बाल दिवस पर निबंध – Children’s Day Essay in Hindi

Children’s Day Essay in Hindi – हेल्लो दोस्तों कैसे हो आप लोग आज के इस पोस्ट में हम आपके साथ बाल दिवस पर निबंध हिंदी में शेयर करने वाले है. बाल दिवस का मतलब होता है children’s day जो की पुरे वर्ल्ड में बहुत प्यार से मनाया जाता है.

हमसे बहुत स्टूडेंट्स ने रिक्वेस्ट किया की प्लीज अपने ब्लॉग पर बाल दिवस पर निबंध शेयर करे, तो हमने ये निर्णय लिया की चिल्ड्रेन डे पर essay हम इस पोस्ट में आप लोगो के साथ शेयर करेंगे.

तो चलो दोस्तों ज्यादा टाइम बर्बाद ना करते हुए हम आज के इस निबंध को पढ़ते है और हम उम्मीद करते है की आप लोगो को बाल दिवस पर हिंदी निबंध जरुर पसंद आयेगा.

पढ़े – रक्षा बंधन पर निबंध

बाल दिवस पर निबंध

Children’s Day Essay in Hindi

बाल  दिवस का अर्थ है बच्चों का दिन बच्चे ही किसी देश की वास्तविक संपत्ति हुआ करते हैं. यही बच्चे आने वाले कल का भविष्य है. बच्चे जो आज की कोमल कलिया है वही कल के खिलने वाले फूल हुआ करते हैं कहने का तात्पर्य है कि आज भी बच्चों का है और कल भी.

इसलिए प्रत्येक देश का कर्तव्य है कि वह अपने देश के बच्चों के सर्वागीण विकास की ओर समुचित ध्यान दें. इन्हीं बातों को ध्यान में रखकर हमारे देश में हर साल 14 नवंबर को बाल दिवस मनाया जाता है.

14 नवंबर स्वतंत्र भारत के प्रथम प्रधानमंत्री स्वर्गीय पंडित जवाहरलाल नेहरु जी का जन्मदिन भी है. पंडित नेहरू को गुलाब के फूल और गुलाब के फूल के समान खिले रहने वाले प्यारे प्यारे बच्चे बहुत अधिक प्यारे लगते हैं.

इसलिए उन्होंने अपने जन्मदिन को बच्चों का दिन बाल दिवस के रूप में मनाया था. बच्चे भी नेहरू जी को बहुत अधिक प्यार किया करते थे और वे उन्हें प्यार से चाचा नेहरू कहकर पुकारते थे.

पढ़े – होली पर निबंध

नेहरू जी भी बच्चों के साथ समय बिताना बहुत ज्यादा पसंद करते थे. और वह बच्चों के साथ बहुत ज्यादा घुल मिलकर रहते थे. पंडित नेहरु जी को बच्चों से इतना ज्यादा प्यार था कि वह बहुत ज्यादा व्यस्त रहने पर भी बच्चों के लिए समय जरूर निकाल लेते थे.

यही नहीं कभी-कभी तो वह रास्ते में किसी भी बच्चे को देख कर अपनी गाड़ी रुकवा सर उस बच्चे को गोदी में उठाकर प्यार करते थे और वह उनसे बातें करना शुरू कर देते.

बाल दिवस मनाने का प्रायोजन यह भी है कि बच्चे अपने देश का भविष्य वह करते हैं और उनके लालन-पालन, शिक्षा वृद्धि और विकास आदि पर विशेष ध्यान दिया जाना चाहिए. उनका किसी भी स्तर पर शोषण नहीं होना चाहिए.

इन उद्देश्यों की पूर्ति के लिए भी बाल दिवस का आयोजन होता है. अवसर पर विद्यालयों में समारोह का आयोजन होता है. इस अवसर पर बच्चों द्वारा कविता नाटक शादी के कार्यक्रम कराए जाते हैं और कई विद्यालयों में क्रीडा प्रतियोगिताएं भी आयोजित की जाती है.

पढ़े – दिवाली पर निबंध हिंदी में

उन प्रतियोगिताओं में विजई छात्रों को इनाम दिया जाता है. दिल्ली में शिक्षा विभाग की ओर से यह दिवस सामूहिक रूप से नेशनल स्टेडियम में मनाया जाता है. जहां सभी विद्यालयों से चुने हुए विद्यार्थी इकट्ठा होते हैं और अपने चुने हुए कार्यक्रम दर्शकों के सामने प्रस्तुत करते हैं.

बहुत से बच्चे अपने प्रिय चाचा नेहरू की समाधि पर शांतिवन में जाकर श्रद्धा सुमन चढाते है और चाचा नेहरु के बताए हुए मार्ग पर चलने की प्रतिज्ञा करते हैं क्या करता है.

इस दिन बच्चों को नेहरु जी का पसंदीदा फूल गुलाब और मिठाइयां बाटी जाती है. इस प्रकार प्रसन्नता और मनोरंजन के साथ बाल दिवस का आयोजन संपन्न हुआ करता है.

आपकी और दोस्तों

तो दोस्तों ये था बाल दिवस पर निबंध हम उम्मीद करते है की आपको children’s day के बारे में पूरी जानकारी पता चल गया होगा.

अगर आपको ये हिंदी essay पसंद आया हो तो इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा स्टूडेंट्स और अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे और ऐसे ही और भी हिंदी निबंध पढने के लिए इस ब्लॉग पर नियमित रूप से आया करे. थैंक यू दोस्तों

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *