Good Habits For Kids List in Hindi | किड्स गुड हैबिट्स लिस्ट

Good Habits For Kids List in Hindi: नमस्कार दोस्तों आज की इस पोस्ट में हम आपके साथ बच्चों के लिए गुड हैबिट्स की लिस्ट शेयर करने वाले हैं जिसको आप अपने बच्चों को बता सकते हैं ताकि उसको अच्छी आदतों का पता चल पाए.

दोस्तों जब बच्चे छोटे होते हैं तब वही वह सही समय होता है जब हम उनको अच्छी और बुरी आदतों के बारे में बता सकते हैं ताकि उसको अच्छी सद्बुद्धि आए और वह हमेशा अच्छी आदत सीखें.

जब आपका बच्चा छोटा हो तब उसी समय से आपको हमेशा उसको अच्छी आदतें सी खानी चाहिए. ताकि उसको हमेशा यह याद रहे कि क्या अच्छी आदत होती है और कौन सी बुरी आदतों से उसको हमेशा दूर रहना चाहिए.

दोस्तों जब हम अपने बच्चों को अच्छी आदतें सिखाते हैं तब जैसे जैसे वह बड़ा होता है तब वह अपने आप ही बुरी आदतों से दूर रहता है क्योंकि उसको पता होता है कि कौन सी अच्छी आदत उसको फॉलो करनी चाहिए और कौन सी बुरी आदतों से उसको दूर रहना चाहिए.

दोस्तों इस पोस्ट में हम आपको छोटे बच्चे से लेकर स्कूल या कॉलेज में जाने वाले विद्यार्थियों के लिए सभी अच्छी आदतों की लिस्ट शेयर करने वाले हैं.

जब कभी भी आपके पास समय हो तब आप अपने बच्चों को इन गुड हैबिट के बारे में जरूर बताएं. चलिए दोस्तों ज्यादा समय बर्बाद ना करते हुए इस महत्वपूर्ण पोस्ट की शुरुआत करते हैं.

Good Habits For Kids List in Hindi
किड्स गुड हैबिट्स लिस्ट

Good habits in hindi

1. सुबह जल्दी उठे

छोटे बच्चों और विद्यार्थियों को सुबह हमेशा जल्दी उठना चाहिए और यह बहुत ही अच्छी आदत है. हमको शुरुआत से ही सुबह जल्दी उठने की आदत डालनी होती है वरना बाद में जाकर हमारी यह आदत नहीं बन पाती है.

बहुत लोग हैं जो कि सुबह बहुत देर तक सोते हैं और यह आदत उनके साथ बहुत लंबे समय तक रहती है. और यदि वह यह आदत को बदलना चाहते हैं तब उनको बहुत ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ता है.

लेकिन यदि आप अपने बच्चों को शुरुआत से सुबह जल्दी उठने की आदत डालेंगे तब उसकी आदत यह हमेशा के लिए रहेगी.

विद्यार्थियों के लिए सुबह उठना बहुत ज्यादा फायदेमंद साबित होता है. खास करके सुबह के समय पर पढ़ाई करने से जो कुछ भी वह पढ़ते हैं वह उनके दिमाग में अच्छी तरीके से बैठ जाता है.

इसलिए आपने देखा होगा कि एग्जाम के टाइम पर बच्चे सुबह जल्दी उठकर पढ़ते हैं. सुबह के समय पर हमारा दिमाग पूरी तरीके से खाली और फ्रेश होता है जिसकी वजह से जो कुछ भी हम पढ़ते लिखते हैं और सीधे हमारे बुद्धि में घुस जाता है.

पढ़ाई करने का सबसे अच्छा समय सुबह होता है. तो आप अपने बच्चों को सुबह जल्दी उठकर पढ़ाई करने के लिए क्या करें इससे उनको बहुत ज्यादा फायदा होगा.

2. रोज ब्रश करें

हालांकि अधिकतर सभी बच्चे सुबह उठकर अपने दांतों को ब्रश जरूर करते हैं. लेकिन हमने ऐसे भी कुछ बच्चों को देखा है जो कि रोज अपने दांतो को साफ नहीं करते है.

ऐसा करने से उनके दांतों में सड़न, दातों का दर्द, दांत पीले हो जाना जैसी प्रॉब्लम शुरू होने लग जाती है.

हमने ऐसे भी बच्चों को देखा है जो कि पहले उठकर नाश्ता कर लेते हैं फिर बाद में जाकर ब्रश करते हैं. दोस्तों यह आदत भी अच्छी नहीं है.

क्योंकि जब हम सोकर सुबह उठते हैं तब हमारे मुंह के अंदर बहुत सारे कीटाणु होते हैं जिन का सफाया ब्रश करने से होता है. लेकिन यदि हम पहले ही अपना नाश्ता कर लेंगे तब यह कीटाणु हमारे पेट के अंदर चले जाते हैं जिसकी वजह से हम को कई प्रकार की बीमारी होने की संभावना बहुत ज्यादा बढ़ जाती है.

इसलिए छोटे बच्चों को हम हमेशा यह सलाह देंगे कि सुबह उठकर कुछ भी खाने से पहले आपको हर रोज ब्रश करना चाहिए इससे आपके दांत हमेशा स्वस्थ रहेंगे.

3. रोज नहाया करें

हर सुबह रोज बच्चों को नहाना चाहिए इससे उनके बदन की गंदगी दूर हो जाती है और उनका बदन बहुत ज्यादा फ्रेश महसूस होता है.

स्कूल या कॉलेज जाने से पहले हमेशा नहा कर ही जाना चाहिए. जो बच्चे रोज नहीं नहाते हैं उनमें आलस बहुत ज्यादा देखने को मिलता है.

खास करके जाड़ों के मौसम में बच्चे सुबह नहाने से बहुत ज्यादा डरते हैं क्योंकि पानी बहुत ठंडा होता है. ऐसे में आप अपने बच्चों को गर्म पानी से नहाने की सलाह दें.

4. नाखून काटे

दोस्तों हम अपने बच्चों को क्रीम पाउडर लगाकर तो चमकाने की बहुत कोशिश करते हैं लेकिन हमारा ध्यान उनके नाखून से हट जाता है.

जिसकी वजह से जब कभी भी वह खाना खाते हैं तो उनके नाखून में छुपे हुए कीटाणु सीधे उनके पेट में चले जाते हैं जिससे उनको बीमार होने का खतरा बढ़ जाता है.

हर हफ्ते आप अपने बच्चों के हाथ और पैर के नाखून जरूर चेक करें और यदि वह बड़े हो जाते हैं तब उनको अवश्य काटे.

5. माता पिता के पैर पड़े

छोटे बच्चों को हमेशा सुबह उठकर अपने माता-पिता का पैर पड़ना चाहिए और उनको गुड मॉर्निंग कहना चाहिए यह बहुत अच्छी आदत होती है.

जब कोई भी बच्चा सुबह उठकर अपने माता पिता के पैर छूकर गुड मॉर्निंग बोलता है तब उनको बहुत ज्यादा अच्छा लगता है.

माता पिता भगवान से कोई कम नहीं होते हैं इसलिए सुबह उठकर हमें हमेशा उनके चरण स्पर्श करना चाहिए.

6. अच्छे लोगों के साथ रहे

अपने बच्चों को आप हमेशा यह सलाह दीजिए की हमेशा अच्छे लोगों और बच्चों के साथ ही रहे और बुरे बच्चे और विद्यार्थियों से दूर रहने की कोशिश करें.

बुरे बच्चों और विद्यार्थियों के साथ रहने से आपका बच्चा भी बुरी आदत है अवश्य सीखेगा. जिसकी वजह से आपका बच्चा बिगड़ता चला जाएगा.

और आपको पता होगा कि एक बार बच्चे बुरी आदत सीख लेते हैं तब उनको फिर से सुधारना बहुत ज्यादा मुश्किल हो जाता है.

इसलिए आप अपने बच्चों को हमेशा यही सलाह दीजिए कि हमेशा अच्छे बच्चों और विद्यार्थियों के साथ रहा करें इससे उनको अच्छी आदतें सीखने को मिलेगी.

7. अपशब्द ना कहें

हमेशा अपने बच्चों को अच्छी बातें और वाणी बोलने को कहें कभी भी गलत शब्द का प्रयोग ना करें. आजकल के छोटे-छोटे बच्चे बहुत ज्यादा गालियों का इस्तेमाल करते हैं जिसकी वजह से उनका बोलना चालना पूरी तरीके से खराब हो जाता है.

कुछ बच्चों को गाली देने की इतनी बुरी आदत होती है कि वह बिना गाली दिए कोई भी बात करी नहीं पाते उनके मुंह से हमेशा अपशब्द निकल जाते हैं.

जैसे ही आपके बच्चे से कभी भी गलत बातें या गाली मुंह से निकल जाती है तब आपको उनको तुरंत डांटना चाहिए और कहना चाहिए कि ऐसी अपशब्द का प्रयोग आपको कभी नहीं करना चाहिए यह बुरे बच्चे करते हैं.

8. मन लगाकर पढ़ाई करें

छोटे बच्चों को हमेशा मन लगाकर पढ़ना चाहिए और स्कूल या कॉलेज में अच्छे नंबरों से पास होना चाहिए. लेकिन छोटे बच्चों को पढ़ने के लिए जभी हम बोलते हैं तब वह नाराज हो जाते हैं.

लेकिन इसमें एक अच्छे माता-पिता को अपने बच्चों को समझाना चाहिए कि पढ़ने लिखने से आप जीवन में तरक्की कर सकते हो.

जो बच्चे पढ़ाई लिखाई नहीं करते वह जीवन में ज्यादा कुछ नहीं कर पाते हैं. छोटे बच्चों को हमेशा टाइम टेबल के हिसाब से पढ़ाई करना चाहिए.

9. खेलने कूदने का समय भी जरूरी है

दोस्तों जब हम कहते हैं कि बच्चों को पढ़ाई लिखाई करना चाहिए तब बहुत सारे माता-पिता ऐसे होते हैं जो कि अपने बच्चों को खेलने नहीं देते हैं जिसकी वजह से उन पर बुरा असर पड़ता है.

जितना बच्चों और विद्यार्थियों के लिए पढ़ना जरूरी है उतना ही जरूरी उनके लिए थोड़ा बहुत खेलना कूदना भी होता है.

यदि बच्चे दिन भर में थोड़ा भी खेलेंगे नहीं तो वह बच्चे कैसे कहलाएंगे. आप उनको दिन में थोड़ी देर खेलने की अनुमति जरूर दीजिए.

पढ़ाई और खेलने कूदने का समय बैलेंस होना चाहिए तभी आपके बच्चे अच्छी तरीके से खुश रह पाएंगे.

10. बड़ा लक्ष्य बनाएं

दोस्तों हमें अपने बच्चों को हमेशा जीवन में बड़ा लक्ष्य रखने की सोच रखनी चाहिए. क्योंकि आज के समय पर कुछ भी करना नामुमकिन नहीं है.

जब हम अपने बच्चों को शुरुआत से ही कुछ बड़ा करने की सीख देते हैं तब उनके मन में हमेशा पॉजिटिव थिंकिंग उत्पन्न होती है और आगे चलकर जीवन में वह अच्छा और बड़ा काम करने में कामयाब हो जाते हैं.

बचपन से ही आप अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा और अच्छी आदतें सिखाया करें. हमेशा पॉजिटिव थिंकिंग और सकारात्मक सोच से आगे बढ़ने को कहें.

11. बड़ों का सम्मान करें

बच्चों को हमेशा बड़ों का सम्मान करना चाहिए यह एक बहुत ही अच्छी आदत होती है. जब कभी भी आप अपने से बड़ों को मिले तब उनको नमस्ते जरूर कहें और उनका पैर छूकर आशीर्वाद अवश्य लें.

जो बच्चे बड़ों का सम्मान नहीं करते हैं उनका भी कोई जीवन में सम्मान नहीं करता है. बड़ों को आदर देना एक बहुत ही अच्छी हैबिट होती है जो कि हर बच्चे को फॉलो अवश्य करना चाहिए.

12. हमेशा अच्छे काम करें

छोटे बच्चों को हमेशा अच्छे काम करना चाहिए और बुरे काम और कर्म से दूर रहना चाहिए. क्योंकि आप सभी लोगों ने यह कहावत तो अवश्य सुनी होगी “जैसी करनी वैसी भरनी”.

इस कहावत का मतलब यह होता है कि जैसे कर्म आप अपने जीवन में करते हो उसका फल आपको इसी जीवन में भुगत कर जाना होता है.

यदि आप आज किसके साथ बुरा करते हो तब भविष्य में आपके साथ भी ठीक वैसा ही होगा या फिर उससे भी बुरी परिस्थिति में आप जरूर पहुंच जाओगे.

यह कर्म का मायाजाल है इससे आज तक कोई भी इंसान बच नहीं पाया है. बच्चों को हमेशा अच्छे कर्म और काम करने की सलाह आप सभी को देनी चाहिए.

13. कभी हार ना माने

छोटे बच्चों और विद्यार्थियों को हमेशा एक बात याद रखनी चाहिए कि जीवन में कभी भी हार नहीं मानना चाहिए. चाहे कितनी भी मुश्किल और परेशानी आपके सामने क्यों ना आ जाए हमेशा ही मत से आगे बढ़ते रहना चाहिए.

हार कमजोर लोग मानते हैं लेकिन महान लोग हमेशा आगे बढ़ते रहते हैं, चुनौतियों का सामना करते हैं और नाकामियों से कभी भी डरते नहीं है.

हमेशा जीवन में आगे बढ़ते रहने से आप जीवन में हमेशा सक्सेस और सफलता पाओगे.

14. समय बर्बाद ना करें

छोटे बच्चों और विद्यार्थियों को हमेशा एक बात याद रखना चाहिए कि समय का बहुत अनमोल चीज होती है इसे कभी भी व्यर्थ नहीं करना चाहिए.

क्योंकि जीवन में जो समय एक बार बीत जाता है उसे हम दोबारा कभी हासिल नहीं कर पाते हैं. इसलिए जो भी समय आपके पास है उसका हमेशा अच्छे से उपयोग करें.

जो लोग अपना टाइम पास करते हैं वह जीवन में कभी भी कुछ बड़ा काम नहीं कर पाते हैं. हमेशा अपने समय का सदुपयोग किया करें.

15. सही टाइम पर भोजन करें

छोटे बच्चों को हमेशा यह आदत से खानी चाहिए कि सुबह का नाश्ता, दोपहर का खाना और रात का डिनर हमेशा सही समय पर करना चाहिए इससे उनका स्वास्थ्य अच्छा रहता है.

जो बच्चे और स्टूडेंट गलत समय पर खाना खाते हैं उनका स्वास्थ्य कभी भी अच्छा नहीं रहता है. हमेशा अपने खाने पीने का टाइम टेबल सही से फॉलो करें.

बाहर की चीजें खाना कम करें क्योंकि बाहर की चीजों में साफ-सफाई बिल्कुल नहीं होती है जिसकी वजह से बच्चों को अनेक प्रकार की बीमारियां पकड़ लेती है.

16. रात को जल्दी सोया करें

बच्चों और विद्यार्थियों को हमेशा रात को जल्दी सोना चाहिए. लेकिन आजकल यह देखा जा रहा है कि बच्चे रात को अपने मम्मी पापा के मोबाइल पर बहुत देर देर तक गेम खेलते रहते हैं.

माता-पिता को भी इस बात का ध्यान देना चाहिए कि वह ज्यादा देर तक अपने बच्चों को रात को जगने ना दें. इससे उनके स्वास्थ्य पर तो बुरा असर जरूर पड़ता है साथ ही साथ उनके पढ़ाई लिखाई पर भी गहरा असर पड़ता है.

बच्चे रात को देर से सोने की वजह से सुबह जल्दी नहीं उठ पाते हैं. जिसकी वजह से उनको सुबह स्कूल मैं पढ़ाई में फोकस करने में बहुत ज्यादा प्रॉब्लम होती है.

हमेशा अपने बच्चों को याद दिलाएं कि वह रात को खाना खाकर कुछ देर के बाद लाइट बंद करके सो जाएं.

17. साफ कपड़े पहने

बच्चों को हमेशा साफ-सुथरे कपड़े पहनना चाहिए. माता पिता को इस बात का हमेशा ध्यान रखना चाहिए कि उनके बच्चे हमेशा साफ-सुथरे कपड़े पहने.

गंदे कपड़े पहनने से उनके कपड़ों से बहुत बदबू आती है. बच्चा चाहे कितना भी खूबसूरत क्यों ना हो लेकिन यदि उसके कपड़े साफ-सुथरे नहीं है तब वह खूबसूरती कोई काम की नहीं होती है.

मैले कपड़े पहनने से हो सकता है कि आपके बच्चे के पास कोई बैठे भी ना. और गंदे कपड़े पहनने से कई प्रकार की बीमारी भी हो जाती है.

18. भगवान का पैर पड़े

बच्चों और विद्यार्थियों को हमेशा सुबह नहाने के बाद भगवान का पैर पड़ना चाहिए और तिलक भी लगाना चाहिए यह एक बहुत ही अच्छी आदत होती है.

यदि आपके ऊपर हमेशा भगवान का आशीर्वाद रहेगा तब आपके साथ कभी भी पूरा नहीं होगा. माता-पिता का पैर पढ़ने के अलावा आपको हर रोज भगवान के चरण स्पर्श करना चाहिए.

बच्चों और विद्यार्थियों को कुछ दिया भगवान के सामने प्रार्थना भी करनी चाहिए. हाथ जोड़कर और अपनी आंखें बंद कर कर भगवान के सामने 2 से 3 मिनट रोज प्रार्थना करें. इससे भगवान का आशीर्वाद और कृपा आप पर हमेशा बनी रहेगी.

आपकी और दोस्तों

दोस्तों यह थे कुछ छोटे बच्चों के लिए अच्छी आदतों की लिस्ट, हम उम्मीद करते हैं कि इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आप अपने बच्चों को हमेशा गुड हैबिट ही सिखाएंगे.

हम चाहते हैं कि इस पोस्ट से छोटे बच्चों और स्टूडेंट्स लोग को अच्छी सद्बुद्धि मिले. यदि आप हमारी मदद करना चाहते हैं तो इस पोस्ट को एक लाइक जरुर करें ताकि ज्यादा से ज्यादा बच्चों और स्टूडेंट
के पास यह पोस्ट पहुंच सके.

इसके लिए आप हमारी पोस्ट को फेसबुक और व्हाट्सएप पर जरूर शेयर करें धन्यवाद दोस्तों.

Leave a Comment

Your email address will not be published.