Army Full Form in Hindi | आर्मी का फुल फॉर्म क्या है

Army Full Form in Hindi: आज के इस आर्टिकल में हम आपको आर्मी का फुल फॉर्म बताने वाले हैं। अगर आप इंटरनेट पर यह सर्च करते रहते हैं, कि आर्मी का फुल फॉर्म क्या होता है या फिर आर्मी का मीनिंग क्या होता है, तो आप बिल्कुल सही जगह पर आए हैं, क्योंकि आज के इस आर्टिकल में आपको आर्मी के फुल फॉर्म के बारे में तथा इससे संबंधित अन्य जानकारियां प्राप्त होंगी।

दोस्तों हमारा भारत देश एक बहुत बड़ी जनसंख्या वाला और बहुत बड़े बॉर्डर वाला देश है। वर्तमान में हमारे भारत देश की जनसंख्या 130 करोड़ के पार पहुंच गई है और जैसा कि आप जानते हैं कि हमारा भारत देश चारों तरफ से समुद्री सीमाओं से घिरा हुआ है।

इसके अलावा हमारे कुछ पड़ोसी देश भी हैं, जिनके साथ हमारे थोड़े मीठे और थोड़े खट्टे संबंध है। हमारे भारत देश के पड़ोसी देश के तौर पर पाकिस्तान, चीन,अफगानिस्तान, नेपाल और श्रीलंका, बांग्लादेश है। इनमें से पाकिस्तान और चीन के साथ हमेशा भारत के रिश्ते तनावपूर्ण बने हुए रहते हैं।

क्योंकि इन दोनों देशों से भारत की जमीनों पर कब्जे के लिए लगातार कोशिश और घुसपैठ होती रहती है। चीन हमसे ज्यादा तो पाकिस्तान की तरफ से हमारी भारतीय सीमा में अवैध घुसपैठ की जाती है।

हर साल तकरीबन 400 से अधिक आतंकवादी भारतीय सेना पाकिस्तान के मार गिराती है फिर भी पाकिस्तान के आतंकवादी घुसपैठ करना नहीं छोड़ते। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि हमारे भारत देश में बॉर्डर की सुरक्षा के लिए विभिन्न प्रकार की आर्मी का गठन किया गया है, जैसे जल सेना, थल सेना, वायु सेना

इसमें से जल सेना पानी में रहकर हमारे भारत देश की समुद्री सीमा की सुरक्षा करती है, तो वहीं थल सेना हमारे भारत देश की जमीन की सुरक्षा करती है और वायुसेना हमारे भारत देश के आकाश की सुरक्षा करती है।

वही हमारे देश के नक्सल प्रभावित इलाके में हमारे देश की सरकार सीआईएसएफ फोर्स को तैनात रखती है, वही हमारे भारत देश की आम जनता की सुरक्षा के लिए पुलिस डिपार्टमेंट हमेशा तत्पर रहता है, आइए अब आगे आर्मी के बारे में जानकारी प्राप्त करते हैं।

अनुक्रम दिखाएँ

■ आर्मी का अंग्रेजी में फुल फॉर्म क्या होता है

Army full form in hindi
Indian army soldiers take positions during their patrol near the Line of Control in Nowshera sector, about 90 kilometers from Jammu, India, Sunday, Oct. 2, 2016. India said Thursday it carried out “surgical strikes” against militants across the highly militarized frontier that divides the Kashmir region between India and Pakistan, in an exchange that escalated tensions between the nuclear-armed neighbors. (AP Photo/Channi Anand)

अगर आप विद्यार्थी हैं और आप अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद आर्मी में शामिल होना चाहते हैं, तो आपको आर्मी में शामिल होने के लिए सबसे पहले आर्मी की परीक्षा देनी होगी। बहुत से ऐसे लोग होते हैं, जिन्हें आर्मी का फुल फॉर्म पता नहीं होता है, तो वैसे लोगों की जानकारी के लिए बता दें कि आर्मी का अंग्रेजी में फुल फॉर्म होता है “अलर्ट रेगुलर मोबिलिटी यंग”

  • A – Alert
  • R – Regular
  • M – Mobility
  • Y – Young

■ आर्मी का हिंदी में क्या मतलब होता है

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि आर्मी को अंग्रेजी में “अलर्ट रेगुलर मोबिलिटी यंग” कहते हैं और इसे हिंदी भाषा में “सतर्क नियमित गतिशीलता युवा” कहते हैं।

■ ARMY शब्द का निर्माण

सेना को अंग्रेजी भाषा में आर्मी कहा जाता है और आपकी जानकारी के लिए बता दें कि आर्मी शब्द की उत्पत्ति लैटिन भाषा के अरमाटा से हुई है, जिसका अर्थ होता है आर्मी फोर्स।

यह एक ऐसी फौज होती है, जो किसी भी देश की सुरक्षा करती है, अर्थात जो फौज जिस देश की होती है, वह अपने अपने देश की सुरक्षा करती है।आर्मी एक संघात्मक फोर्स होती है, जो जमीन पर रहकर अपने अपने देश की सुरक्षा करती है।

आर्मी के अंदर कई शाखाएं होती हैं और हर शाखा अलग-अलग काम करती है, जैसे कि हमारी भारतीय वायु सेना आकाश के माध्यम से दुश्मनों पर अपनी नजर बनाए रखती है, तो हमारी थल सेना जमीन के माध्यम से दुश्मनों पर अपनी नजर बनाए रखती है।

वही हमारे भारत देश की जल सेना हमारी समुद्री सीमाओं की दुश्मन के देशों से सुरक्षा करती है तथा अवैध घुसपैठ को होने से रोकती है।

इस पूरी दुनिया में सबसे पहले हमारे भारत देश ने आर्मी को ऑर्गेनाइज किया था। वर्तमान के समय में दुनिया में सबसे अधिक संख्या वाली आर्मी चीन के पास है।चीन के पास इस समय टोटल 16 लाख से अधिक सैनिक हैं।इसके अलावा उसके पास 510000 रिजर्व सैनिक की विशाल सेना है।

इसके बाद हमारे भारत देश का नंबर आता है। दुनिया में दूसरी सबसे बड़ी आर्मी हमारे भारत देश के पास है। वर्तमान में हमारे भारत देश के पास 11,29000 सक्रिय सैनिक हैं और 9,60000 रिजर्व सैनिक है। चीन में सैनिकों की संख्या इसलिए ज्यादा है कि उसकी जनसंख्या हमारे भारत देश से ज्यादा है।

■ आर्मी भर्ती के लिए कैसे तैयारी करें

चाहे आर्मी हो या फिर अन्य कोई नौकरी हो, किसी भी नौकरी को पाने के लिए पूरी तैयारी और पूरी प्लानिंग पहले से ही की जाती है। इसीलिए अगर आप आर्मी की भर्ती की तैयारी कर रहे हैं या फिर आप इंडियन आर्मी में शामिल होना चाहते हैं, तो आपको इसके लिए इसके लिए एक प्लान के तहत काम करना होगा,आइए जानते हैं कि आप आर्मी की तैयारी कैसे कर सकते हैं।

1: आर्मी भर्ती होने के लिए दौड़ सबसे अहम चीज होती है, इसीलिए आप सब से पहले सुबह सुबह उठकर 1600 मीटर की दौड़ लगाने की कोशिश करें।कुछ अभ्यर्थी 1600 मीटर की रनिंग में पास होने के लिए रोजाना 7 से 8 किलोमीटर की दौड़ लगाते हैं।

परंतु हम आप को यही सलाह देंगे कि, रोजाना सात से 8 किलोमीटर दौड़ने की बजाय 1600 मीटर की दौड़ दौड़ने की प्रैक्टिस करें कयोंकि आर्मी में 1600 मीटर की दौड़ ही लगानी होती है।

2: आप आर्मी में जिस पद के लिए आवेदन करना चाहते हैं या फिर आप आर्मी में जिस पोजीशन को हासिल करना चाहते हैं, सबसे पहले उसके बारे में पूरी जानकारी इकट्ठा करें।

जैसे कि उस पद को पाने के लिए कौन सी योग्यताएं आपके अंदर होनी चाहिए तथा उस पद को पाने के लिए आपको कौन सी परीक्षा पास करनी होगी, उस पद के लिए जो परीक्षा होगी, उसमें कौन-कौन से और कैसे प्रश्न पूछे जाएंगे तथा कितने अंक लाने पर आपकी भर्ती होने में आसानी रहेगी।

इसका पता लगाने के लिए आप विभिन्न सोशल मीडिया साइट और इंटरनेट का सहारा ले सकते हैं, क्योंकि वर्तमान के समय में इंटरनेट पर सभी चीजों के बारे में संपूर्ण जानकारी उपलब्ध है।

3: अगर आपके किसी रिश्तेदार ने या फिर आपके किसी जानने पहचाने वाले ने आर्मी की परीक्षा को पास कर लिया है या फिर कोई आर्मी में भर्ती हो गया है, तो उनसे मिले और उनसे इस परीक्षा के बारे में जानकारियां प्राप्त करने के प्रयास करें।

उनसे इस परीक्षा के क्वेश्चन पैटर्न को समझने की कोशिश करें और उन्होंने आर्मी की परीक्षा को पास करने के लिए कौन-कौन से तरीके अपनाए हैं, इसके बारे में भी जानकारी इकट्ठा करने का प्रयास करें,क्योंकि जो जिस फील्ड में होता है, वह उस फील्ड को अच्छे से समझता है और उसे उस फील्ड की बारीकियों के बारे में गहराई से मालूम होता है।

4: चाहे एयर फोर्स का एग्जाम हो, आर्मी के एग्जाम हो या फिर आईएएस आईपीएस का एग्जाम हो, इन सभी परीक्षाओं में जर्नल नॉलेज से संबंधित सवाल अवश्य पूछे जाते हैं। इसलिए आप जनरल नॉलेज की विशेष तौर पर पढ़ाई करें। जीके की पढ़ाई करने के लिए आप इंटरनेट, समाचार पत्रों और विभिन्न किताबों का सहारा ले सकते हैं।

आप आर्मी में जो भी परीक्षा देने वाले हैं, उस परीक्षा से संबंधित सिलेबस की पढ़ाई अवश्य करें, क्योंकि उस परीक्षा में 50% सवाल उन्हीं सिलेबस से पूछे जाते हैं तथा इसके साथ-साथ इंग्लिश और गणित विषय पर भी अपनी पकड़ अच्छी बनाएं।

आप चाहे तो आर्मी की परीक्षा की तैयारी करने के लिए अपने घर के आस-पास स्थित किसी अच्छे कोचिंग इंस्टिट्यूट का सहारा भी ले सकते हैं और अगर आपके घर के आसपास कोई अच्छा कोचिंग इंस्टिट्यूट नहीं है, तो आप ऑनलाइन यूट्यूब के द्वारा भी पढ़ाई कर सकते हैं।

क्योंकि वर्तमान के समय में यूट्यूब पर ऐसे कई एजुकेशन से रिलेटेड चैनल है, जो सिर्फ आर्मी ही नहीं बल्कि अन्य परीक्षाओं की तैयारी भी अच्छे से करवाते हैं। आप अपने हिसाब से आर्मी की तैयारी करने के लिए चैनल का चुनाव कर सकते हैं।

5: इसके अलावा आप आर्मी में जिस पद के लिए अप्लाई करना चाहते हैं, उस पद के पहले जितने भी क्वेश्चन पेपर हुए हैं या फिर परीक्षाएं हुई हैं, उनके बारे में जानकारी इकट्ठा करने का प्रयास करें और अगर आपको उन परीक्षाओं के क्वेश्चन पेपर मिल जाते हैं।

तब आप उन क्वेश्चन पेपर को लेकर उसे हल करने का प्रयास करें। इससे आपको प्रश्नों की अच्छे से समझ होगी। आप आर्मी के पुराने प्रश्न पत्रों को निकालने के लिए इंटरनेट का सहारा ले सकते हैं और वहां से पुराने प्रश्न पत्र को पीडीएफ के रूप में डाउनलोड कर सकते हैं।

■ आर्मी ज्वाइन कैसे करें

विश्व में सबसे अधिक सेना में जाने की भर्ती भारतीय युवा में होती है। भारत के लड़के के अलावा लड़कियां भी अब सेना में जाने में अपनी रुचि दिखाने लगी है, क्योंकि पिछले कुछ सालों से सेना में लड़कियां भी काफी आवेदन दे रही है।

हमारे भारत देश के लगभग सभी लोगों में देशभक्ति का जज्बा होता है और ऐसे में वह सेना में जाकर अपनी देशभक्ति दिखाते हैं। अगर आप भारतीय सेना में भर्ती होना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको सेना में भर्ती होने के लिए जो मापदंड दिए गए हैं, उन्हें पूरा करना होता है।

क्योंकि भारतीय सेना में भर्ती होने के लिए अभ्यर्थी को मानसिक तौर पर फिट होने के साथ-साथ शारीरिक तौर पर भी फिट होना जरूरी है, आइए जानते हैं कि भारतीय सेना में भर्ती होने के लिए कौन सी योग्यताएं आपके अंदर या अभ्यर्थी के अंदर होनी चाहिए।

■ आर्मी में जाने के लिए कौन सी योग्यताएं होनी चाहिए

आर्मी में भर्ती होने के लिए उम्मीदवार का भारतीय नागरिक होना जरूरी होता है, इसके अलावा जो लोग नेपाल अथवा भूटान के नागरिक हैं, वह भी भारतीय आर्मी में शामिल होने के लिए भारत में आवेदन दे सकते हैं।

इसके अलावा आर्मी में जाने के लिए अभ्यर्थियों को शारीरिक और मानसिक तौर पर भी बिल्कुल फिट होना चाहिए, उसे कोई भी फिजिकल डिसेबिलिटी नहीं होनी चाहिए। इसके अलावा अभ्यर्थी को कम से कम 10 वीं या फिर 12वीं कक्षा पास होना आवश्यक है।

हालांकि कुछ पोस्ट के लिए दसवीं कक्षा पास ही मांगा जाता है और कुछ पोस्ट के लिए 12 कक्षा पास अभ्यर्थियों को बुलाया जाता है। हर पोस्ट के लिए अलग-अलग पढ़ाई मांगी जाती है। इसके अलावा उम्मीदवार की उम्र 18 साल से लेकर 21 साल तक होनी चाहिए।

हालांकि आर्मी में क्लर्क, आर्किटेक्चर और नर्सिंग असिस्टेंट के लिए 23 साल की उम्र मान्य है। इसके अलावा एससी एसटी तथा ओबीसी समुदाय को आर्मी में शामिल होने के लिए भारतीय संविधान के द्वारा दिए गए आरक्षण के तहत उम्र में छूट प्रदान की जाती है।

एससीएसटी समुदाय को 5 साल की छूट और ओबीसी समुदाय को 3 साल की छूट दी जाती है, हालांकि इस छूट को प्राप्त करने के लिए उन्हें अपने आरक्षण का सर्टिफिकेट दिखाना जरूरी होता है,जिनके पास आरक्षण का सर्टिफिकेट नहीं होता उन्हें सामान्य वर्ग के तौर पर ही ट्रीट किया जाता है।

इसके अलावा अभ्यर्थी की ऊंचाई 170 सेंटीमीटर होना जरूरी होता है, हालांकि यह मापदंड राज्यों के हिसाब से अलग-अलग हो सकता है, साथ ही अभ्यर्थी का सीना कम से कम 77 सेंटीमीटर और फुलाकर 84 सेंटीमीटर, उसका कम से कम वजन 50 किलो होना जरूरी है।

इसके साथ ही अभ्यर्थी को अपनी आंखों से बिल्कुल साफ-साफ सभी चीजें दिखाई देनी चाहिए, अभ्यर्थी चश्मा या फिर कांटेक्ट लेंस नहीं लगाता हो।

■ आर्मी में शामिल होने के लिए डॉक्यूमेंट की जानकारी

आर्मी में शामिल होने के लिए अभ्यर्थी को दसवीं और बारहवीं कक्षा पास होना जरूरी होता है और उसके पास दसवीं और बारहवीं कक्षा की मार्कशीट होना भी आवश्यक है।

इसके अलावा अभ्यर्थी के पास उसका आवास प्रमाण पत्र, अगर वह एससीएसटी या फिर ओबीसी समुदाय से संबंध रखता है, तो उसका जाति प्रमाण पत्र, उसका चरित्र प्रमाण पत्र जो कि 6 महीने से ज्यादा पुराना नहीं होना चाहिए और अगर अभ्यर्थी स्पोर्ट्स कोटा से है, तो उसका सर्टिफिकेट होना जरूरी है। इसके अलावा उसके पास अपना मेडिकल सर्टिफिकेट भी होना चाहिए।

■ आर्मी में ज्वाइन होने के लिए चयन प्रक्रिया

आर्मी में भर्ती होने के लिए आपको स्टेप बाय स्टेप इन सभी प्रक्रियाओं को पूरा करना पड़ता है।आर्मी में ज्वाइन होने के लिए सबसे पहले आपको फिजिकल टेस्ट फिर मेडिकल टेस्ट और सबसे आखरी में लिखित परीक्षा देनी होती है, आईए इसके बारे में जानकारी प्राप्त करते हैं।

■ फिजिकल टेस्ट

इंडियन आर्मी में ज्वाइन करने के लिए अपना रजिस्ट्रेशन करवाने के बाद सबसे पहले अभ्यर्थियों का फिजिकल टेस्ट लिया जाता है, जिसमें उम्मीदवारों से लंबी कूद, ऊंची कूद, दौड़ तथा अन्य टेस्ट को पास करने का आग्रह किया जाता है और इन सभी टेस्ट के लिए अलग-अलग नंबर उम्मीदवारों को दिए जाते हैं।

जो उम्मीदवार जिस टेस्ट में जैसा प्रदर्शन करता है, उसे उसी के हिसाब से नंबर दिए जाते हैं। फिजिकल टेस्ट में उम्मीदवारों को 1600 मीटर की दौड़ 5 मिनट और 41 सेकेंड में पूरी करनी होती है। जो इस दौड़ को सफलतापूर्वक पूरा कर लेते हैं, फिर उन्हें आगे के राउंड में भेजा जाता है।

■ मेडिकल टेस्ट

फिजिकल टेस्ट को सफलतापूर्वक पास करने वाले अभ्यर्थियों को अगले चरण यानी कि मेडिकल टेस्ट के लिए चुना जाता है और इस टेस्ट में मुख्य तौर पर उम्मीदवारों की आंख का टेस्ट किया जाता है।

इसके साथ ही उम्मीदवार सही से सुन सकता है या नहीं, उसकी आवाज कैसी है, उसका ब्लड ग्रुप कौन सा है, उसे कोई बीमारी तो नहीं है, इसकी जांच भी की जाती है।

इसके अलावा उसके पैर के दोनों घुटने आपस में मिल रहे हैं या नहीं, उसकी जांच भी की जाती है। अगर पैर के दोनों घुटने आपस में मिल रहे हैं, तो उसे आगे की प्रक्रिया में शामिल होने नहीं दिया जाता है।

इसके अलावा अगर उम्मीदवार के शरीर में किसी भी प्रकार का कोई भी फ्रैक्चर है, तो उसे सेना में भर्ती होने से रोक दिया जाता है।

■ लिखित परीक्षा

फिजिकल टेस्ट और मेडिकल टेस्ट को सफलतापूर्वक पास करने के बाद अभ्यर्थी को अगले और अंतिम चरण यानी की लिखित परीक्षा में शामिल होना होता है। यह परीक्षा टोटल 100 अंकों की होती है तथा इस परीक्षा को देने के लिए अभ्यर्थियों को 1 घंटे का समय परीक्षा केंद्र के द्वारा दिया जाता है।

और सबसे आखरी में सभी परीक्षा में सफल होने वाले अभ्यर्थियों की मेरिट लिस्ट बनाई जाती है और उसमें जिन लोगों का चयन होता है, उसे फिर सेना में भर्ती कर लिया जाता है।

हालांकि सेना में भर्ती करने से पहले उनकी कुछ महीने ट्रेनिंग भी करवाई जाती है, ताकि वह सेना के नियम और अनुशासन को सीख सकें। आमतौर पर यह ट्रेनिंग शिमला, मसूरी और हैदराबाद,पुणे में करवाई जाती है और इस ट्रेनिंग कि अभ्यर्थियों को ट्रेनिंग पूरी करने के बाद तनख्वाह भी दी जाती है, जिसे स्टाइपेंड कहा जाता है।

■ आर्मी की परीक्षा में किस विषय से संबंधित सवाल पूछे जाते हैं

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अगर आप आर्मी की परीक्षा देना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको गणित, सामान्य ज्ञान, सामान्य विज्ञान और एप्टिट्यूड से संबंधित सवालों का अध्ययन करना चाहिए, क्योंकि आर्मी की परीक्षा में इन्हीं विषयों से संबंधित सवाल पूछे जाते हैं।

■आर्मी में शामिल होने के लिए पात्रता की जानकारी संक्षेप में

– आवेदक भारत का नागरिक होना चाहिए

– आवेदक कम से कम 10th 12th पढ़ा होना चाहिए (पढाई पद के अनुसार)

– आयुसीमा : सैनिक के लिए – 17.5 वर्ष से 21 वर्ष तक, क्लर्क, शिल्पकार, नर्सिंग असिस्टंट के लिए- 23 वर्ष तक (पद के अनुसार)

– आवेदक अविवाहित होना चाहिए

– आवेदक शारीरिक और मानसिक रूप से फिट होना चाहिए

– हाइट : 170 CM (5.7 INCH) इसकी लिमिट हर पोस्ट और उनके राज्यों के अनुसार अलग होती है

– सीना : कम से कम 77 CM

– वजन : अधिकतम 50 KG

– आई साइट : 6-6

■ आर्मी में शामिल होने के लिए डॉक्यूमेंट की जानकारी संक्षेप में

– कास्ट प्रमाणपत्र

– चरित्र प्रमाण पत्र (6 महीने से अधिक पुराना नहीं होना चाहिए)

– 10th 12th की ओरिजनल मार्कशीट

– आवास प्रामाण पत्र

– स्पोर्ट्स के सर्टिफिकेट

■ आर्मी से जुड़े सभी चीजों के फुल फॉर्म

  • ASC: Army Service Corps
  • AMC: Army Medical Corps
  • AOC: Army Ordinance Corps
  • ADC: Army Dental Corps
  • EME: Electrical & Mechanical Engineers
  • NCC: National Cadet Corps
  • INSAS: Indian Small Arms System
  • SLR: Self Loading Rifle
  • BPET: Battle Physical Efficiency Test
  • PPT: Physical Proficiency Test
  • CV: Concession Voucher
  • DR: Dispatcher
  • CHM: Company Havildar Major
  • BHM: Battalion Havildar Major
  • RHM: Regiment Havildar Major
  • JCO: Junior Commission Officer
  • NCO: Non-Commission Officer
  • OR: Other Rank
  • MNS: Military Nursing Service
  • SKT: Store Keeper Technical
  • NA: Nursing Assistant
  • OPR: Operator
  • GD: General Duty
  • CO: Commanding Officer
  • 2IC: Second In Command
  • MO: Medical Officer
  • RMO: Regiment Medical Officer
  • DMO: Duty Medical Officer
  • SEMO: Senior Executive
  • Medical Officer
  • GOC: General Officer Commanding
  • COAS: Chief Of Army Staff
  • PVC: Param Vir Chakra
  • VC: Vir Chakra
  • AC: Ashok Chakra
  • PVSM: Param Vishisth Seva Medal
  • VSM: Vishisth Seva Medal
  • SM: Sena Medal
  • UYSM: Uttam Yudh Seva Medal
  • SM: Subedar Major
  • NSG: National Security Guard
  • AAD: Army Air Defence
  • AL: Annual Leave
  • CL: Casual Leave
  • SL: Sick Leave
  • CBRN: Chemical Biological Radiological Nuclear
  • PT: Physical Training
  • DG: Director-General
  • WT: Weapon Training
  • DIV: Division
  • RP: Regimental Police
  • CMP: Corps Of Military Police
  • AME: Annual Medical Exam
  • PME: Periodic Medical Exam
  • RMB: Release Medical Board
  • IMB: Invalid Medical Board
  • RT: Religious Teacher
  • ARC: Annual Range Classification
  • SHAPE: Psychiatry Hearing Appendages Physical Eye
  • QM: Quarter Master
  • CILQ: Compensation In Lieu Of Quarter
  • HRA: House Rent Allowance
  • TPAL: Transportation Allowance
  • CEA: Children Education Allowance
  • HAA: High Altitude Allowance
  • FAA: Family Accommodation Allowance
  • AFPP : Armed Forces Personal Provident Fund
  • PLI: Postal Life Insurance
  • MSP: Military Service Pay
  • ZRO: Zonal Recruitment Office

■ इंडियन आर्मी की 18 रेजीमेंट और उनके नारे

आपकी जानकारी के लिए बता हमारे भारत में हर साल 15 जनवरी को आर्मी डे के तहत मनाया जाता है। हमारे भारत में आर्मी की जितनी भी रेजीमेंट है, उनका एक नारा अवश्य होता है। अगर हम इंडियन आर्मी की बात करें तो इंडियन आर्मी का नारा है “भारत माता की जय” आइए अब आगे अन्य रेजिमेंट के नारे के बारे में जानकारी प्राप्त करते हैं।

1. बिहार रेजिमेंट

विजय मंत्र- ‘कर्म ही धर्म है’

नारा- जय बजरंग बली/ बिरसा मुंडा की जय

2. राजपुताना राइफल्स

विजय मंत्र- वीर भोग्ये वसुंधरा

नारा- राम चंद्र जी की जय

3. राजपुताना रेजिमेंट

विजय मंत्र- सर्वत्र विजय

नारा- बोल बजरंग बली की जय

4. कुमाऊं रेजिमेंट

विजय मंत्र- पराक्रमो विजयते

नारा- कालका माता की जय / बजरंग बली की जय/ दादा किशन की जय

5. गृहवाली रेजिमेंट

विजय मंत्र- युद्ध कृत निश्चय

नारा- बदरी विशाल की जय

6. डोग्रा रेजिमेंट

विजय मंत्र- कर्तव्यं अन्वात्मा

नारा- ज्वाला माता की जय

7. सिख रेजिमेंट

विजय मंत्र- निश्चय कर अपनी जीत करूं

नारा- बोले सो निहाल सत श्री अकाल

8. पंजाब रेजिमेंट

विजय मंत्र- स्थल वा जल

नारा- बोले सो निहाल, सत श्री अकाल

9. सिख लाइट इन्फेंट्री

विजय मंत्र- देग तेग फ़तेह

नारा- बोले सो निहाल, सत श्री अकाल

10. जम्मू एंड कश्मीर राइफल्स

विजय मंत्र- प्रस्त रणवीरता

नारा- दुर्गा माता की जय

11. जम्मू एंड कश्मीर लाइट इन्फेंट्री

विजय मंत्र- बलिदानम वीर लक्षणम

नारा- दुर्गा माता की जय

12. लद्दाख स्काउट

नारा- की की सो सो लार्घ्यालो (“Ki ki so so Lhargyalo”)

13. गोर्खा रेजिमेंट

विजय मंत्र- कायर हुनु भांडा मारनू रामरो

नारा- आयो गोर्खाली

14. 11 गोर्खा राइफल्स

विजय मंत्र- कायर हुनु भांडा मारनू रामरो (गोर्खा राइफल्स 3, 5, 8, 9 का भी यही मोटो है)

नारा- जय महाकाली

15. मराठा रेजिमेंट

विजय मंत्र- यश सिद्धी

नारा- हर-हर महादेव/ छत्रपति शिवाजी की जय

16. असम रेजिमेंट

विजय मंत्र- असम विक्रम

नारा- राइनो चार्ज

17. जाट रेजिमेंट

विजय मंत्र- संगठन वा वीरता

नारा- जाट बलवाल, जय भगवान

18. मद्रास रेजिमेंट

विजय मंत्र- सर्वधर्मे निधानम श्रेय

नारा- वीर मद्रासी, अडी कोलू, आडी कोलू

आपकी और दोस्तों:

तो दोस्तों ये था आर्मी का फुल फॉर्म क्या होता है, हमने इस पोस्ट में आपके साथ आर्मी का फुल फॉर्म शेयर करने के आलावा और भी बहुत जानकारी दी है.

हम उम्मीद करते है की आपको ये पोस्ट अच्छी लगी यदि हां तो पोस्ट को १ लाइक जरुर करे और अपने फ्रेंड्स के साथ सोशल मीडिया सिसते पर शेयर करना ना भूले. क्यूंकि हम चाहते है की ज्यादा से ज्यादा लोगो को आर्मी का फुल फॉर्म के बारे में पूरी जानकारी मिल पाए धन्येवाद दोस्तों|

Leave a Comment

Your email address will not be published.