बाल दिवस पर कविता | Bal Diwas Poem in Hindi

Bal Diwas Poem in Hindi: नमस्कार दोस्तों आज के इस पोस्ट में हम आपके साथ बाल दिवस पर कविता शेयर करने वाले है जो की स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों के लिए बहुत लाभदायक शाबित होगा. बल दिवस बच्चो का दिन होता है और इन पोएम को पढ़ने के बाद आपको बहुत अच्छा लगेगा. दोस्तों यदि आपको हमारी ये पोएम कलेक्शन अच्छी लगे तो इसको अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करना|

तो फिर चलिए दोस्तों बिना कोई टाइम गवाते हुए सीधे इन कविता को पढ़ते है|

बाल दिवस पर कविता

Bal Diwas Poem in Hindi

Bal diwas par kavita

1. चाचा नेहरू बाल दिवस कविता

हम सबके प्यारे चाचा नेहरू थे
भारत मां के राज दुलारे चाचा नेहरू थे।।

जन्मदिन चाचा नेहरू का बाल दिवस कहलाता है
चाचा नेहरू का बच्चों से बहुत पुराना नाता है।।

बच्चे इनको प्यार से सदा चाचा नेहरू कहते हैं
चाचा जी इन बच्चों के बीच बच्चा बनकर रहते हैं।।

चाचा नेहरू के चरणों में फूल मालाएं चढ़ाएंगे
बाल दिवस के दिन हम सभी बच्चे मिलकर खुशी के गीत गाएंगे।।

चाचा नेहरू ने देखा था समृद्ध भारत का अंखंड सपना
उस सपने को पूरा करना, बच्चों को है अपना सपना ।।

भारत मां का मान बढ़ाया, ऐसा लाल था चमन का
नाम किया रोशन, भारत रत्न हिन्दुस्तान का।।

चाचा नेहरू को करते हम सब सलाम
भाईचारे का देते हैं चाचा नेहरू पैग़ाम।।

मिली है जो शिक्षा हमे आपसे उसको निभाएंगे
आपकी दी हुई शिक्षा से भारत मां का सम्मान बढ़ाएंगे।।

हम सबके प्यारे चाचा नेहरू थे
भारत मां के राज दुलारे चाचा नेहरू थे।।

2. बाल दिवस है आज ( कविता )

14 नवंबर का ये दिन, आज है बाल दिवस का दिन
हर साल ये आता है ,बच्चो के मन को भाता है
ढेर सारी होती है खुशियां, बच्चों के संग मनाया जाता है
नेहरू जी की याद में ,बाल दिवस मनाया जाता है।।

सुबह जल्दी उठ जाते है, स्कूल बच्चे जाते है
बाल-दिवस के मौके पर, स्कूल में दुकानें लगाते है
खुशियों का होता है त्योहार , सब साथ मिलकर मानते है
भाईचारा, प्रेम , एकता को जन-जन तक पहुंचाते है।।

सब मिलकर करते हैं मस्ती, टीचरों का साथ भी पाते हैं
बच्चे सब साथ मिलकर बाल दिवस मनाते हैं
चाचा नेहरू के बारे में जानकारियां दी जाती हैं
राष्ट्रहित में उनके जीवन का योगदान बतलाया जाता है।।

अच्छी शिक्षा लेकर सब बच्चे घर आते हैं
बाल-दिवस पर ज्ञान बुद्धि का संगम भी वो पाते है
उन बातों को जीवन में सफल करके दिखाना है
बच्चों तुमको भी चाचा नेहरू जैसा बन जाना है
खूब नाम कमाना है, देश के लिए कुछ करके दिखाना है।।

3.बाल दिवस नेहरू जी के जन्मदिन पर कविता

नेहरू जी के जन्मदिवस के उपलक्ष्य में
बाल-दिवस मनाया जाता है
जीवन पथ पर आगे बढ़ने की प्रेरणा
उनके द्वारा दी जाती है।।

बच्चो से था उनका खास लगाव ,बच्चे उनको भाते थे
इसीलिए वो उनके लिए टॉफी ओर खिलौने लाते थे
नेहरू जी का था ये सपना पढ़े भारत का हर बच्चा अपना
कोई नहीं रहे अनपढ़ सबको मिले अधिकार अपना।।

शिक्षा ज्ञान के वो पुजारी,
बच्चे उन सबके के उपकारी
उनका सपना था भारत का बच्चा
पढ़ लिखकर कुछ काम करे अच्छा।।

नई योजनाओं की दी, अच्छी सी प्यारी सौगात
इसलिए थे नेहरू जी, सब बच्चो के खासम-खास
बाल दिवस के मौके पर ,हम सब करते है उनको याद
उनकी वर्षगांठ पर क्यू ना दे, उनको ये उपहार
उनका सपना पूरा करके, करे भारत का उद्धार।।

4. आता है हर वर्ष ये दिन

हर साल आता है ये दिन,
हर वर्ष मनाया जाता है
बच्चो की खुशियों को लेकर
ये दिन हर वर्ष आता है।।

बाल दिवस पर बच्चों तुमको
मीठी कहानियां सुनाई जाती है
प्रेम, शांति ,भाईचारे के संग
शिक्षा की बातें बतलाई जाती हैं।।

तुम सब हो इस देश का फ्यूचर
एजुकेशन में सबसे ऊपर
भारत माता का सम्मान हो
मां-पापा का गौरव गान हो।।

खूब पढ़ो ओर खूब लिखो
तुमको आगे बढ़ना है
नेहरू जी के संग मां पापा का
सपना भी पूरा करना है।।

गौरव गान तुम्हारा हो
हम सब गर्व करे तुम पर
ऐसा काम करो तुम
हर तरफ नाम तुम्हरा हो

हर साल आता है ये दिन,
हर वर्ष मनाया जाता है
बच्चो की खुशियों को लेकर
ये दिन हर वर्ष आता है।।

5. वो बचपन का जमाना

बचपन में होती है खुशियां
बचपन होता है अनमोल
आता नहीं कभी दोबारा ये
समझो तुम सब इसका मोल।।

बचपन के वो खेल पुराने
दोस्तों के संग यादों के तराने
बारिश में वो नाव तैराना
याद आता है वो जमाना।।

स्कूल में जाना रोजाना
नए-नए बहाने बनाना
दोस्तो के संग घूमने जाना
बचपन होता है बहुत पुराना।।

बाल दिवस पर दुकान लगाना
नए-नए सामान ले जाना
खूब – खाना सबको खिलाना
बचपन है यादों का जमाना।।

कभी कभी स्कूल नहीं जाना
बहाने बनाकर घर पर रुक जाना
होम वर्क नहीं करने पर टीचर की डांट खाना
बचपन होता है यादों का खजाना।।

समय के साथ बड़े हो जाना
पर बचपन को कभी ना भूल पाना
बचपन का वो जमाना
याद आता है वक्त पुराना।।

6. बचपन की यादे

बचपन की वो यादें बहुत आती है
जब स्कूल से भाग आते थे
जब टीचर को बहुत सताते थे
वडा-पाव ओर समोसा खाते थे।।

बारिश में भीग जाते थे
लेट घर पर आते थे
मम्मी के संग स्कूल जाते थे
दोस्तो के संग पार्टी मानते थे।।

अपनी ज़िद पर अड जाते थे
बातें अपनी मनवाते थे
खा कर डांट पापा से
मम्मी के पास सो जाते थे ।।

स्कूल जाना, घर पर आना , खेलना कूदना
यही था बचपन का असली खजाना
छोटी-छोटी बातों पर खुश जाना
दादी से कहानियां सुनते जाना
यही था बचपन का खजाना।।

रंग-बिरंगे कपड़े पहनना
खट्टी-मीठी टॉफी खाना
बात ना मानने पर रूठ जाना
बचपन होता है यादों का खजाना।।

7. सबके प्यारे नेहरू हमारे

सबके प्यारे नेहरू हमारे, देखे जिन्होंने सपने आजादी के
उन सबके यह महापुरुष है, भारत के यह लाल हमारे।।

इलाहाबाद में जन्मे ये , ब्रिटिश शासन को चुनौती दी
गांधी जी के साथी थे, आजाद भारत के वासी थी।।

कई बार यह जेल गए भारत छोड़ो आंदोलन में
कई योजनाओं की शुरुआत की अपने शासनकाल में।।

भारत के बने पहले प्रधानमंत्री, शिक्षा हुई इंग्लैंड से
पंचायती राज की व्यवस्था, शुरू हुई इन के सहयोग से।।

14 नवंबर को इनका जन्म दिवस मनाया जाता है
बच्चों से खास लगाओ उनके चाचा नेहरू थे
इसीलिए इस दिन को बाल दिवस मनाया जाता है
गांधी टोपी इनकी पहचान, भारत के ये थे सम्मान।।

सबके प्यारे नेहरू हमारे, ऐसी थी इनकी पहचान
राजनेता थे भारत के, सब करते इनका सम्मान।।

8. चाचा नेहरू बाल दिवस पर छोटी कविता

चाचा नेहरू तुम्हे प्रणाम
तुम रखते हम सबका मान
बाल दिवस पर तुम्हे प्रणाम
तुम रखते हम सब का मान।।

मशहूर हुआ पंडित जी का नाम
बच्चों के लिए चाचा नेहरू महान
भारत रत्न मिला आपको
आप हो हम सबका सम्मान।।

भारत के पहले प्रधानमंत्री
स्वतंत्रता सेनानी आप
कई योजनाएं दी आपने
भारत बन गया महान।।

पंचायती राज से लेकर
सड़कों तक का किया निर्माण
आपके नेतृत्व में हुआ
भारत राष्ट्र का उत्थान।।

चाचा नेहरू तुम्हें प्रणाम
तुम रखते हम सब का मान।।

9. आओ बच्चों बाल दिवस पर कविता

आओ बच्चों बाल दिवस के दिन
हम सब मिलकर ऊंच-नीच का भेद मिटाएं
साथ खेले ,साथ पढ़े और साथ में बाल दिवस मनाए
नए-नए हम खेल खेले, चलो सबका मन बहलाए
नेहरू जी के जन्मदिन पर कुछ यादगार पल मनाएं।।

इस दिन हम सब मिलकर खुशी के गीत गाएंगे
गले मिलेंगे खेलेंगे और बाल दिवस मनाएंगे
प्रण करेंगे खूब पढ़ेंगे भारत के गुणगान गाएंगे
बाल दिवस के दिन नेहरू जी को श्रद्धा फूल चढ़ाएंगे।।

हर वर्ष आता है यह दिन हर्षोल्लास से मनाएंगे
बात मानेंगे टीचर की सबको खूब हसाएंगे
बाल दिवस के अवसर पर अच्छी-अच्छी बातें बताएंगे
नेहरू जी के बारे में कविता हम सबको सुनाएंगे।।

10. प्यारे बच्चे बाल दिवस पर कविता

बच्चे होते हैं कितने प्यारे, प्यारी होती इनकी मुस्कान
सब करते हैं प्यार इनको, यह होते हैं बहुत शैतान।।

बच्चों का मन होता निर्मल पावन
यह होते आफत की दुकान
भोली सी इनकी मुस्कान
बच्चे होते हैं शैतान।।

कितनी सच्चाई होती बच्चों में
छल कपट से होते अनजान
प्यारा सा यह बचपन इनका
सदा रहे खुशहाल मुस्कान।।

14 नवंबर को जन्मे नेहरू

नवंबर को जन्मे नेहरू
इसीलिए मनाया जाता बाल दिवस महान
बच्चे होते सब के दुलारे
नेहरू को भी थे बच्चे प्यारे।।

बच्चे होते हैं कितने प्यारे, प्यारी होती इनकी मुस्कान
सब करते हैं प्यार इनको, यह होते हैं बहुत शैतान।।

11. भारत वर्ष के बच्चे

भारतवर्ष युग के तुम, उत्तराधिकारी हो
हिंदुस्तान के तुम, बाल दिवस अधिकारी हो।।

तुम से है भारत का भविष्य
रखना इसका मान सदा
नेहरू जी की याद में
भारत की रखना शान सदा।।

कर्तव्य पथ पर चलना है,
यह रखना तुम याद सदा
संस्कारों का मान रखो,
हिंदुस्तान की शान सदा।।

जीवन में उतारो नेहरू जी को
उनके भाषण को रखना याद सदा
बाल दिवस पर ये प्रण कर लो
रखोगे हिंदुस्तान का मान सदा।।

मंजिल को रखना याद सदा
लक्ष्य का रखना भान सदा
हिंदुस्तान के बच्चे हो
सीने में रखना आग सदा।।

भारतवर्ष युग के तुम, उत्तराधिकारी हो
हिंदुस्तान के तुम, बाल दिवस अधिकारी हो।।

12. बाल दिवस विशेष नेहरू जी पर कविता

बाल दिवस के रूप में नेहरू जी
का जन्मदिन मनाया जाता है
बच्चे थे उनके प्यारे
श्रद्धा के फूल चढ़ाए जाते हैं।।

अहमदाबाद में जन्मे ये
भारत के लिए काम किया
सदा रखा मान सम्मान
भारतवर्ष का नाम किया।।

आओ बच्चों याद करें
नेहरू जी के योगदान को
रखे सदा सम्मान इनका
याद करें राष्ट्रहित मे कल्याण को।।

कोट में लगातें फूल सदा
गांधी टोपी पहना करते थे
सादी सी पोशाक थी इनकी
देश विदेश घुमा करते थे।।

13 बाल दिवस बच्चों पर छोटी कविता

सुबह जल्दी उठकर बच्चों
आज तुम्हें स्कूल जाना है
सारी तैयारियां होंगी वहां
बाल दिवस मनाना है।।

मिलेंगी मिठाईयां नई पोशाकें
छोटी दुकान लगाना है
कविताओं का गायन होगा
फंक्शन तुम्हें मनाना है।।

मस्ती करनी ढेर सारी
सबको बहुत सताना है
बच्चों आज तुमको
बाल दिवस मनाना है।।

प्यारी सी मुस्कान को सदा
चेहरे पर यूं ही रखना है
भाईचारे के संदेश के साथ
जीवन में आगे बढ़ना है।।

बाल दिवस पर सब को सुनना
जीवन में लक्ष्य को पाना है
दृढ़ रखना संकल्प अपना
तुमको दूर तक जाना है।।

आओ बच्चों तुमको बाल दिवस मनाना है…

रिलेटेड पोस्ट:

माँ पर कविता 

हिंदी दिवस पर कविता 

आपकी और दोस्तों:

तो हमारे प्यारे मित्रों ये थे कुछ बहुत ही अच्छे और प्यारे बाल दिवस पर कविता, हम उम्मीद करते है की ये सभी पोएम को पढ़ने के बाद आपको जरुर अपने बचपन के दिन याद आ गए होंगे.

अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो इसको शेयर और लाइक जरुर करे और सोशल मीडिया साइट्स पर भी फ्रेंड्स के साथ शेयर करना ना भूले. धन्येवाद दोस्तों.

Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published.