CA कैसे बने पूरी जानकारी 2021 | CA बनने के लिए क्या करे

CA (Chartered Accountant) कैसे बने: वर्तमान के समय में हमारे देश के विद्यार्थियों के पास ऐसे कई विकल्प मौजूद है, जिसके द्वारा वह अपना एक अच्छा कैरियर बना सकते हैं।वैसे तो भारत में अधिकतर विद्यार्थियों को सिविल सर्विस में ही इंटरेस्ट रहता है, इसीलिए हर साल भारत के करोड़ों विद्यार्थी सिविल सर्विस की परीक्षाएं जैसे कि आईपीएस, आईएएस की तैयारी करते हैं|

और इन परीक्षाओं को पास करने के बाद डीएम, एसडीएम या पुलिस ऑफिसर बनते हैं, परंतु अब हमारे भारत देश में कुछ ऐसे प्राइवेट सेक्टर भी हैं, जहां पर विद्यार्थी अपना कैरियर बनाने में इंटरेस्टेड है, उन्हीं में से एक फील्ड है सीए की। सीए को बोलचाल की भाषा में चार्टर्ड अकाउंटेंट कहा जाता है।

वर्तमान में इंडियन इकोनामी के अंतर्गत फाइनेंस और अकाउंट से संबंधित कैरियर हमारे भारत देश के विद्यार्थियों के बीच आकर्षण का केंद्र बनता जा रहा है।

पिछले कुछ सालों से विभिन्न मल्टीनेशनल कंपनियां हमारा देश में आई है, इससे हमारे देश में नौकरी में भी बढ़ोतरी हुई है। इसके अलावा बहुत सी स्वदेशी कंपनियां भी हमारे देश में स्थापित हुई है, जिसके कारण हमारे देश के लोगों को कंपनियों से बड़ी संख्या में जॉब मिल रही है।

चाहे मल्टीनेशनल कंपनी हो चाहे स्वदेशी कंपनी हो। सभी कंपनियों में चार्टर्ड अकाउंटेंट अर्थात सीए की भूमिका महत्वपूर्ण होती है, क्योंकि एक चार्टर्ड अकाउंटेंट ही विभिन्न कंपनियों के अकाउंटेंट, फाइनेंस से संबंधित समस्याओं का समाधान करता है।

ऐसे में अगर कोई विद्यार्थी चार्टर्ड अकाउंटेंट बनकर अपना कैरियर बनाना चाहता है, तो यह उसके लिए एक अच्छा विकल्प रहेगा। आइए अब आगे जानते हैं, कि सीए यानी कि चार्टर्ड अकाउंटेंट कैसे बनते हैंऔर इसके लिए कौन-कौन सी योग्यताएं चाहिए होती है।

अनुक्रम दिखाएँ

CA कैसे बने पूरी जानकारी 2021

CA बनने के लिए क्या करें

CA kaise bane

1. सीए का फुल फॉर्म

सबसे पहले तो हम आप को सीए के फुल फॉर्म के बारे में जानकारी देते हैं। सीए का फुल फॉर्म होता है चार्टर्ड अकाउंटेंट। एक चार्टर्ड अकाउंटेंट किसी भी कंपनी से जुड़ी समस्याओं की देखरेख करता है और उनका समाधान करता है।हमारे भारत देश में चार्टर्ड अकाउंटेंट की डिमांड बहुत अधिक है|

क्योंकि यह एक रेपुटेड प्रोफेशन माना जाता है और इसमें काम करने वाले व्यक्ति को बहुत ही अच्छी सैलरी प्राप्त होती है।इनकी सैलरी कभी-कभी सरकारी कर्मचारियों से भी ज्यादा होती है, हालांकि सीए बनना इतना आसान नहीं है, जितना लोगों को लगता है। सीए बनने के लिए लोगों को काफी मेहनत करनी पड़ती है।

2. सीए अर्थात क्या

सीए का कोर्स सिर्फ हमारे भारत देश में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में सबसे पॉपुलर कोर्स है, परंतु सीए के बारे में वही लोग सबसे ज्यादा इंटरेस्ट रखते हैं, जिन्हें अकाउंट से जुड़े हुए सब्जेक्ट को पढ़ने और उसके अंतर्गत आने वाले कामों को करने में खुशी महसूस होती है।चार्टर्ड अकाउंटेंट्स विभिन्न प्रकार के काम करता है।

जैसे टेक्स्ट, अकाउंटेंसी, फाइनेंसियल गाइड, क्रेडिट ऑडिटिंग, एनालिसिस इत्यादि। यह एक ऐसी जॉब है, जिसमें अगर पूरी दुनिया में मंदी आ जाए तब भी सीए की जॉब की डिमांड रहती ही है|

क्योंकि कंपनी चाहे फायदे में हो चाहे घाटे में हो, उन्हें अपनी ऑडिटिंग करवानी ही पड़ती है और इसके लिए सीए की ही जरूरत पड़ती है। सीए के पद पर काम करने वाले व्यक्तियों को काफी सम्मान प्राप्त होता है, क्योंकि काफी कड़े संघर्ष के बाद व्यक्ति सीए का पद प्राप्त करने में कामयाब हो पाता है।

3. चार्टर्ड अकाउंटेंट बनने के लिए शैक्षिक योग्यता

जो अभ्यर्थी चार्टर्ड अकाउंटेंट बनना चाहता है उसे इसके लिए बारहवीं कक्षा का पास होना जरूरी है। अगर उसने 12वीं कक्षा में कॉमर्स विषय लिया है, तो 50% तथा अन्य विषय लिया है तो 55% अंक लाना जरूरी है।

4. चार्टर्ड अकाउंटेंट बनने के लिए परीक्षा

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अगर आपको चार्टर्ड अकाउंटेंट बनना है, तो इसके लिए सबसे पहले आपको इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया का मेंबर बनना होगा।

वैसे तो विद्यार्थी दसवीं कक्षा पास करने के बाद विधार्थी कॉमन प्रोफिसिएनसी टेस्ट के लिए अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं, परंतु जब वह 12वीं कक्षा पास कर लेंगे, तभी इस परीक्षा में शामिल हो सकते हैं।

इसके अलावा जो लोग ग्रेजुएशन का कोर्स कर सकते हैं, वह चार्टर्ड अकाउंटेंट के कोर्स में सीधा दूसरे चरण की परीक्षा में शामिल हो सकते हैं।ग्रेजुएशन कर चुके विद्यार्थियों के लिए सीपीटी की परीक्षा देने के लिए कोई बाध्यता नहीं है। इस चरण में विद्यार्थी को इंटीग्रेटेड प्रोफेशनल कोमपीटेस कोर्स की परीक्षा पास करनी होती है।

5. सीपीटी का फुल फॉर्म और अन्य जानकारी

सबसे पहले तो हम आपको सीपीटी के फुल फोरम के बारे में बता देते हैं। इसका फुल फॉर्म होता है कोमन प्रोफिशिएंसी टेस्ट।
जो विद्यार्थी सीए में अपना कैरियर बनाना चाहते हैं, उन्हें इस टेस्ट को पास करना बहुत ही जरूरी होता है, तभी वह आगे की प्रक्रिया में शामिल हो सकते हैं।

कॉमन प्रोफिशिएंसी टेस्ट में चार विषयों से संबंधित सवाल पूछे जाते हैं, जिनमें मर्केंटाइल लॉ, जनरल इकोनॉमिक्स, क्वानटेटिव एप्टीट्यूड तथा एकाउंटिंग से संबंधित सवाल पूछे जाते हैं।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह परीक्षा टोटल 200 अंकों की होती है और इस परीक्षा में बहुविकल्पीय प्रश्न आते हैं अर्थात यह परीक्षा एमसीक्यू के ऊपर आधारित होती है।

इस परीक्षा को पास करने के लिए विद्यार्थी को कम से कम 100 अंक तथा हर विषय में कम से कम 40% अंक लाने जरूरी होते हैं। अगर उनके इससे कम अंक आते हैं, तो वह इस परीक्षा में पास नहीं हो पाएंगे और ना ही आगे की पढ़ाई कर पाएंगे।

सीपीटी एग्जाम का सिलेबस

इस परीक्षा को पास करने के लिए आपको इसके सिलेबस के बारे में जानकारी होनी जरूरी है। इस परीक्षा में निम्नलिखित विषयों से संबंधित सवाल पूछे जाते हैं। इसलिए आपको इन्हीं विषयों की अच्छे से पढ़ाई करनी होती है, ताकि आप इस परीक्षा को पास कर सकें।

  • एकाउंटिंग
  • मर्केंटाइल लॉ
  • जनरल इकोनॉमिक
  • क्वानटेटिव एप्टीट्यूड

6. आईपीसीसी

अगर हम आईपीसीसी के फुल फॉर्म के बारे में बात करें तो इसका फुल फॉर्म होता है इंटीग्रेटेड प्रोफेशनल कोमपीटेंस कोर्स। जब अभ्यर्थी कॉमन प्रोफिशिएंसी टेस्ट को सफलतापूर्वक पास कर लेता है, तो उसके बाद अभ्यर्थियों को इंटीग्रेटेड प्रोफेशनल कोमपीटेंस कोर्स की परीक्षा में शामिल होना होता है।

चार्टर्ड अकाउंटेंट बनने के लिए यह दूसरा चरण होता है।आईपीसीसी में अपना रजिस्ट्रेशन करवाने के बाद अभ्यर्थी इसके दो विभागों में होने वाली परीक्षा में शामिल होते हैं|

जिसके पहले विभाग में 4 परीक्षाएं होती है, जिनमें अकाउंटिंग, बिजनेस लॉज, एथिक्स और कम्युनिकेशन, कास्ट अकाउंटिंग एंड एंड फाइनेंसियल मैनेजमेंट टैक्सेशन एग्जाम|

तथा दूसरे विभाग में 3 परीक्षाएं होती है, जिनमें एडवांस अकाउंटिंग, ऑडिटिंग एंड एश्योरेंस, इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी एंड स्ट्रैटेजिक मैनेजमेंट की परीक्षाएं शामिल है।

सीए का पद पाने के लिए इन दोनों विभागों की परीक्षाओं को पास करना जरूरी होता है।आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इन सभी परीक्षाओं को पास करने के लिए अभ्यर्थी को हर विषय में कम से कम 40% अंक लाना जरूरी होता है।

अगर उसके इससे कम अंक आते हैं, तो वह इस परीक्षा में फेल हो जाएगा।

  • आईपीसीसी विभाग 1 का सिलेबस
  • अकाउंटिंग
  • बिजनेस लॉज
  • एथिक्स और कम्युनिकेशन
  • कास्ट अकाउंटिंग एंड फाइनेंसियल मैनेजमेंट
  • टैक्सेशन

आईपीसीसी विभाग 2 का सिलेबस

एडवांस्ड एकाउंटिंग

ऑडिटिंग एंड अस्सुरांस

इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी एंड स्त्रतेर्गिक मैनेजमेंट

7. चार्टर्ड अकाउंटेंट फाइनल कोर्स

जब अभ्यर्थी आईपीसीसी की परीक्षा को सफलतापूर्वक पास कर लेता है, तो उसके बाद उसे लगभग 100 घंटे की आईटीटी एंड ओरियंटेशन की ट्रेनिंग लेनी होती है।

इस ट्रेनिंग को पूरा करने के बाद आपको प्रैक्टिकल ट्रेनिंग के लिए आवेदन करना होता है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह ट्रेनिंग 3 सालों की होती है।इस ट्रेनिंग को आर्टिकलशिप भी कहा जाता है।

इस ट्रेनिंग को करने के दरमियान जैसे ही आप के 3 साल पूरे होने वाले होते हैं, वैसे ही 3 साल पूरे होने के 6 महीने पहले आप सीए का फाइनल एग्जाम दे सकते हैं।

यह एडवांस लेवल की परीक्षा होती है और यह परीक्षा ग्रुप 1 और ग्रुप 2 में विभाजित की जाती है।चलिए इसके बारे में जानकारी प्राप्त करते हैं।

#1 चार्टर्ड अकाउंटेंट ग्रुप 1 सिलेबस

  • फाइनेंसियल रिपोर्टिंग
  • स्ट्रैटजिक फाइनेंसियल मैनेजमें
  • एडवांस्ड ऑडिटिंग एंड प्रोफेशनल एथिक्स
  • कॉर्पोरेट एंड अलाइड लॉज़

#2 चार्टर्ड अकाउंटेंट ग्रुप 2 सिलेबस

  • एडवांस्ड मैनेजमेंट एकाउंटिंग
  • इनफार्मेशन सिस्टम्स कण्ट्रोल एंड ऑडिट
  • डायरेक्ट टैक्स लॉज़
  • इनडायरेक्ट टैक्स लॉज़

जो अभ्यर्थी इस परीक्षा में सफल हो जाता है, उसे फिर आईसीएआई की कंपनी में अपना रजिस्ट्रेशन करवाना होता है और उसके बाद आप एक चार्टर्ड अकाउंटेंट बन जाते हैं तथा अपनी मंजिल को प्राप्त कर लेते हैं।

8. चार्टर्ड अकाउंटेंट का काम

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अधिकतर चार्टर्ड अकाउंटेंट कॉरपोरेट बिजनेस एडवाइजर देने तथा प्रोजेक्ट प्लैनिंग का काम भी करते हैं।

इसके अलावा चार्टर्ड अकाउंटेंट सभी सरकारी और प्राइवेट बैंक, पब्लिक लिमिटेड कंपनी,ऑडिट फर्म, फाइनैंशल कंपनियां, इन्वेस्टमेंट हाउस, म्यूचल फंड, पोर्टफोलियो मैनेजमेंट कंपनी, स्टॉक ब्रोकिंग फर्म, लीगल फर्म और हाउस आदि में पैसों के लेनदेन से संबंधित डॉक्यूमेंट की जांच करते हैं और कंपनियों के हिसाब की देखरेख का डाटा रखते हैं।

एक चार्टर्ड अकाउंटेंट का काम बहुत ही सम्मान वाला और चुनौतीपूर्ण होता है, क्योंकि काफी मेहनत के बाद व्यक्ति चार्टर्ड अकाउंटेंट का पद प्राप्त करने में कामयाब होता है।

एक चार्टर्ड अकाउंटेंट सीए प्रोफेशनल के तौर पर देश विदेश की बड़ी-बड़ी कंपनियों में फाइनेंस अकाउंट और टैक्स डिपार्टमेंट में, फाइनेंस मैनेजर, अकाउंट मैनेजर, फाइनेंशियल बिजनेस एनालिस्ट, ऑडिटिंग इंटरनल ऑडिट, स्पेशल ऑडिट सहित चेयरमैन मैनेजिंग डायरेक्टर, सीईओ, फाइनेंस डायरेक्टर, फाइनेंशियल कंट्रोलर, चीफ अकाउंटेंट, चीफ इंटरनल ऑडिटर जैसे महत्वपूर्ण पदों पर काम करता है।

9. चार्टर्ड अकाउंटेंट कोर्स के बाद मिलने वाले पद

जब अभ्यर्थी चार्टर्ड अकाउंटेंट का कोर्स सफलतापूर्वक पूरा कर लेता है, तो वह किसी भी कंपनी में चार्टर्ड अकाउंटेंट के पद के लिए आवेदन दे सकता है। इसके अलावा भी उसे अन्य कई पद मिलते हैं।

जिसकी जानकारी हम आपको नीचे दे रहे हैं।यह सभी पद अपने आप में काफी बड़े और जिम्मेदारी वाले होते हैं और इन पदों की सैलरी भी अच्छी खासी होती है।

फाइनेंस अकाउंट और टैक्स डिपार्टमेंट में, फाइनेंस मैनेजर, अकाउंट मैनेजर, फाइनेंशियल बिजनेस एनालिस्ट, ऑडिटिंग इंटरनल ऑडिट, स्पेशल ऑडिट सहित चेयरमैन मैनेजिंग डायरेक्टर, सीईओ, फाइनेंस डायरेक्टर, फाइनेंशियल कंट्रोलर, चीफ अकाउंटेंट, चीफ इंटरनल ऑडिटर

10. चार्टर्ड अकाउंटेंट की सैलरी

बहुत से लोगों की यह जानने में रुचि रहती है, कि आखिर एक चार्टर्ड अकाउंटेंट को कितनी तनख्वाह मिलती है, तो आज हम आपको इसी के बारे में बताने वाले हैं।

अगर हम चार्टर्ड अकाउंटेंट की महीने की सैलरी के बारे में बात करें, तो जो चार्टर्ड अकाउंटेंट जूनियर लेवल पर होता है, उसे महीने की सैलरी के रूप में ₹25000 से लेकर ₹30000 मिलते हैं।

इसके अलावा जो चार्टर्ड अकाउंटेंट के सीनियर लेवल पर होता है, उसे महीने की सैलरी के रूप में ₹40000 से लेकर ₹50000 तक की तनख्वाह मिलती है। इसके अलावा जब इनका अनुभव बढ़ता जाता है तो फिर इनके वेतन में भी वृद्धि होने लगती है।

अगर हम इंटरनेशनल लेवल पर चार्टर्ड अकाउंटेंट की सैलरी के बारे में बात करें, तो एक चार्टर्ड अकाउंटेंट की सैलरी 7500000 रुपए वार्षिक हो सकती है। कई कंपनियां चार्टर्ड अकाउंटेंट की जॉब के लिए कैंपस प्लेसमेंट का आयोजन करती हैं।

11. चार्टर्ड अकाउंटेंट कोर्स की फीस

चलिए अब हम आपको आगे शॉर्ट में चार्टर्ड अकाउंटेंट कोर्स की फीस के बारे में जानकारी दे देते हैं, परंतु इससे पहले आपको बता दें कि जो भी कॉमर्स स्ट्रीम के छात्र होते हैं, वही सबसे अधिक चार्टर्ड अकाउंटेंट के कोर्स का चुनाव करते हैं|

चलिए अब जानते हैं, कि इस कोर्स की फीस कितनी होती है। आमतौर पर चार्टर्ड अकाउंटेंसी को मुख्य रूप से तीन चरणों में बांटा गया है, जिसकी फीस निमनलिखित है।

#1 सीए फाउंडेशन

  • फाउंडेशन रजिस्ट्रेशन फीस: 9800
  • परीक्षा फीस: 1500

#2 सीए इंटरमीडिएट

  • इंटरमीडिएट रजिस्ट्रेशन फीस 18000
  • आईसीआईटीएसएस: 6500
  • परीक्षा फीस: 2700

#3 सीए फाइनल

  • फाइनल कोर्स फीस: 22000
  • आईसीआईटीएसएस फीस: 6500
  • परीक्षा फीस: 2700 फीस

12. सीए कितने साल का कोर्स होता है

चार्टर्ड अकाउंटेंट बनने के लिए आप चार्टर्ड अकाउंटेंट का कोर्स 12वीं कक्षा को पास करने के बाद और ग्रेजुएशन को पास करने के बाद भी कर सकते हैं।

वैसे तो सीए का कोर्स काफी प्रतिष्ठा वाला कोर्स होता है परंतु यह एक लंबा कोर्स भी होता है, इसीलिए बहुत से छात्र इस कोर्स को करने से डरते हैं। आइए जानते हैं, कि सीए का कोर्स कितने साल का होता है।

12वीं कक्षा पास करने के बाद सीए कोर्स की अवधि

12वीं कक्षा पास करने के बाद अगर आप चार्टर्ड अकाउंटेंट का कोर्स करते हैं, तो इसके लिए आपको 4.5 साल का समय लग जाएगा।

 ग्रेजुएशन पास करने के बाद सीए कोर्स की अवधि

अगर आप अपना ग्रेजुएशन पूरा करने के बाद चार्टर्ड अकाउंटेंट का कोर्स करना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको 3 साल का समय लगेगा।

13. सीए के अंतर्गत पढ़ाए जाने वाले सब्जेक्ट

जो भी अभ्यर्थी सीए का कोर्स करना चाहता है, उसे सीए के कोर्स में पढ़ाए जाने वाले विषयों के बारे में जानकारी होनी जरूरी है। क्योंकि जब उसे विषयों के बारे में जानकारी होगी, तभी वह अच्छे से अपनी तैयारी कर पाएगा, चलिए जानते हैं कि सीए के कोर्स में कौन-कौन सी पढ़ाई करवाई जाती है।

  • क्वानटेटिव एप्टीट्यूड
  • जनरल इंग्लिश
  • मरकेटाइल लो
  • फंडामेंटल ऑफ एकाउंटिंग
  • बिजनेस कम्युनिकेशन
  • एकाउंटिंग
  • बिजनेस लॉ एथिक्स एंड कम्युनिकेशन
  • कॉस्ट अकाउंटिंग एंड फाइनेंशियल मैनेजमेंट
  • टैक्सेशन
  • एडवांस अकाउंटिंग
  • ऑडिटिंग एंड एश्योरेंस
  • इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी एंड स्ट्रैटेजिक मैनेजमेंट
  • एडवांस ऑडिटिंग एंड प्रोफेशनल एथिक्स
  • फाइनेंशियल रिर्पोटिंग स्ट्रैटेजिक फाइनेंशियल मैनेजमेंट
  • कॉरपोरेट एंड एलाइड लो
  • इंफॉर्मेशन सिस्टम कंट्रोल एंड ऑडिट
  • एडवांस मैनेजमेंट एकाउंटिंग
  • डायरेक्ट टैक्स लाॅ
  • इनडायरेक्ट टैक्स लाॅ

आपकी और दोस्तों

तो दोस्तों यह था चार्टर्ड अकाउंटेंट या सीए कैसे बने, हम आशा करते हैं कि इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आप सभी को यह पता चल गया होगा कि एक चार्टर्ड अकाउंटेंट बनने के लिए आपको क्या करना पड़ता है|

यदि आज की हमारी यह पोस्ट आपको हेल्पफुल लगी हो तो प्लीज इसे अपने दोस्तों के साथ फेसबुक और व्हाट्सएप पर अवश्य शेयर करें|

क्योंकि हम चाहते हैं कि अधिक से अधिक लोगों को यह पता चल पाए कि सीए बनने की तैयारी कैसे करते हैं धन्यवाद दोस्तों|

Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published.