CRPS कैसे ज्वाइन करे या बने | CRPF बनने के लिए क्या करे

CRPS कैसे ज्वाइन करे या बने: हमारा भारत देश एक विशाल जनसंख्या वाला देश है और इतनी बड़ी जनसंख्या को संभालने के लिए भारत सरकार ने विभिन्न प्रकार के नियम और कानून बनाए हैं। अगर भारतीय सेना की बात करें तो भारत में मुख्य रूप से तीन सेनाए हैं, जिसे हम जल सेना, थल सेना और वायु सेना कहते हैं।

इसमें जल सेना उसे कहते हैं, जो भारत के समुद्री विस्तार में रहकर भारत की सीमाओं की सुरक्षा करती है। इसके अलावा थल सेना उसे कहते हैं, जो जमीन पर रहकर भारत की सीमाओं की सुरक्षा करती है और वायु सेना उसे कहते हैं, जो आकाश में रहकर भारत की सीमाओं की निगरानी करती है।इसके अलावा भारत में भारत के जंगलों में सुरक्षा के लिए भारतीय सरकार ने सीआरपीएफ की तैनाती की है।

अगर आप भी सीआरपीएफ जॉइन करना चाहते हैं या फिर इसकी तैयारी कर रहे हैं, तो आज आप बिल्कुल सही जगह पर आए हैं, क्योंकि आज के इस आर्टिकल में हम आपको इससे जुड़ी सारी जानकारी देने वाले हैं।

अनुक्रम दिखाएँ

सीआरपीएफ कैसे ज्वाइन करें
सीआरपीएफ बनने के लिए क्या करें

CRPF kaise join kare ya bane

दोस्तों इससे पहले कि हम आपको बताएं कि सीआरपीएफ कैसे ज्वाइन करें या फिर सीआरपीएफ बनने के लिए क्या करना पड़ता है हम चाहते हैं कि सीआरपीएफ के बारे में हम आपको थोड़ी बेसिक जानकारी दे दे.

जिससे कि आपको यह पोस्ट समझने में ज्यादा अच्छी मदद हो पाए. और उसके बाद हम आपको सीआरपीएफ के बारे में पूरी जानकारी शेयर करेंगे.

सीआरपीएफ क्या है

हमारे भारत देश में केंद्रीय पुलिस बल में सबसे बड़ा बल सीआरपीएफ होता है सीआरपीएफ का मुख्यालय हमारे भारत देश के दिल्ली राज्य में स्थित है अगर हम सीआरपीएफ की ड्यूटी के बारे में बात सीआरपीएफ हमारे देश की सुरक्षा करती है इसके अलावा हमारे देश की कानून व्यवस्था को बनाए रखने में सीआरपीएफ योगदान करती है।

इसके अलावा केंद्र शासित प्रदेश और राज्य शासित प्रदेशों की सहायता करना तथा आतंकवाद का मुकाबला करने का काम भी सीआरपीएफ करती है।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सीआरपीएफ की स्थापना साल 1939 में 27 जुलाई को पुलिस के क्राउन रिप्रेजेंटेटिव के रूप में की गई थी और उसके बाद जब हमारा भारत देश आजाद हो गया|

तो साल 1949 में 28 दिसंबर को यह केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल बन गया। इसके अलावा सीआरपीएफ एक और महत्वपूर्ण भूमिका निभाती आ रही है, हमारे भारत देश में जब चुनाव होते हैं, तब चुनाव में होने वाली हिंसा और बूथ कैपचरिंग को रोकने के लिए चुनाव आयोग सीआरपीएफ की तैनाती करवाता है।

आपको यह जानकर भी गर्व होगा कि भारत की सीआरपीएफ 210 बटालियन के साथ दुनिया का सबसे बड़ा अर्ध सैनिक बल है।सीआरपीएफ को हिंदी में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल कहा जाता है और यह भारत सरकार के गृह मंत्रालय के अंतर्गत काम करता है। भारत के जंगली विस्तारो में खासतौर पर सीआरपीएफ जवानों की ही तैनाती की जाती है।

सीआरपीएफ का फुल फॉर्म

सीआरपीएफ को हिंदी में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल कहा जाता है तथा इसे अंग्रेजी में सेंट्रल रिजर्व पुलिस फोर्स कहा जाता है।

 सीआरपीएफ का काम

सीआरपीएफ कई प्रकार के काम करती है जिसकी जानकारी नीचे बताए अनुसार है।

अगर हमारे भारत देश के किसी भी इलाके में दंगे हो रहे हैं, तो केंद्र सरकार के आदेश पर सीआरपीएफ की तैनाती, वहां पर दंगों को रोकने के लिए की जाती है।

इसके अलावा सीआरपीएफ कम्युनिस्ट हिंसा और उग्रवाद से निपटने का काम करती है तथा उन्हें नियंत्रण भी करती है।

जब हमारे भारत देश में चुनाव होते हैं, तो सीआरपीएफ की तैनाती उन चुनावों में की जाती है। इसके अलावा जो चुनाव बूथ संवेदनशील होते हैं, वहां पर भी सीआरपीएफ की तैनाती की जाती है। इसके पीछे यह उद्देश्य होता है कि सीआरपीएफ चुनावों में होने वाली हिंसा और बूथ कैपचरिंग को रोके।।

सीआरपीएफ हमारे भारत देश के वीआईपी इलाकों और महत्वपूर्ण संस्थानों तथा प्रतिष्ठानों की सुरक्षा करने का काम भी करती है।

इसके अलावा सीआरपीएफ पर्यावरण में होने वाली गिरावट, लोकल वनस्पतियों और जीवो की सुरक्षा की जांच करने का काम भी करती है।

अगर युद्ध हो जाए तो सीआरपीएफ बहादुरी से लड़ने का काम करती है। इसके अलावा सीआरपीएफ अंतर्राष्ट्रीय शांति सुरक्षा मिशन में भी भाग लेती है, साथ ही जब हमारे देश में कोई प्राकृतिक आपदा आती है, तो उस समय बचाव कार्य और राहत अभियान में भी सीआरपीएफ बढ़ चढ़कर भाग लेती है।

इसके अलावा जब हमारे देश में 26 जनवरी मनाई जाती है तो उस दिन भी राजपथ पर सीआरपीएफ की परेड करवाई जाती है।

सीआरपीएफ जॉइन करने की प्रक्रिया

अगर आप सीआरपीएफ में भर्ती होना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको 3 स्टेप को पूरा करना होगा। इन तीन स्टेप में सबसे पहले आपको लिखित परीक्षा, उसके बाद फिजिकल फिटनेस,मेडिकल सिस्टम्स तथा सबसे आखरी में इंटरव्यू देना होता है।

अगर आप इन सभी में पास हो जाते हैं, तो फिर आपको सीआरपीएफ की नौकरी मिल जाती है। सीआरपीएफ में भर्ती कई पदों के लिए की जाती है, जिसकी जानकारी नीचे बताए अनुसार है।

  • Assistant Commandant
  • Sub Inspector
  • Constable
  • Assistant Sub-Inspector
  • Head Constable

सीआरपीएफ बनने के लिए फिजिकल फिटनेस टेस्ट

जब अभ्यर्थी सीआरपीएफ की लिखित परीक्षा में पास हो जाता है, तो फिर उसे फिजिकल टेस्ट और मेडिकल टेस्ट के लिए बुलाया जाता है। इस टेस्ट में 100 मीटर की दौड़ होती है।

इसे पूरा करने के लिए पुरुष अभ्यर्थियों को 16 सेकंड और महिला अभ्यर्थियों को 18 सेकंड दिए जाते हैं। इसके अलावा इसमें 5 मीटर और 3 मीटर की लंबी कूद भी होती है।

फिजिकल फिटनेस का टेस्ट देने वाले लोगों को लंबी कूद और ऊंची कूद में तीन बार मौका दिया जाता है और अगर अभ्यर्थी इन तीनों लोगों में से किसी एक में भी असफल हो जाता है, तो उसे फिर डिसक्वालीफाई कर दिया जाता है। जो लोग दौड़ और लंबी कूद को पास कर लेते हैं, उन्हें फिर मेडिकल टेस्ट के लिए बुलाया जाता है।

नीचे हमने आपको सीआरपीएफ के कुछ महत्वपूर्ण पदों के बारे में जानकारी दी है, जो आपके लिए अच्छा ऑप्शन साबित हो सकती है।

असिस्टेंट कमांडेंट

सीआरपीएफ में इस पद की भर्ती यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन के द्वारा की जाती है तथा जो अभ्यर्थी असिस्टेंट कमांडेंट बनना चाहते हैं, वह अभ्यर्थी यूपीएससी के द्वारा सीआरपीएफ असिस्टेंट कमांडेंट की परीक्षा में शामिल हो सकते हैं।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि असिस्टेंट कमांडेंट बनने के लिए आपके अंदर कुछ योग्यताएं होनी चाहिए, जिसकी जानकारी हमने आपको नीचे दी है।

असिस्टेंट कमांडेंट बनने के लिए पढ़ाई

अगर कोई अभ्यर्थी सीआरपीएफ में असिस्टेंट कमांडेंट का पद प्राप्त करना चाहता है, तो उसके लिए उसे किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन की डिग्री पूरी करनी होगी।

असिस्टेंट कमांडेंट बनने के लिए उम्र तथा अन्य योग्यता

सीआरपीएफ में असिस्टेंट कमांडेंट बनने के लिए सरकार ने सामान्य वर्ग की उम्र 18 साल से लेकर 25 साल तक निर्धारित की है। इसके अलावा जो लोग अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति से संबंध रखते हैं, उन्हें सरकार ने उम्र में छूट दी है।

इसके साथ ही ओबीसी समुदाय से जुड़े हुए लोगों को भी सरकार ने उम्र में छूट प्रदान की है।इस पद के लिए उम्मीदवार को फिजिकली और मेंटली फिट होना जरूरी है।

इसके अलावा उसे कोई गंभीर बीमारी नहीं होनी चाहिए, साथ ही पुरुष अभ्यर्थी की ऊंचाई 165 सेंटीमीटर और महिला अभ्यर्थी की ऊंचाई 157 सेंटीमीटर होना जरूरी है, तभी वह सीआरपीएफ जॉइन कर सकते हैं।इसके अलावा उम्मीदवार की छातीकम से कम 77 cm होनी चाहिए।

असिस्टेंट कमांडेंट बनने के लिए लिखित परीक्षा

जो अभ्यर्थी असिस्टेंट कमांडेंट बनना चाहता है, उसे इसके लिए दो पेपर देने होते हैं। उन दोनों पेपरों में कौन-कौन से सवाल आते हैं तथा वह पेपर कितने अंक का होता है, उसकी जानकारी हमने आपको नीचे दी है।

पेपर-1:

यह पेपर टोटल 250 अंकों का होता है और इस पेपर में सामान्य योग्यता और इंटेलिजेंस से संबंधित ऑब्जेक्टिव प्रश्न पूछे जाते हैं। यह पेपर अंग्रेजी भाषा के साथ साथ हिंदी भाषा में भी होता है।

पेपर-2:

यह पेपर 200 अंकों का होता है और इस पेपर में सामान्य अध्ययन, निबंध और मेंटल एबिलिटी से संबंधित सवाल पूछे जाते हैं, परंतु इस पेपर में कंप्रीहेंशन, कंपोनेंट ऑफ कम्युनिकेशन लैंग्वेज का माध्यम अंग्रेजी भाषा ही होती है।

सब इंस्पेक्टर

अगर आप सीआरपीएफ की सब इंस्पेक्टर की पोस्ट को पाना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको लिखित परीक्षा देनी होगी। जब आप लिखित परीक्षा में पास हो जाएंगे, तो उसके बाद आपको फिजिकल फिटनेस और मेडिकल टेस्ट के लिए बुलाया जाएगा।

सब इंस्पेक्टर बनने के लिए फिजिकल फिटनेस

सब इंस्पेक्टर बनने के लिए आपको 1 मील की दौड़ को 6.5 मिनट में पूरा करना होगा। इसके अलावा 12 फुट लंबी कूद कूदने के लिए आपको तीन बार मौका दिया जाएगा।

सब इंस्पेक्टर बनने के लिए लिखित परीक्षा

सब इंस्पेक्टर बनने के लिए अभ्यर्थियों को दो पेपर देने होते हैं। उन पेपर में कौन से सवाल आते हैं तथा वह पेपर कितने अंक के होते हैं, इसकी जानकारी हमने नीचे दी है।

पेपर-1:

सब इंस्पेक्टर बनने के लिए जो पहला पेपर होता है, उसमें जनरल अवेयरनेस, न्यूमेरिकल एबिलिटी और जनरल इंटेलिजेंस एंड रीजनिंग से संबंधित सवाल पूछे जाते हैं और यह पेपर टोटल 200 अंकों का होता है।

पेपर-2:

यह पेपर टोटल 100 अंकों का होता है और इस पेपर में हिंदी अथवा अंग्रेजी भाषा में निबंध तथा कंप्रीहेंशन ऑफ पैसेज इन इंग्लिश से संबंधित सवाल पूछे जाते हैं।

कांस्टेबल जनरल ड्यूटी

सीआरपीएफ में कांस्टेबल की पोस्ट पाने के लिए उम्मीदवार को सबसे पहले लिखित परीक्षा को पास करना होता है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सीआरपीएफ में कॉन्स्टेबल के पद के लिए आपका किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से दसवीं की परीक्षा पास करना जरूरी है।

सीआरपीएफ कांस्टेबल बनने के लिए फिजिकल फिटनेस

सीआरपीएफ कांस्टेबल बनने के लिए पुलिस उम्मीदवारों की लंबाई 170 सेंटीमीटर तथा महिला उम्मीदवारों की लंबाई 157 सेंटीमीटर होना जरूरी है।

इसके अलावा पुलिस उम्मीदवारों की छाती बिना बुलाए 80 सेंटीमीटर और बुलाने पर 84 सेंटीमीटर होना भी जरूरी है, साथ ही महिला और पुरुष उम्मीदवारों का वजन उनके शरीर के हिसाब से होना जरूरी है।

सीआरपीएफ कांस्टेबल बनने के लिए लिखित परीक्षा

सीआरपीएफ में कांस्टेबल बनने के लिए एक ही पेपर होता है और यह पेपर 100 अंको का होता है।इस पेपर में टोटल 100 सवाल होते हैं, जिसमें सामान्य बुद्धि और तर्क, सामान्य ज्ञान और सामान्य जागरूकता, बेसिक मैथ तथा अंग्रेजी और हिंदी भाषा से संबंधित सवाल पूछे जाते हैं।

सीआरपीएफ में सैलरी

जैसा कि आप जानते हैं कि सीआरपीएफ में विभिन्न प्रकार के पद होते हैं और हर पद की सैलरी भी अलग-अलग होती है। नीचे हमने आपको सीआरपीएफ में असिस्टेंट कमांडेंट, सब इंस्पेक्टर और कांस्टेबल की महीने की तनख्वाह के बारे में जानकारी दी है।

  • असिस्टेंट कमांडेंट – 46,800-1,17,300 ₹/महीने
  • सब इंस्पेक्टर – 27,900-1,04,400 ₹/महीने
  • कांस्टेबल – 15,600-60,600 ₹/महीने

सीआरपीएफ की सभी पोस्ट की लिस्ट

  • डायरेक्टर जनरल
  • इंस्पेक्टर जनरल
  • डिप्टी इंस्पेक्टर जनरल
  • कमांडेंट
  • सेकंड इन कमांडेंट
  • डिप्टी कमांडेंट
  • असिस्टेंट कमांडेंट
  • सूबेदार मेजर
  • इंस्पेक्टर
  • सब इंस्पेक्टर
  • असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर
  • हेड कांस्टेबल
  • कॉन्स्टेबल

सीआरपीएफ जॉइन करने के लिए टिप्स

अगर आप सीआरपीएफ जॉइन करने की तैयारी कर रहे हैं, तो इसके लिए हमने आपको नीचे कुछ टिप्स बताए हैं। यह टिप्स आपको सीआरपीएफ की तैयारी करने में सहायता करेंगे।

सबसे पहले तो अगर आपको सीआरपीएफ की परीक्षा को पास करना है, तो उसके लिए आपको अपना लक्ष्य निर्धारित करना होगा।

इसके अलावा हर रोज करंट अफेयर पर विशेष ध्यान दें। करंट अफेयर अर्थात वह चीज जो हाल ही में घटित हुई हो।ज्यादा से ज्यादा मॉक टेस्ट दें। हो सके तो सीआरपीएफ के जो पहले के पेपर हैं, उन्हें इकट्ठा करें और उन्हें ध्यान से देख कर उनका अध्ययन करें और उस पेपर में दिए गए सवालों को हल करने का प्रयास करें।

ऐसा करने से आपको पेपर के पैटर्न के बारे में जानकारी मिलेगी, साथ ही आप यह भी जान पाएंगे कि सीआरपीएफ के पेपर में किस तरह के सवाल पूछे जाते हैं।

सीआरपीएफ की परीक्षा की तैयारी करने के लिए आप अपने घर अथवा शहर में स्थित किसी अच्छे इंस्टिट्यूट का सहारा भी ले सकते हैं।

इसके अलावा अगर आप ग्रामीण एरिया में रहते हैं तो आप सीआरपीएफ की तैयारी करने के लिए यूट्यूब का सहारा भी ले सकते हैं, क्योंकि आज के समय में यूट्यूब पर कई ऐसे चैनल है, जहां पर सीआरपीएफ तथा अन्य परीक्षा से संबंधित तैयारियां करवाई जाती है।

सीआरपीएफ की परीक्षा में अधिकतर प्रश्न सामान्य ज्ञान से पूछे जाते हैं। इसीलिए जितना हो सके उतना ज्यादा सामान्य ज्ञान का अध्ययन करें। इसके अलावा राज्य के इतिहास,भूगोल, आर्थिक गतिविधि, नीति, योजना तथा जैविक विविधता पर भी विशेष ध्यान दें।

आप चाहे तो सीआरपीएफ की परीक्षा की तैयारी करने के लिए सीआरपीएफ परीक्षा पुस्तक भी बाजार के या ऑनलाइन स्टोर से खरीद सकते हैं।इन किताबों के अलावा सीआरपीएफ की तैयारी करने के लिए आप नौवीं और दसवीं की किताबों का भी अध्ययन कर सकते हैं।

रिलेटेड पोस्ट:

डीएम बनने के लिए क्या करे

एसडीएम बनने के लिए क्या करे

पुलिस इंस्पेक्टर या ऑफिसर बनने के लिए क्या करे

CID ऑफिसर कैसे बने

आपकी और दोस्तों

तो दोस्तों यह था सीआरपीएफ कैसे ज्वाइन करें या बने, हम उम्मीद करते हैं कि इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आपको सीआरपीएफ के बारे में पूरी जानकारी मिल गई होगी.

यदि आपको हमारी यह बहुत अच्छी लगी हो तो प्लीज इसे अपने दोस्तों के साथ और घर परिवार वालों के साथ फेसबुक और व्हाट्सएप पर अवश्य शेयर करें ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों को यह पता चल पाए कि सीआरपीएफ बनने के लिए क्या करना पड़ता है धन्यवाद दोस्तों.

Leave a Comment

Your email address will not be published.