DIG कैसे बने | DIG बनने के लिए क्या करे

DIG कैसे बने: वर्तमान के समय में हमारे भारत देश की जनसंख्या 130 करोड़ के पास पहुंच चुकी है और इतनी बड़ी जनसंख्या को संभालने के लिए हमारे भारत में कई डिपार्टमेंट तथा विभिन्न कर्मचारी हैं, जिसमें से मुख्य विभाग है पुलिस डिपार्टमेंट। पुलिस डिपार्टमेंट हमारे भारत में कानून व्यवस्था को बनाए रखने के लिए तथा कानून व्यवस्था का पालन करवाने के लिए काम करती है।

हमारे भारत देश के नागरिकों को किसी भी प्रकार की कोई समस्या ना हो पुलिस विभाग इसका भी ध्यान रखता है और अगर किसी भी नागरिक को कोई समस्या है, तो पुलिस उसकी समस्या का हल ढूंढने का प्रयास करती है।

अगर हम हमारे भारत देश की बात करें तो हमारे भारत देश में लोगों को सरकारी नौकरी बहुत ही ज्यादा पसंद होती है, क्योंकि सरकारी नौकरी में ऐसे कई फायदे हैं, जो लोगों को अपनी ओर आकर्षित करते हैं। भारत में हर साल लाखों लोग सरकारी नौकरियों की तैयारी करते हैं और उनमें से बहुत से लोग सरकारी नौकरी पाने में कामयाब हो जाते हैं।

हर कोई पढ़ लिखकर एक अच्छी जिंदगी और अच्छा केरियर प्राप्त करना चाहता है और इसके लिए वह काफी मेहनत भी करता है।अच्छी जिंदगी जीना हर किसी का सपना होता है, इसीलिए जब विद्यार्थी वर्ग 12वीं की परीक्षा को पास करते हैं, तो उसके बाद से ही उन्हें अपने कैरियर के बारे में चिंता होने लगती है।

अपने कैरियर को अच्छे से स्थापित करने के लिए वह अपने इंटरेस्ट के हिसाब से कोर्स करते हैं और कोर्स करने के बाद विभिन्न क्षेत्रों में नौकरी भी प्राप्त करते हैं।

हमारे भारत में सरकारी नौकरी के कई पद हैं जैसे, आईएएस, आईपीएस, डीएम, एसडीएम, लेखपाल, डीआईजी, एसीपी, डीएसपी। इसमें सभी पद काफी उच्च पद माने जाते हैं और इन सभी पदों में अभ्यर्थी को अच्छी तनख्वाह के साथ-साथ अच्छी पावर भी मिलती है।

अगर आप पुलिस में बड़ी पोस्ट प्राप्त करना चाहते हैं, तो आज के हमारे इस आर्टिकल को पूरा अवश्य पढ़ें, क्योंकि आज हम आपको पुलिस विभाग की एक बड़ी पोस्ट के बारे में जानकारी देने वाले हैं, जो बनने के लिए बहुत से लोग सपना देखते हैं।आज हम आपको डीआईजी के बारे में बताने वाले हैं।

आज के इस आर्टिकल में आप जानेंगे कि, डीआईजी क्या होता है, डीआईजी का फुल फॉर्म क्या होता है, डीआईजी कैसे बनते हैं, डीआईजी बनने के लिए कौन सी पढ़ाई करनी पड़ती है, डीआईजी की सैलरी कितनी होती है, डीआईजी कौन-कौन से काम करता है, तो आइए जानते हैं कि डीआईजी कैसे बना जाता है।

DIG कैसे बने
DIG बनने के लिए क्या करे

1. डीआईजी क्या है

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, डीआईजी का पद पुलिस विभाग में एक ऊंचा पद माना जाता है। इसका फुल फॉर्म होता है, डिप्टी इंस्पेक्टर जनरल। इसे हिंदी में पुलिस उप महानिदेशक भी कहा जाता है। यह पद पुलिस महानिदेशक के नीचे का पद होता है। डीआईजी के पास पुलिस सर्विस तथा पावर का अधिकार होता है।

अगर हम डीआईजी की रैंकिंग के बारे में बात करें तो, यह भारतीय सेना के ब्रिगेडियर रैंक के बराबर होते हैं। इनके पास विभिन्न प्रकार की ताकत होती है। यह अपने मन के अनुसार काम कर सकते हैं परंतु उसके पहले इन्हें उनकी सूचना अपने सीनियर अधिकारी अर्थात पुलिस महानिदेशक को देनी होती है।
डीआईजी अधिकारी अपने कंधे पर बैच पहनते हैं, जिसका रंग गहरे नीले कलर का होता है तथा उसके ऊपर एक सफेद लाइन बनी होती है।

किसी भी राज्य में डीआईजी की संख्या उस राज्य में होने वाले जिलों के आधार पर तय की जाती है। एक राज्य में बहुत सारे डीआईजी हो सकते हैं। डीआईजी का हमारे समाज में अलग ही सम्मान होता है और यह अपने कामों के कारण अपनी अलग छवि बनाते हैं।

जब अभ्यर्थी पुलिस विभाग में किसी पद पर भर्ती हो जाता है, तो वह यही सोचता है कि, वह पुलिस विभाग में ऊंचे पोस्ट पर जाएं, क्योंकि ऊंची पोस्ट पर जाने के बाद उसके पास विभिन्न प्रकार की पावर आ जाती है, साथ ही उसकी सैलरी में भी बढ़ोतरी होती है।

परंतु पुलिस विभाग में ऊंचे पद पर जाने के लिए आपको काफी मेहनत करनी पड़ती है। जब कोई अभ्यर्थी पुलिस में जाने की तैयारी करता है, तो उसे राज्य या केंद्र सरकार के द्वारा कराई जाने वाली परीक्षा को देना पड़ता है तथा उसे पास करके ही वह पुलिस में भर्ती हो सकता है।

अगर आप पुलिस विभाग में डीआईजी बनना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको अच्छी शिक्षा हासिल करने की आवश्यकता होगी। पुलिस विभाग में डीआईजी बनने के लिए कौनसी शैक्षिक योग्यता चाहिए, इसके बारे में हम आपको नीचे बता रहे हैं।

2. डीआईजी बनने के लिए योग्यता

यह बात तो हम सभी जानते हैं, कि जब भी केंद्र अथवा राज्य सरकार द्वारा कोई भी नौकरी के लिए भर्ती निकाली जाती है, तो उसके लिए कुछ योग्यताएं भी मांगी जाती है। अगर आपके पास उस भर्ती के लिए मांगी गई योग्यता होती है, तभी आप उस भर्ती के लिए आवेदन कर सकते हैं।

इसी प्रकार डीआईजी बनने के लिए भी आपके अंदर कुछ योग्यताएं होनी चाहिए।आपके अंदर डीआईजी बनने के लिए कौन सी योग्यता होनी चाहिए, उसकी जानकारी हमने आपको नीचे रखी है।

डीआईजी बनने के लिए सबसे पहली योग्यता आपके अंदर यह होनी चाहिए कि आप भारत के नागरिक होने चाहिए और इसका आपके पास इसका वैलिड प्रूफ होना चाहिए।

डीआईजी बनने के लिए आपके पास भारत के किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से किसी भी विषय में ग्रेजुएशन की डिग्री होनी चाहिए।

इसके अलावा अपने राज्य अथवा केंद्र सरकार के द्वारा आयोजित परीक्षा को पास किया हो।

डीआईजी बनने के लिए आपकी कम से कम उम्र 25 साल होनी चाहिए, हालांकि ऐसा बहुत कम ही होता है कि कोई व्यक्ति 25 साल की उम्र में डीआईजी बनता है क्योंकि अभी तक हमने जो वरिष्ठ अधिकारी होते हैं, उन्हें ही डीआईजी के पद पर विराजमान होते हुए देखा है।

जो अभ्यर्थी डीआईजी बनना चाहता है, उसके ऊपर किसी भी प्रकार का कोई भी कानूनी केस नहीं होना चाहिए।

इसके अलावा डीआईजी बनने के लिए एसपी और डीएसपी के पद पर रहते हुए उन्होंने बहुत सारे ऐसे काम किए हुए होने चाहिए, जो जनहित से संबंधित हो।

डीआईजी बनने के लिए आपका मेंटली और शारीरिक से रूप से फिट होना जरूरी है।

आपको किसी भी प्रकार की कोई भी बीमारी नहीं होनी चाहिए। इसके अलावा आपको अपनी आंखों से साफ-साफ सभी दृश्य दिखाई देना चाहिए।

3. डीआईजी बनने के लिए दस्तावेज

जब आप डीआईजी बनने के लिए होने वाली प्रारंभिक परीक्षा, मुख्य परीक्षा और इंटरव्यू को सफलतापूर्वक पास कर लेते हैं, तो उसके बाद आप की नियुक्ति डीआईजी के पद पर कर दी जाती है।

हालांकि इस पद पर नियुक्ति देने के पहले आपसे आपके कुछ डॉक्यूमेंट मांगे जाते हैं, जिसमें आपका आधार कार्ड, आपका पैन कार्ड,आपकी बैंक अकाउंट डिटेल्स, चार पासपोर्ट साइज के फोटो, आपकी 10वीं, 12वीं और ग्रेजुएशन की मार्कशीट।

4. डीआईजी बनने के लिए एग्जाम की जानकारी

यह बात तो हम सभी जानते हैं कि, डीआईजी का पद कोई सामान्य पद नहीं होता। इस पद को प्राप्त करने के लिए काफी मेहनत करनी पड़ती है और एक रणनीति के तहत इस पद को प्राप्त करने के लिए अपने कदम आगे बढ़ाने पड़ते हैं।

डीआईजी का पद प्राप्त करने के लिए आपको विभिन्न चरणों को पार करना होता है। डीआईजी के पद के लिए राज्य तथा केंद्र दोनों सरकार वैकेंसीया निकालती हैं और इसके लिए परीक्षाएं का आयोजन करती है और आपको उन परीक्षा में शामिल होकर उन परीक्षाओं को सफलतापूर्वक पास करना होता है।

डीआईजी की परीक्षा सामान्य तौर पर 3 चरणों में संपन्न कराई जाती है, जिसमें सबसे पहले प्रारंभिक परीक्षा होती है, फिर मुख्य परीक्षा होती है और सबसे आखरी में अभ्यर्थी का साक्षात्कार अथवा इंटरव्यू लिया जाता है। आइए जानते हैं कि, प्रारंभिक परीक्षा, मुख्य परीक्षा और इंटरव्यू कैसे होता है।

डीआईजी बनने के लिए सबसे पहले अभ्यर्थी को प्रारंभिक परीक्षा को पास करना होता है। जब अभ्यर्थी प्रारंभिक परीक्षा को सफलतापूर्वक पास कर लेता है, तो उसके बाद उसे लिखित परीक्षा में शामिल होना पड़ता है और जब अभ्यर्थी मुख्य परीक्षा को भी सफलतापूर्वक पास कर लेता है, तो उसके बाद उसे सबसे आखरी में इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है।

इस इंटरव्यू में अभ्यर्थी से उसके बारे तथा मेंटल एबिलिटी से संबंधित कुछ सवाल पूछे जाते हैं।

अगर अभ्यर्थी इस इंटरव्यू को सफलतापूर्वक पास कर लेते हैं, तो उसके बाद उसे डीआईजी का पद प्रदान किया जाता है और इस तरह से वह अभ्यर्थी डीआईजी बन जाता है।

हालांकि डीआईजी बनना कोई आसान काम नहीं है।डीआईजी बनने में अच्छे अच्छों का तेल निकल जाता है, क्योंकि इसकी परीक्षा बहुत ही कठिन होती है। इसलिए डीआईजी बनने के लिए आपको अतिरिक्त मेहनत करने की हिम्मत पहले से ही बांध लेनी चाहिए।

5. राज्य लोक सेवा आयोग

ऊपर बताए गए तरीके की तरह ही राज्य सरकार भी अपने अभ्यर्थियों के हित के लिए राज्य लोक सेवा आयोग के तहत डीआईजी की परीक्षा का आयोजन करवाती है। इस परीक्षा में केवल उसी राज्य के लोग शामिल हो सकते हैं, जिस राज्य में इस परीक्षा का आयोजन होता है।

इसमें आपकी पोस्टिंग डिप्टी सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस के तौर पर होती है और आपको इस पद पर 10 साल से लेकर 15 साल तक काम करना होता है, तब जाकर आप सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस बनते हैं। इसके बाद आपका प्रमोशन होता है और 14 साल काम करने के बाद आप पुलिस उप महानिदेशक अर्थात डीआईजी बनने में कामयाब होते हैं।

6. डीआईजी की परीक्षा कितनी बार दे सकते हैं

डीआईजी की परीक्षा देने के लिए सरकार ने सभी वर्गों के लिए अलग-अलग प्रक्रिया निर्धारित की है, जिसके अंतर्गत अगर आप सामान्य वर्ग से संबंध रखते हैं तो आप 3 बार डीआईजी की परीक्षा दे सकते हैं।

इसके अलावा अगर आप अनुसूचित जन जाति से संबंध रखते हैं, तो आप कितनी भी बार डीआईजी की परीक्षा दे सकते हैं, साथ ही अगर आप ओबीसी समुदाय से संबंध रखते हैं तो आप 6 बार डीआइजी की परीक्षा दे सकते हैं।

7. डीआईजी की सैलरी

वैसे तो अभी तक आप यह जान ही गए होंगे कि, डीआईजी का पद पुलिस विभाग में कितना बड़ा पद होता है और इनकी पावर पुलिस विभाग में एसआई और डीसीपी से भी अधिक होती है, परंतु अगर हम इनकी सैलरी की बात करें तो, इनकी सैलरी राज्य तथा केंद्र सरकार के पे स्केल पर निर्भर करती है।

अगर कोई व्यक्ति डीआईजी के पद पर कार्यरत है, तो उसकी महीने की तनख्वाह सातवें वेतन आयोग के लागू होने के बाद 90 हजार के आसपास होती है। इसके अलावा अगर कोई अभ्यर्थी संघ लोक सेवा आयोग के माध्यम से डीआईजी का पद प्राप्त करने में सफलता प्राप्त करता है, तो उसकी महीने की सैलरी 150000 के आसपास होती है।

8. डीआईजी को मिलने वाली अन्य सुविधाएं

उपर हमने आपको बताया कि, डीआईजी की महीने की सैलरी कितनी होती है। डीआईजी को सैलरी के अलावा अन्य कई सरकारी लाभ भी मिलते हैं।

जैसे जो अभ्यर्थी डीआइजी के पद पर काम करता है, उसे घर में काम करने के लिए सरकारी नौकर, सुरक्षा के लिए सुरक्षा गार्ड, फ्री राशन खर्चा, फ्री लाइट बिल खर्चा, आवागमन के लिए सरकारी वाहन, फ्री पेट्रोल खर्चा, फ्री मोबाइल टॉकटाइम।

इसके अलावा पीएफ और ग्रेजुएटी का लाभ भी मिलता है। जब डीआईजी अपने पद से रिटायर होता है, तो उसे सरकारी पेंशन भी मिलती है।इस तरह डीआईजी को सैलरी के अलावा विभिन्न प्रकार के अन्य लाभ भी मिलते हैं।

9. डीआईजी की परीक्षा का सिलेबस

किसी भी परीक्षा को पास करने के लिए उस परीक्षा के सिलेबस के बारे में जानकारी होना जरूरी होता है, कयोंकि जब अभ्यर्थी को उस परीक्षा के सिलेबस के बारे में जानकारी होती है, तो वह उस परीक्षा को कैसे पास करना है इसकी तैयारी अच्छे से करता है और सिलेबस के अनुरूप विषयों का अध्ययन करता है।

अगर हम डीआईजी की परीक्षा के सिलेबस के बारे में बात करें तो, डीआईजी की परीक्षा में कौन-कौन से पाठ्यक्रम शामिल होते हैं, उसकी जानकारी हमने आपको नीचे दी है। डीआईजी की परीक्षा में नीचे बताए गए विषयों से संबंधित सवाल पूछे जाते हैं, इसलिए नीचे बताए गए विषयों का अच्छे से अध्ययन करें।

  • सामान्य ज्ञान
  • इतिहास
  • भूगोल
  • विज्ञान
  • अर्थशास्त्र
  • कंप्यूटर
  • इंग्लिश
  • गणित
  • रिजनिंग
  • निबंध
  • दैनिक घटनाएं
  • योजना
  • संविधान
  • राज्य व्यवस्था
  • महापुरुषों की जीवनी तथा अन्य

10. डीआईजी की परीक्षा की तैयारी कैसे करें

अगर आप डीआईजी बनना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको डीआईजी की परीक्षा की तैयारी कैसे करें, इसके बारे में जानकारी होना आवश्यक है। नीचे हमने डीआईजी की परीक्षा की प्रिपरेशन कैसे करें, इसके बारे में जानकारी दी है।

जैसा कि आप जानते हैं कि किसी भी प्रकार की परीक्षा की तैयारी करने के लिए एक टाइम टेबल की आवश्यकता होती है, जिसे हमें खुद बनाना पड़ता है।

टाइम टेबल से हमें यह पता चलता है कि हमें किस दिन कौन से विषय की कितने घंटे पढ़ाई करनी है, इसीलिए डीआइजी की परीक्षा की तैयारी करने के लिए एक टाइम टेबल का निर्माण अवश्य करें।

आप डीआइजी की परीक्षा की तैयारी ऐसी जगह पर करें, जहां पर बिल्कुल शांति हो क्योंकि जहां पर शोरगुल होगा, वहां पर आप अपना ध्यान नहीं लगा पाएंगे। इसके अलावा तैयारी करते समय अपना मोबाइल फोन स्विच ऑफ रख दे, जिससे आपको बार-बार डिस्टरबेंस ना हो।

इसके अलावा जो लोग पहले डीआइजी की परीक्षा दे चुके हैं, वैसे लोगों से मिले और उनसे इस परीक्षा के बारे में जानकारी प्राप्त करें। उनसे यह पूछा कि उन्होंने इस परीक्षा की तैयारी करने के लिए कैसे पढ़ाई की, कौन सी पढ़ाई की, कौन सी किताबों का इस्तेमाल पढ़ाई करने के लिए किया, रोजाना कितने घंटे पढ़ाई की।

इसके अलावा अपनी फिजिकल फिटनेस का विशेष तौर पर ध्यान रखें। फिजिकल फिटनेस के लिए आप रोजाना सुबह उठकर कसरत करें,इसके अलावा आप रनिंग, जंपिंग और स्विमिंग भी कर सकते हैं।

इसके अलावा डीआइजी की परीक्षा की तैयारी करने के लिए आप अपने घर के आस-पास स्थित किसी अच्छे कोचिंग इंस्टिट्यूट का सहारा भी ले सकते हैं और अगर आपके घर के आसपास कोई अच्छा कोचिंग इंस्टिट्यूट नहीं है, तो आप ऑनलाइन भी डीआइजी की परीक्षा की तैयारी कर सकते हैं, क्योंकि आज ऑनलाइन वीडियो प्लेटफॉर्म यूट्यूब पर ऐसे कई एजुकेशन से संबंधित चैनल है, जो ना सिर्फ डीआइजी बल्कि भारत की अन्य बड़ी-बड़ी परीक्षाओं की तैयारी भी करवाते हैं।

डीआइजी की परीक्षा की तैयारी करने के लिए आप डीआइजी की परीक्षा के पहले के प्रश्न पत्रों को इकट्ठा करने का प्रयास करें और उनमें दिए गए सवालों को हल करने का प्रयास करें। इससे आपको परीक्षा सिलेबस और परीक्षा पैटर्न के बारे में जानकारी मिलेगी।

सप्ताह में आपने जो भी तैयारी की है, उसका एक बार रिवीजन अवश्य कर लें तथा बिल्कुल शांत मन से डीआइजी की परीक्षा की तैयारी करें।

डीआइजी की परीक्षा में सफलता प्राप्त करने के लिए आप अपने अंदर आत्मविश्वास जगाएं और सच्चे मन और कड़ी मेहनत से अपनी तैयारी करते रहें। इसके अलावा रोजाना राज्य लोक सेवा आयोग की वेबसाइट को देखते रहे। इससे आपको डीआइजी की परीक्षा के बारे में आवश्यक नोटिफिकेशन मिलता रहेगा।

हम सभी यह बात अच्छी तरह से जानते हैं कि पुलिस एक ऐसा विभाग होता है, जिसमें हर साल भारत के अलग-अलग राज्य विभिन्न प्रकार की भर्तियां निकालते हैं, जिसमें बहुत से अभ्यर्थी बढ़ चढ़कर हिस्सा लेते हैं, जिसमे पुलिस विभाग का डीआईजी का पद एक ऐसा पद है, जिसका लेवल बहुत ऊंचा होता है।

इसका लेवल जितना ऊंचा होता है, उतना ही इसकी एग्जाम भी कठिन होती है, इसीलिए इसकी परीक्षा को आप बिना किसी जानकारी और मेहनत के पास नहीं कर सकते है।

आपकी और दोस्तों:

तो दोस्तों यह था डीआईजी कैसे बने, हम उम्मीद करते हैं कि इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आप सभी को पता चल गया होगा कि डीआईजी पुलिस ऑफिसर बनने के लिए क्या करना पड़ता है|

अगर आपको हमारा यह पोस्ट अच्छा लगा हो तो प्लीज इस पोस्ट को एक लाइक अवश्य करें और अपने दोस्तों के साथ फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर जरूर करें|

क्योंकि हम चाहते हैं कि अधिक से अधिक लोगों को यह पता चल पाएगी एक डीआईजी पुलिस ऑफिसर बनने की तैयारी कैसे करें धन्यवाद दोस्तों|

Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published.