डॉक्टर कैसे बने | डॉक्टर बनने के लिए क्या करे पूरी जानकारी

डॉक्टर कैसे बने: हर व्यक्ति पढ़ लिखकर एक सफल व्यक्ति बनना चाहता है, जिसके लिए वह काफी मेहनत भी करता है परंतु बहुत कम ही ऐसे लोग होते हैं जो अपना लक्ष्य प्राप्त कर पाते हैं।

अगर हम भारत की बात करें तो भारत में 12वीं कक्षा पास करने के बाद से ही विद्यार्थियों को आगे क्या करें, इसकी चिंता सताने लगती है। विद्यार्थियों के साथ-साथ उनके माता-पिता को भी अपने बच्चों के भविष्य की चिंता सताने लगती है।

12वी कक्षा के बाद विद्यार्थियों के पास अलग-अलग कोर्स करने के लिए होते हैं और विद्यार्थी अपने हिसाब से कोर्स का चुनाव करते हैं। कुछ विद्यार्थी 12वीं कक्षा पास करने के बाद डिप्लोमा करते हैं तो कुछ विद्यार्थी इंजीनियरिंग करते हैं, वही बहुत से ऐसे विद्यार्थी भी है, जो 12वीं कक्षा पास करने के बाद डॉक्टर बनने की इच्छा रखते हैं और इसके लिए वह ग्रेजुएशन कंप्लीट करने के बाद डॉक्टरी से संबंधित कोर्स करते हैं।

अगर आप भी डॉक्टर बनने में इंटरेस्टेड है और आप इंटरनेट पर इसी के बारे में सर्च करते रहते हैं तो आज के इस आर्टिकल में हम आपको इससे संबंधित सभी जानकारी देने वाले हैं।

डॉक्टर कैसे बने पूरी जानकारी

डॉक्टर बनने के लिए क्या करें

doctor kaise bane

दोस्तों इससे पहले की हम आपको डॉक्टर कैसे बने की पूरी जानकारी दे हम चाहते है की आपको हम एक डॉक्टर क्या होता है और आप कितने प्रकार के डॉक्टर बन सकते हो उसके बारे में आपको थोड़ी जानकारी दे दें ताकि आपको अच्छे से समझ आ जाये की अलग अलग प्रकार के डॉक्टर बनने के लिए आपको कोनसा कोर्स करना पड़ता है, कोर्स करने के कितने पैसे लगते है इत्यादि.

डॉक्टर अर्थात क्या

डाक्टर अर्थात एक ऐसा पढ़ा लिखा व्यक्ति जो मानव शरीर के रोगों को समझ कर उनका इलाज करता है। हमारे भारत देश में डॉक्टर को भगवान का दूसरा रूप भी कहा जाता है क्योंकि कई बार डॉक्टर अपनी जानकारी और इलाज से मरते हुए व्यक्ति को जीवन दान देता है।

डॉक्टर के प्रकार

जैसे पुलिस विभाग में एसआई, पीआई, हवलदार और दरोगा जैसे विभिन्न प्रकार के पद होते हैं वैसे ही डॉक्टरी में भी डॉक्टरों के अलग-अलग प्रकार होते हैं। जैसे अगर आपको चमड़ी का रोग है तो आप का इलाज स्किन डॉक्टर ही करेगा ना कि दांत का डॉक्टर।आइए जानते हैं कि डॉक्टर के कितने प्रकार होते हैं तथा वह कौन कौन से काम करते हैं।

1. एमबीबीएस (MBBS)

एमबीबीएस डॉक्टर लगभग हर तरह के रोगों का इलाज करता है। एमबीबीएस का फुल फॉर्म होता है बैचलर ऑफ मेडिसिन एंड बैचलर ऑफ सर्जरी। एमबीबीएस डॉक्टर प्लास्टिक सर्जरी से लेकर अन्य कई सर्जरी भी करते हैं।आपकी जानकारी के लिए बता दें कि एमबीबीएस डॉक्टर बनना इतना आसान नहीं है।

इसमें बहुत अधिक फीस तथा मेहनत लगती है। हां पर यह बात भी सच है कि एमबीबीएस डॉक्टर बनने के बाद अगर आपको सरकारी अस्पताल में नौकरी मिल जाती है तो आप की पगार भी अच्छी होती है। इसके अलावा अगर आप प्राइवेट भी अपना काम करते हैं, तब भी आप अच्छी खासी रकम कमा लेते हैं।

2. बीडीएस (BDS)

इसका फुल फॉर्म होता है बैचलर ऑफ डेंटल सर्जरी। एक बीडीएस डॉक्टर हमारे दांत, जबड़े और मसूड़ों से संबंधित बीमारियों का इलाज करता है। इसे अंग्रेजी में डेंटिस्ट भी कहते हैं।

3. बीपीटी (BPT)

इसका फुल फॉर्म होता है बैचलर ऑफ फिजियोथेरेपिसट। फिजियोथैरेपिस्ट डॉक्टर रोगी की मालिश, कसरत से संबंधित बातों का ध्यान रखता है।

4. बीएएमएस (BAMS)

इसका फुल फॉर्म होता है बैचलर ऑफ आयुर्वेद एंड मेडिसिन। एक बीएमएस डॉक्टर आयुर्वेदिक दवाइयों द्वारा रोगी की विभिन्न प्रकार की बीमारियों का इलाज करता है।

5. बीएचएमएस (BHMS)

इसका फुल फॉर्म होता है बैचलर ऑफ होम्योपैथिक मेडिसिन एंड सर्जरी। एक बीएचएमएस डॉक्टर होम्योपैथी की दवाइयों द्वारा रोगी का इलाज करता है। वर्तमान के समय में होम्योपैथिक डॉक्टर की हमारे भारत देश में काफी डिमांड है।

6. बीयूएमएस (BUMS)

इसका फुल फॉर्म होता है बैचलर ऑफ यूनानी मेडिसिन एंड सर्जरी। बीएमएस डॉक्टर यूनानी दवाइयों के द्वारा रोगी का इलाज करता है।

– बीयूएमसी एंड एएच

इस प्रकार के डॉक्टर को जानवरों का डॉक्टर भी कहा जाता है, क्योंकि यह जानवरों के रोगों का इलाज करते हैं।

डॉक्टर का काम

डॉक्टर कई प्रकार के होते हैं जैसे दांत का डॉक्टर,चमड़ी का डॉक्टर, दिल का डॉक्टर, आयुर्वेदिक डॉक्टर,होम्योपैथिक डॉक्टर, यूनानी डॉक्टर,दिमाग का डॉक्टर, नसों का डॉक्टर इत्यादि परंतु इन सभी डॉक्टरों का एक ही काम होता है कि वह उनके पास आने वाले मरीजों की समस्या को पहचान कर उनका अच्छे से इलाज करें, जिससे वह स्वस्थ हो जाएं।

डॉक्टर बनने हेतु शैक्षिक योग्यता

अगर आप डॉक्टर बनना चाहते हैं तो इसके लिए आपको 12वीं कक्षा में साइंस के विषयों में बायोलॉजी,फिजिक्स,केमिस्ट्री लेना पड़ेगा और बारहवीं कक्षा को अच्छे अंको से पास करना होगा।

इसके अलावा आपके हर सब्जेक्ट में कम से कम 60% अंक होने चाहिए। आपको अंग्रेजी भाषा भी अच्छे से आनी चाहिए, साथ ही आपके अंदर मेहनत करने की क्षमता होनी चाहिए।

डॉक्टर बनने हेतु उम्र

अगर आप डॉक्टर बनना चाहते हैं तो आपकी उम्र 18 साल से लेकर 25 साल तक होनी चाहिए। इसके अलावा जो लोग एससी-एसटी और ओबीसी समुदाय से संबंध रखते हैं, उन्हें सरकारी नियमों के अनुसार उम्र में छूट मिलती है।

डॉक्टर बनने हेतु एंट्रेंस एगजाम

डॉक्टर बनने के लिए आप 12वीं कक्षा में ऑल इंडिया मेडिकल परीक्षा या फिर राज्य स्तर के फॉर्म भर सकते हैं परंतु इसके लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम में अच्छे अंक लाना जरूरी है क्योंकि इन्हीं अंको के आधार पर आपको कॉलेज में दाखिला मिलेगा।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि एमबीबीएस में प्रवेश के लिए भारतीय स्तर पर और स्टेट लेवल पर कई परीक्षाएं ली जाती है।

मेडिकल की फील्ड में जाने के लिए आपको सीबीएससी बोर्ड के द्वारा नेशनल लेवल पर कराई जाने वाली नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट को पास करके किसी सर्टिफाइड इंस्टिट्यूट से एमबीबीएस की पढ़ाई करनी होती है।

भारत के दिल्ली में स्थित एम्स जैसे बड़े संस्थान एडमिशन के लिए डायरेक्ट एग्जाम का आयोजन करवाते हैं।इसके अलावा नेशनल लेवल पर सीबीएसई बोर्ड द्वारा हर साल प्री मेडिकल, प्री डेंटल टेस्ट का का भी आयोजन करवाया जाता है।

इसके अलावा और कौन कौन से संस्थान मेडिकल एंट्रेंस आयोजित करवाते हैं, उसकी जानकारी नीचे बताए अनुसार है।

  • उत्तर प्रदेश कंबाइंड प्री मेडिकल टेस्ट
  • ऑल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंसेज
  • गुरु गोविंद सिंह इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी, दिल्ली
  • वर्धा मेडिकल कॉलेज, पुणे
  • एमबीबीएस कोर्स और इंटर्नशिप

आमतौर पर एमबीबीएस का कोर्स करने में साढे 4 साल का समय लगता है क्योंकि इसकी अवधि साढे 4 साल की होती है और शायद आपको पता ना हो तो आपको बता दें कि एमबीबीएस का कोर्स करने के बाद आपको अनिवार्य रूप से किसी भी मेडिकल कॉलेज में 1 साल की इंटरशिप करना जरूरी है।

इस तरह कुल मिलाकर एमबीबीएस कोर्स की पूरी अवधि साढे 5 साल होती है अर्थात एमबीबीएस का कोर्स करने में साढे 5 साल का समय लगता है।

जब आप एमबीबीएस का कोर्स अच्छे से पूरा कर लेते हैं तो उसके बाद आपको मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया के द्वारा सर्टिफाइड डॉक्टर के रूप में एमबीबीएस की डिग्री दी जाती है।

एमबीबीएस की डिग्री मिल जाने के बाद आप अपनी इच्छा के अनुसार प्रेक्टिस चालू कर सकते हैं या फिर अपने इंटरेस्ट और अपनी योग्यता के अनुसार एमएस, एमडी के रूप में पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स और उसके बाद रिसर्च भी कर सकते हैं।

डॉक्टर बनने हेतु भारत के प्रमुख मेडिकल कॉलेज

हमने नीचे भारत के कुछ ऐसे कॉलेज की लिस्ट दी है, जहां से आप डॉक्टर बनने के लिए कोर्स कर सकते हैं। इनमें से कुछ सरकारी कॉलेज है तो कुछ प्राइवेट कॉलेज है, इसीलिए आप अपनी इच्छा के अनुसार कॉलेज का चुनाव कर सकते है।

  • सेंट जॉन्स मेडिकल, कॉलेज बेंगलुरू
  • अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स)
  • क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज वेल्लूर
  • जेआईपीएमईआर, पांडुचेरी
  • मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज, दिल्ली
  • यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ मेडिकल साइंसेस एंड जीटीबी हॉस्पिटल, दिल्ली
  • ग्रांट मेडिकल कॉलेज, मुंबई
  • मद्रास मेडिकल कॉलेज, चेन्नई

एमबीबीएस कोर्स की फीस

जो लोग डॉक्टर बनना चाहते हैं उनके मन में यह सवाल जरूर आता है कि आखिर डॉक्टर बनने के लिए कितनी फीस भरनी पड़ती है, तो हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि डॉक्टर बनने के लिए आपको एमबीबीएस का कोर्स करना होता है और इस कोर्स की फीस अलग-अलग कॉलेज में अलग-अलग होती है।

अगर आप एमबीबीएस का कोर्स सरकारी कॉलेज से करते हैं तो आपकी फीस साल की 200000 से लेकर 300000 के बीच हो सकती है, वहीं अगर आप प्राइवेट कॉलेज से एमबीबीएस का कोर्स करते हैं तो आप की सालाना फीस 5:30 लाख से अधिक हो सकती है।

डॉक्टर की सैलरी

यह सवाल भी अक्सर बहुत से लोगों के मन में आता है कि आखिर डॉक्टर की सैलरी कितनी होती है तो हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अगर कोई व्यक्ति सरकारी डॉक्टर है तो उसकी महीने की तनख्वाह कम से कम ₹60000 होती है और अगर कोई प्राइवेट डॉक्टर है तो उनकी महीने की तनख्वाह 40000 के आसपास होती है।

हालांकि यह शुरुआती पगार होती है जैसे जैसे आपका इस क्षेत्र में अनुभव बढ़ता जाएगा वैसे-वैसे ही डॉक्टर की सैलरी भी बढ़ती है। यहां तक कि कई ऐसे डॉक्टर भी है जो महीने के ही 400000 से अधिक रुपए कमाते हैं।इसके अलावा बहुत से डाक्टर अपनी अधिक कमाई करने के लिए अपनी नौकरी के घंटों के बाद प्राइवेट क्लीनिक भी संभालते हैं।

मेडिकल एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी कैसे करें

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि मेडिकल की एडमिशन एग्जाम दसवीं और बारहवीं कक्षा के सिलेबस पर ही आधारित होती है, इसीलिए जो विद्यार्थी डॉक्टर बनना चाहते हैं उन्हें 10वीं और 12वीं के सिलेबस को अच्छे से पढ़ना चाहिए और उसका अध्ययन करना चाहिए।

इसके अलावा 12वीं में आपके जो साइंस के विषय हैं जैसे फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी, इनकी बेसिक बातों पर विशेष ध्यान दें और इनका अच्छे से अध्ययन करें और इसके बाद जब आप की इंटरमीडिएट की बोर्ड की एग्जाम खत्म हो जाए तो उसके बाद मेडिकल परीक्षा में पूर्व में पूछे गए सवालों को हल करना चालू कर दें और उनके पैटर्न को समझने का प्रयास करें।

इसके अलावा मेडिकल एग्जाम के सैंपल पेपर को भी प्राप्त करें और उसे भी लगातार सॉल्व करने का प्रयास करें और उसके आधार पर अपना मूल्यांकन करें तथा अपनी कमजोरियों को पहचाने और उसे सुधारें।

आप चाहें तो मेडिकल एग्जाम की तैयारी के लिए अपने शहर में स्थित किसी भी अच्छे कोचिंग इंस्टिट्यूट का सहारा भी ले सकते हैं या फिर जिस व्यक्ति ने पहले मेडिकल एंट्रेंस की एग्जाम दी है उससे इस एग्जाम के बारे में उसकी राय ले सकते हैं तथा महत्वपूर्ण टिप्स भी जान सकते हैं।

इसके अलावा आप मेडिकल एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी के लिए इंटरनेट का सहारा भी ले सकते हैं क्योंकि आप तो जानते ही हैं कि आज इंटरनेट पर हर वह चीज, हर वह जानकारी मौजूद है जो आमतौर पर हमें पता नहीं होती है।

इंटरनेट पर एजुकेशन पर आधारित ऐसे कई चैनल है, जहां से आप मेडिकल ही नहीं बल्कि अन्य परीक्षाओं के बारे में भी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। इसके अलावा आपको मेडिकल परीक्षा से संबंधित सैंपल पेपर तथा जो लोग इस परीक्षा को दे चुके हैं उनकी राय जानने का मौका मिलता है।

बाजार में ऐसी कई किताबें मौजूद हैं जिसमें मेडिकल एंट्रेंस एग्जाम के पूर्व में कराए गए पेपर होते हैं। आप उन किताबों को खरीद कर भी मेडिकल एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी कर सकते हैं।

रिलेटेड पोस्ट:

आईएएस ऑफिसर कैसे बने | आईएएस ऑफिसर बनने के लिए क्या करे

प्रोफेशनल फोटोग्राफर कैसे बने | फोटोग्राफी में करियर कैसे बनाये

आईपीएस ऑफिसर कैसे बने | आईपीएस ऑफिसर बनने के लिए क्या करें

सरकारी टीचर कैसे बने

आपकी और दोस्तों:

तो दोस्तों ये था एक डॉक्टर कैसे बने, हम उम्मीद करते है की इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आपको एक डॉक्टर बनने के लिए कोनसा कोर्स करे या कितने पैसे लगते है इसके अलावा भी बहुत सारी जानकारी मिल गयी होगी.

यदि आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो प्लीज इस पोस्ट को एक लाइक जरुर करे और अपने दोस्तों और घर परिवारालों के साथ फेसबुक और whatsapp पर भी अवश्य शेयर करे ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगो को ये पता चल पाए की एक डॉक्टर बनने के लिए क्या क्या करना पड़ता है. धन्येवाद दोस्तों.

Leave a Comment

Your email address will not be published.