बंदर और बिल्ली की कहानी – Monkey and Two Cats Story in Hindi



Monkey and Two Cats Story in Hindi – नमस्कार दोस्तों आज हम फिर से आप लोगों के साथ एक बहुत ही अच्छी कहानी लेकर आए हैं जिसको पढ़कर आपको बहुत कुछ सीखने को मिलेगा और आज की कहानी है एक बंदर और बिल्ली की स्टोरी

आप लोगों ने बचपन में यह कहानी सुनी होगी लेकिन आज हम इस स्टोरी में आपको इस कहानी से हमें क्या सीख मिलती है इसके बारे में आपको विस्तार में बताएंगे

चलिए दोस्तों ज्यादा टाइम वेस्ट ना करते हुए हम आज की इस बहुत ही मजेदार हिंदी कहानी की शुरुआत करते हैं और हम आपसे रिक्वेस्ट करेंगे कि आप इस कहानी को पूरे अंत तक पढ़े ताकि आपको इस कहानी से जो सीख मिलेगी उसके बारे में पता चल पाए

पढ़े – लालची शिकारी और चिड़िया की कहानी

बंदर और बिल्ली की कहानी

Monkey and Two Cats Story in Hindi

Monkey and Two Cats Story in Hindi

एक गांव में दो बिल्लियां रहती थी वह दोनों एक दूसरे के बहुत अच्छे दोस्त थे. दोनों बिल्लियों को जब कभी भी कुछ मिलता तो वह लोग आपस में मिल बैठकर खाया करते थे.

1 दिन दोनों बिल्ली को एक रोटी मिलती है और उस रोटी को बराबर हिस्से में बांटने के चक्कर में वह दोनों के बीच में झगड़ा होने लगता है. एक बिल्ली कहती थी कि तुम्हारा रोटी का टुकड़ा बड़ा है और दूसरी बिल्ली कैसी थी मेरा नहीं तुम्हारा रोटी का टुकड़ा बड़ा है और इस बात को लेकर के उनमें झगड़ा होना शुरू हो गया

जब वह दोनों बिल्ली आपस में एक रोटी के टुकड़े का बराबर हिस्सा नहीं कर पा रहे थे तब उन्होंने निर्णय लिया कि एक बंदर के पास जाते हैं तब वह दोनों बिल्ली उस रोटी के दोनों टुकड़ों को लेकर एक बंदर के पास चले गए

उन्होंने बंदर को अपना पंच बना लिया था. बंदर ने एक तराजू मंगाया और तराजू के दोनों प्लेट में रोटी के एक एक टुकड़ों को रख दिया और फिर बंदर जो भी तराजू का प्लेट नीचे होता उसमें से रोटी के टुकड़े को उठाकर थोड़ा सा हिस्सा खा लेता

पढ़े – Lion and Fox Story in Hindi

लेकिन जब वह ऐसा करता तो दूसरे प्लेट में रखी हुई रोटी का वजन भारी हो जाता और वह नीचे हो जाता. तब बंदर उस प्लेट में से थोड़ा सा खा लेता. इस तरह से एक बंदर बार-बार दोनों रोटी के टुकड़ों में से थोड़ा थोड़ा खाने लग गया

जब दोनों रोटी के टुकड़ों बहुत कम भाग बज गया था तब दोनों बिल्ली हैं घबरा गई और उन्होंने कहा बंदर से कि तुम चले जाओ हम लोग आपस में भी अपना बंटवारा कर लेंगे आपको कष्ट करने की कोई जरूरत नहीं है

लेकिन बंदर को यह बात पसंद नहीं आई उसने दोनों बिल्लियों से कहा कि मैं इतनी देर से मेहनत कर रहा हूं तब मैं ऐसे नहीं जाऊंगा उसने तुरंत ही दोनों बचे हुए रोटी के टुकड़ों को भी अपने मुंह में डाल दिया और दोनों बिल्लियों को डरा कर भगा दिया और फिर अपना मजे से रोटी खाता खाता वहां से चला गया

और फिर दोनों बिल्ली एक दूसरे का मुंह देखती रह गई दोनों बिल्ली को कुछ भी नहीं मिल पाया

इस कहानी से दोस्तों आप लोगों को क्या सीख मिलती है

Moral of this Hindi Story

बंदर और दो बिल्ली की इस कहानी से हमको यह सीख मिलती है कि आपकी फुट का नतीजा बहुत बुरा होता है

इसलिए हम लोगों को आपस में कभी भी लड़ाई झगड़ा नहीं करना चाहिए और मिल-बांटकर एक दूसरे के साथ रहना चाहिए

क्योंकि कभी-कभी दुनिया में ऐसे लोग हैं जो लोग दो दोस्तों के बीच में आते हैं और उनकी लड़ाई झगड़े का फायदा उठा कर अपना फायदा कर कर वहां से चले जाते हैं इसलिए आप लोगों को आपस में सोच समझकर कोई भी निर्णय लेना चाहिए

पढ़े – प्यासा कौवा की कहानी

आपकी और दोस्तों

दोस्तों यह था बंदर और दो बिल्लियों की कहानी ( Monkey and Two Cats Story in Hindi ) हम उम्मीद करते हैं कि आज कि यह हिंदी स्टोरी पढ़कर आपको बहुत अच्छा सीख मिला होगा

यदि आपको हमारी यह कहानी पसंद आई हो तो कृपया करके इसे अपने दोस्तों के साथ और घर परिवार वालों के साथ Facebook WhatsApp Twitter और Google plus पर जरूर शेयर करें ताकि सब लोगों को इस कहानी से अच्छी चीज मिल पाए. और भी ऐसी हिंदी कहानी और रोमांचक पोस्ट पढ़ने के लिए नियमित रूप से हमारे ब्लॉग पर आया करें धन्यवाद दोस्तों