चोर की दाढ़ी में तिनका कहानी स्टोरी



चोर की दाढ़ी में तिनका कहानी स्टोरी – नमस्कार दोस्तों आज हम एक बार फिर से आप लोगों के साथ एक बहुत ही अच्छी कहानी शेयर करने वाले हैं. और यह कहानी को पढ़कर आप लोगों को यह पता चल जाएगा कि चोरी करने वाला हमेशा पकड़ा जाता है चाहे वह कितना भी चालाक और चतुर क्यों ना हो.

हम आप लोगों से यह रिक्वेस्ट करेंगे कि इस गाने को आप पूरा पढ़ें ताकि आप लोगों को इस कहावत का अर्थ अच्छे से समझ में आ जाए. चलिए दोस्तों आज की कहानी की शुरुआत करते हैं.

पढ़े – ऊंट और सियार की कहानी

चोर की दाढ़ी में तिनका कहानी स्टोरी

Chor Ki Dadhi Me Tinka Kahani Story

एक नगर में एक बहुत ही धनवान व्यक्ति रहता था. उसके घर में बहुत सारे नौकर-चाकर थे. एक दिन उस धनवान व्यक्ति को पता चला कि उसके घर में उसका नकदी का डब्बा गुम हो गया है.

उस धनवान व्यक्ति ने डब्बे को ढूंढने के लिए दिन रात एक कर दिया लेकिन उसको वह नकदी का डब्बा मिल नहीं रहा था और इसी वजह से वह बहुत ज्यादा परेशान हो गया था.

धनवान व्यक्ति ने चोर का पता लगाने की बहुत कोशिश करी लेकिन उसको चोर का पता लगाने में सफलता नहीं मिल रही थी. लेकिन धनवान व्यक्ति को यह बात जरूर पता थी कि चोर कोई बाहर का व्यक्ति नहीं है और वह हमारे घर का ही कोई सदस्य है जिसने चोरी करी है.

उस व्यक्ति के घर में बहुत सारे नौकर-चाकर थे और उसका पहला शक अपने घर के नौकरों पर ही गया क्योंकि उन लोगों को ही पता था कि इस व्यक्ति के पास कितना धन और पैसा है और नौकरों को ही नकदी के दुबई की जानकारी थी.

पढ़े – भगवान जो करता है अच्छा ही करता है कहानी

लेकिन उस व्यक्ति को समझ में नहीं आ रहा था कि किस नौकर ने चोरी करी है और उसको यह समझ में नहीं आ रहा था कि उसका पता कैसे लगाया जाए. अचानक से उसके दिमाग में एक आइडिया आया.

धनवान व्यक्ति में अपने सभी नौकरों को एक एक छड़ी दी और उन सभी से कहा कि कल जब तुम काम करने के लिए आओगे तब सभी लोग अपनी अपनी छड़ी लेकर आना. और वह उनको कल चैक करेंगे.

तुम सभी में से जो भी चोर होगा उसकी छड़ी कल रात तक एक इंच लंबी हो जाएगी. अब उन नौकरों में से जो चोर था उसको चिंता और फिक्र होने लग गई और वह टेंशन में आ गया कि अब क्या किया जाए.

चोर ने अपना दिमाग लगाया और उसने सोचा कि चोरी तो मैंने ही करी है इसलिए मेरी ही छड़ी 1 इंच लंबी हो जाएगी और उस धनवान व्यक्ति को पता चल जाएगा कि मैं ही चोर हूं.

उसके दिमाग में एक idea आया उसने सोचा कि चोर तो मैं ही हूं और कल तक मेरी छड़ी 1 इंच लंबी हो जाएगी इसलिए पकड़े जाने से बचने के लिए मैं अपनी छड़ी को 1 इंच छोटा कर देता हूं ताकि मैं पकड़ा ना जाऊं और मेरी छड़ी की लंबाई सभी नौकरों को बराबर हो.

यह सोच कर तुरंत ही चोर ने अपनी छड़ी को 1 इंच छोटा कर दिया. उसके बाद उसकी टेंशन थोड़ी कम हो गई. और वह आराम से रात को सो गया.

अगले दिन एक धनवान व्यक्ति ने अपने सभी नौकरों की छड़ी का निरीक्षण किया. लेकिन चोर की छड़ी सभी नौकरों से 1 इंच छोटी थी और उस धनवान व्यक्ति हैं चोर को पकड़ लिया. चोर ने अपनी गलती को स्वीकार कर दिया.

इस प्रकार एक धनवान व्यक्ति ने अपने दिमाग का इस्तेमाल करके चोर का पता लगा लिया और उस नौकर को अपने घर से तुरंत ही बाहर कर दिया.

शिक्षा – दोस्तों यह कहानी से हम लोगों को यह शिक्षा मिलती है की हमें कभी भी बेईमानी नहीं करना चाहिए और हम लोगों को कभी भी चोरी नहीं करना चाहिए. क्योंकि चोर चाहे कितना भी चालाक और चतुर क्यों ना हो उस की चोरी अंत में पकड़ी जाती है.

पढ़े – अंत भले का भला

आपकी और दोस्तों

दोस्तों यह था चोर की दाढ़ी में तिनका पर कहानी हम उम्मीद करते हैं कि आज की स्टोरी पढ़कर आप लोगों को बहुत अच्छी सीख मिली होगी. और यदि आप लोगो को हमारी यह कहानी पसंद आई हो तो इसको अपने दोस्तों के साथ और घर परिवार वालों के साथ जरुर शेयर करें और ऐसे ही शिक्षा प्रदान करने वाली कहानी और अन्य आर्टिकल पढ़ने के लिए नियमित रूप से हमारे ब्लॉग पर आया करें.