को अच्छी बातो पर ध्यान देना चाहिए, अच्छी बाते सोचना चाहिए ताकि बच्चे में अच्छे गुणों का विकास हो सके।

16. बच्चे को फुर्तीला बनाए

खानपान के अलावा इन दिनों महिलाओ को आराम के साथ साथ छोटे-मोटे काम करते रहना चहिए कुछ महिलाएं प्रेगनेंसी के दौरान हमेशा आराम ही करती रहती है जो बिल्कुल सही नहीं है। इस दौरान महिलाओ को उनके छोटे मोटे कामो को करते रहना चाहिए। इन दीनो आप सुबह और शाम के समय टहलने जा सकते हैं। इससे आपकी शरीर में स्फूर्ति बनी रहेगी और आपका बच्चा भी फुर्तीला होगा। लेकिन अगर आप हमेशा आराम करने बैठ जाते हैं तो आपका बच्चा आलसी स्वभाव का हो सकता है।

इसे भी जरुर पढ़े:

लड़का पैदा करने के उपाय

आपकी और दोस्तों

तो दोस्तों ये था गोरा बच्चा कैसे पैदा होता है, हम उम्मीद करते है की इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आपको पता चल गया होगा की गोरा बच्चा पैदा करने का तरीका क्या होता है.

अगर आपको हमारी ये पोस्ट अच्छी लगी हो तो प्लीज इसको १ लाइक जरुर करे और अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करे ताकि ज्यादा से ज्यादा महिलाओं को ये पता चल पाए की गोरा बच्चा पैदा कैसे करे धन्येवाद.

Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published.