12th के बाद क्या करें | 12वीं के बाद करियर कैसे बनाये

12th के बाद क्या करें: स्कूली शिक्षा पूर्ण करने के बाद हमारे द्वारा प्राप्त की गई शिक्षा हमारे पेशेवर (Professional) जीवन के लिए अत्यंत महत्वूर्ण होती है। इसलिए 12th पास करने के बाद छात्र इस उलझन में रहते हैं कि आखिर 12वीं के बाद क्या करें?

कौन सा ऐसा कोर्स, डिग्री प्राप्त करें जिससे हमारे भविष्य में कैरियर सेट हो सके! तो चाहे आपने साइंस, कॉमर्स,आर्ट्स किसी भी स्ट्रीम से पढ़ाई क्यों न की हो इस बात का जवाब तो आपकी रुचि, पैशन और Goal के आधार पर लिया जा सकता है।

लेकिन यदि आपको भविष्य धुंधला धुंधला नजर आ रहा है आप अपना इंटरेस्ट, या पैशन ढूंढ़ नहीं  पा रहे हैं तो इस आर्टिकल में हम आपको आपकी स्ट्रीम के मुताबिक ऐसे ही कैरियर ऑप्शन की जानकारी देंगे, जिनसे आप खुद के बेहतर भविष्य का निर्माण कर सकें।

तो साथियों आज का यह लेख काफी उपयोगी होने वाला है अतः इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़ें!

कोई भी कोर्स करने से पहले खुद से यह सवाल पूछना?

1. क्या जो मैं कोर्स करना जा रहा हूं वर्तमान में क्या इसकी डिमांड है।

2. क्या यह कोर्स मुझे अभी करना है या फिर कुछ सालों बाद करना है?

3. इस कोर्स को करने के बाद कौन-कौन सी जॉब्स मिलेंगी या फिर सैलरी पैकेज कितना मिल सकता है?

4. इस कोर्स को करने के लिए आपको किन विषयों पर अच्छा ज्ञान होना चाहिए? आपको उस कोर्स को करने के लिए किन एग्जाम्स में बैठना पड़ सकता है।

5. कोर्स के पश्चात केंपस प्लेसमेंट का क्या है?

यह कुछ सवाल है जो आर्ट्स साइंस या कॉमर्स किसी भी स्ट्रीम के छात्र को किसी भी डिग्री को या फिर कोर्स करने हेतु खुद से पूछने चाहिए ताकि वह एक बेहतर निर्णय ले सके।

12वीं कक्षा पास करने के बाद आगे क्या करें?

12th ke baad kya kare

Science Student Career Options

साइंस स्ट्रीम से पढ़ाई करने वाले छात्रों के लिए प्रस्तुत हैं कुछ लोकप्रिय career choices

जिन्हें सबसे बेहतर कैरियर विकल्प के तौर पर देखा जाता है।

दसवीं के बाद साइंस से पढ़ाई करने वाले छात्र दो विषयों को चुनते हैं! या तो PCB (फिजिक्स केमेस्ट्री बायोलॉजी) या फिर PCM (फिजिक्स केमिस्ट्री मैथ्स) आपने यदि साइंस PCM से पढ़ाई की है तो आपके लिए कुछ मुख्य कोर्सेज हैं जिन्हें आप 12वीं के बाद कर सकते हैं।

PCM के बाद क्या करें?

1. B.TECH

पीसीएम के साथ 12 वीं कक्षा उत्तीर्ण करने के बाद जो छात्र इंजीनियर बनना चाहते हैं उनके लिए बीटेक एक सर्वश्रेष्ठ कोर्स माना जाता है जिसमें सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग से लेकर इलेक्ट्रॉनिक्स और कम्युनिकेशन, ऑटोमोबाइल इंजीनियर, एयरोस्पेस इंजीनियर, मैकेनिकल इंजीनियरिंग, सिविल इंजीनियर इत्यादि बी टेक  के कोर्स को करके किया जा सकता है।

11 सेमेस्टर के साथ BTech कोर्स की अवधि आमतौर पर 4 वर्ष होती ह। भारत में छात्रों के बीच यह एक प्रसिद्ध एवं श्रेष्ठ कोर्स माना जाता है।

2. BCA

इसका पूरा नाम Bachelor of Computer Application होता है यह तीन साल का अंडरग्रेजुएट डिग्री कोर्स होता है साइंस कंप्यूटर से पढ़ाई करने वाले तथा कंप्यूटर टेक्नोलॉजी में इंटरेस्ट रखने वाले छात्र जो डिजिटल दुनिया में अपना बनाना चाहते हैं उनके लिए यह एक बेहतरीन कोर्स है ।

बीसीए की पढ़ाई करने के पश्चात डाटा साइंस के सेक्टर में पेशेवर योग्यता पाने का अवसर होता है! बता दें साइंस से पढ़ाई करने वाले छात्रों के लिए डाटा साइंटिस्ट एक ऐसा फील्ड है जिसमें रोजगार के ढेरों अवसर मौजूद हैं।

3. B Architecture

यह भी 5 साल का एक अंडर ग्रेजुएट कोर्स है जिसमें 5 साल आर्किटेक्चर के फील्ड में पढ़ाई करने के पश्चात आपको बिल्डिंग निर्माण के पीछे की साइंस का ज्ञान हासिल हो जाता है।

इस कोर्स को करने के पश्चात बतौर आर्किटेक्चर जॉब के कई अवसर मौजूद हैं Interior design से लेकर बिल्डिंग के निर्माण करने में आर्किटेक्चर के अहम योगदान की वजह से मार्केट में इस फील्ड की काफी डिमांड रहती है

5 साल के इस कोर्स में कुल 10 सेमेस्टर होते हैं जिसमें आर्किटेक्चर की बेहतरीन अभ्यास के लिए इंजीनियरिंग, आर्ट्स टेक्नोलोजी जैसे विषयों में फोकस किया जाता है।

पीसीबी करने के बाद क्या करें?

1. MBBS

डॉक्टर बनने का सपना रखने वाले छात्र साइंस स्ट्रीम में PCB सब्जेक्ट चयन करते हैं!  पीसीबी के छात्रों के बीच MBBS  (Bachelor of Medicine and Bachelor of Surgery) हमेशा से ही एक लोकप्रिय कोर्स रहा है।

इस कोर्स की कुल ड्यूरेशन 5½ साल की होती है जिसमें कुल 9 सेमेस्टर होने के साथ एमबीबीएस के कई मुख्य सब्जेक्ट से शरीर रचना विज्ञान, बाल रोग, जैव रसायन, जैसे अन्य विषयों की पढ़ाई पूरे कोर्स के दौरान होती है।

MBBS डॉक्टर को अच्छी सैलरी पैकेज तो मिलता ही है साथ में इसे भारत में एक उच्च दर्जे का प्रोफेशन माना जाता है। यदि आप भी एमबीबीएस कोर्स करना चाहते हैं तो आप medical council of india (MCI) के अंतर्गत आने वाली किसी भी मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस डिग्री प्राप्त कर सकते हैं।

2. BDS

पीसीबी सब्जेक्ट के साथ पढ़ाई करने वाले छात्रों के लिए BDS एक प्रोफेशनल डेंटल कोर्स है, इस कोर्स को करने के बाद भी आपको डॉक्टर की उपाधि दे दी जाती है। बायोलॉजी स्टूडेंट के लिए एमबीबीएस के साथ-साथ बीडीएस भी एक सम्मानीय कोर्स कहा जाता है।

बीडीएस एक 5 साल का अंडरग्रैजुएट कोर्स है जो छात्रों को डेंटल साइंस और सर्जरी जैसे नोबल प्रोफेशन की शिक्षा हासिल करवाता है। PCB के छात्रों को इस कोर्स को करने हेतु 12वीं में कम से कम 50% अंक और NEET की परीक्षा में उत्तीर्ण होना चाहिए।

इस कोर्स की पढ़ाई के लिए कई सरकारी तथा गैर सरकारी कॉलेजेस है। डेंटल कॉलेजों की कुल संख्या भारत में लगभग 300 है।।

3. B pharma

जो स्टूडेंट बी फार्मा में बैचलर की डिग्री प्राप्त करना चाहते हैं उनके लिए 4 साल का बी फार्मा कोर्स है इस कोर्स को करने के पश्चात व्यक्ति को केमिस्ट के तौर पर कार्य करने का लाइसेंस उसे मिल जाता।

इस कोर्स को करने वाले छात्रों के पास बड़ी-बड़ी मेडिकल कंपनी में बतौर मेडिकल रिप्रेजेन्टेटिव कार्य करने के साथ अच्छी सैलरी के साथ जॉब करने का अवसर होता है।

4. BSC

BSC का फुल फॉर्म bachelor of Computer science science होती है, यह छात्रों के बीच काफी जाना माना प्रोग्राम है ,जिससे PCM और PCB दोनों स्टूडेंट्स पढ़ाई कर सकते है।

जिन छात्रों का साइंस, मैथ्स के फील्ड मे इंटरेस्ट  होता है वह इस 3 साल के कोर्स को कर करते हैं।

साइंस स्ट्रीम से पढ़ाई करने वाले छात्रों के लिए यह थे कुछ लोकप्रिय कोर्स इसके अलावा पीसीबी तथा पीसीएम से पढ़ाई करने वाले छात्रों के लिए कुछ लोकप्रिय एंट्रेंस एग्जामिनेशन है जो छात्र कर सकते है

Science Students Ke Liye Engineering Entrance Exams

जो छात्र इंजीनियरिंग में रुचि रखते हैं उनके लिए यह एंट्रेंस एग्जाम देना होता है जिसकी परीक्षाएं लगभग भारत के सभी राज्यों द्वारा कॉलेज में आयोजित किया जाता है। इंजीनियरिंग कॉलेज में एडमिशन लेने हेतु पहले इंजीनियरिंग एंट्रेंस एग्जाम देना पड़ता है उसके बाद कॉलेज में आपकी सीट पक्की हो जाती है।

1. JEE Main

साइंस स्ट्रीम के छात्र इस entrance exam से सामान्यतः भली-भांति परिचित होते हैं। यह एंट्रेंस एग्जाम आपको भारत के टॉप इंजीनियरिंग Colleges में एडमिशन लेने का अवसर देता है

एक बार यदि आप JEE main के एंट्रेंस एग्जाम को आप क्लियर कर देते हैं तो आपके पास अच्छे कॉलेज से पढ़ाई कर अपने भविष्य को संवारने का मौका होता है।

2. JEE Advanced

जी एडवांस्ड को पहले IIT JEE के नाम से भी जाना जाता था। यह एंट्रेंस एग्जाम आपको भारत के टॉप 23 IIT (Indian institute Technology) में एडमिशन पाने हेतु आपकी सहायता करता है।

इस एंट्रेंस एग्जाम को पीसीबी तथा PCM दोनों सब्जेक्ट्स के छात्र दे सकते हैं, जो छात्र आईआईटी में एडमिशन लेना चाहते हैं उनके लिए जी मेन, जी एडवांस्ड के एंट्रेंस एग्जाम को पास करना आवश्यक हो जाता है।

3. NEET UG

देश के लिए मेडिकल कॉलेज से पढ़ाई करना भी एक गौरव की बात होती है और मेडिकल कॉलेज में पढ़ाई करने हेतु 12th के बाद NEET UG एंट्रेंस एग्जाम PCB और pcm के छात्रों को देना होता है।  बता दें इस एंट्रेंस एग्जाम में केवल वही छात्र परीक्षा दे सकते हैं जिन्होंने पीसीबी के साथ 12वीं में 50% अंक प्राप्त किए हो और उनकी आयु 25 वर्ष से कम हो।

Commerce Students Career Options

अब हम चर्चा करेंगे कॉमर्स से पढ़ाई करने वाले छात्रों के कैरियर विकल्पों की

कॉमर्स से पढ़ाई करने वाले छात्रों की इकोनॉमिक्स, एकाउंटिंग, बिजनेस जैसे विषयों में अच्छी पकड़ होती है। यदि आपने भी कॉमर्स से पढ़ाई की है तो प्रस्तुत है इस स्ट्रीम से बेस्ट करियर विकल्प आपके लिए

1. B. COM (bachelor of Commerce)

कॉमर्स से पढ़ाई करने वाले अधिकतर छात्र ग्रेजुएशन के लिए बीकॉम की पढ़ाई करते है। इस तीन साल के कोर्स के दौरान छात्रों को Economics, फाइनेंस, लॉ इत्यादि विषयों पर जानकारी दी जाती है। इस कोर्स को वे छात्र भी करने का मन बना सकते हैं जो मार्केटिंग, अकाउंटेंसी, बैंकिंग मैनेजमेंट इत्यादि के क्षेत्र में अपना कैरियर बनाना चाहते हैं।

बारहवीं पास करने के बाद आपके सब्जेक्ट के हिसाब से आपके पास BCOM, BCOM ऑनर्स लेने की चॉइस होती है! ऑनर्स की वैल्यू अधिक मानी जाती है, क्योंकि उसमें अधिक हार्ड सब्जेक्ट होते है।

2. BBA (bachelor of business administration)

कॉमर्स स्ट्रीम के अंतर्गत बिजनेस मैनेजमेंट की पढ़ाई करने वाले छात्रों के लिए उपयुक्त कोर्स है बीबीए के इस कोर्स में मैनेजमेंट लीडरशिप स्किल्स दी जाती है, जिस वजह से Marketing, Education, Finance, Sales जैसे अन्य सेक्टर्स में जॉब के अवसर खुल जाते हैं।

बता दे 3 साल के इस अंडरग्रैजुएट कोर्स को सभी स्ट्रीम के छात्रों द्वारा किया जा सकता है।

3. CA (chartered accountant)

कॉमर्स छात्रों के बीच यह सबसे हार्ड परंतु सबसे सम्माननीय कोर्स है! जिस वजह से देशभर से लाखों छात्र हर साल चार्टर्ड बनने के लिए जी तोड़ मेहनत करते हैं! भारत में सीए कोर्स को ICAS (Indian Chartered Accountants Institute) द्वारा कंडक्ट किया जाता है।

एक CA एकाउंटिंग डिपार्टमेंट या संस्था में एक प्राइवेट एडवाइजर के तौर पर कार्य करता है। CA के 5 साल के इस कोर्स को पूर्ण करने के पश्चात आप इंडस्ट्री में auditing, cost accounting, tax management, management accounting, consultancy तथा फाइनेंशियल फिल्ड के किसी भी क्षेत्र में काम कर सकते हैं।

Note: वर्ष 2006 के बाद से ICAI ने इस कोर्स में 3 लेवल जोड़ दिए हैं!

  • CPT (Common Proficiency Test)
  • IPCC (Integrated Professional Competence Course)
  • FC (Final Course)

4. CS

CS की फुल फॉर्म कंपनी सेक्रेट्री होती है! जिसे आधिकारिक तौर पर Institute of Company Secretaries of India (ICSI) द्वारा ऑफर किया जाता है। कंपनी में सीएस एक प्रिंसिपल पोस्ट कही जाती है क्योंकि किसी फर्म के सभी कानूनी पहलुओं को हैंडल करने का कार्य सीएस का ही होता है।

एक कंपनी में सीएस का कार्य कंपनी के tax returns तथा रिकॉर्ड्स को संभालना हो सकता है  संक्षेप में कहा जाए तो एक सीएस कंपनी को कानूनी और वैधानिक नियमों के तहत कार्य करने में मदद करता है।

अतः जो है 8 आवेदक पेशेवर रूप से कंपनी सेक्रेटरी के कार्य को समझना सीखना चाहते हैं उन्हें ICSI द्वारा सेट किए गए निम्नलिखित 3 levels के प्रोग्राम्स की ट्रेनिंग & परीक्षा से गुजरना होता है

  • Foundation Programme
  • Executive Programme
  • Professional Programme

यदि आपका भी अकाउंटिंग में इंटरेस्ट है और आपको लगता है कि आप कंपनी को उनके फाइनेंसियल टैक्स में उनकी सहायता कर सकते हैं तो आपको इस कोर्स के लिए आवेदन करना चाहिए।

Arts student Career Options

साइंस और कॉमर्स दो प्रमुख स्ट्रीम्स के बेस्ट करियर ऑप्शंस के बारे में जानने के बाद अब हम बात करेंगे आर्ट्स स्ट्रीम की जिसे सामान्यतः उपरोक्त इस स्ट्रीम की तुलना में वैल्यू नहीं दी जाती। परंतु इसमें अनेक ऐसे कैरियर विकल्प हैं जो आपकी जिंदगी सेट कर सकते हैं।

प्रस्तुत है आर्ट्स से पढ़ाई करने वाले छात्रों के लिए शानदार कैरियर विकल्प

1. Ba, Ba Hons

आर्ट्स से की परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद सर्वाधिक संख्या में आज भी छात्र ग्रेजुएशन पूरी करने हेतु B.a. B.a ऑनर्स प्रोग्राम मैं एडमिशन लेते हैं। सामान्यतः B.A. में दाखिले की प्रक्रिया सीधी होती है! हालांकि कुछ विश्वविद्यालयों में दाखिले से पूर्व एंट्रेंस एग्जाम भी देना पड़ सकता है।

3 साल के इस ग्रेजुएशन कोर्स में आपको आर्ट्स विषय जैसे हिस्ट्री पॉलिटिकल भूगोल हिंदी इंग्लिश जैसे सब्जेक्ट की पढ़ाई होती है। यदि आप किसी एक विषय पर अपनी पकड़ बनाना चाहते हैं तो आप BA, BA2 ऑनर्स सब्जेक्ट ले सकते हैं

2. BJMC

newspaper television TV इत्यादि मास मीडिया के साधनों के माध्यम से आप पत्रकारिता को अपना कैरियर बनाना चाहते हैं। तो यह आर्ट्स के स्टूडेंट के लिए वर्तमान में सबसे शानदार कैरियर ऑप्शन बनकर आया है। 3 साल के इस अंडरग्रैजुएट BJMC कोर्स जिसकी फुल फॉर्म Bachelor of Journalism & Mass Communication (BJMC) होती है

इस कोर्स से पढ़ाई करने वाले छात्रों को कॉलेज में मास मीडिया के अंतर्गत उपयोग होने वाली टेक्नोलॉजी, इक्विपमेंट और सॉफ्टवेयर्स की भी जानकारी प्रदान की जाती है। भारत में यह कोर्स कई सरकारी एवं गैर सरकारी कॉलेजेस करवाते हैं कुछ प्रमुख सरकारी BJMC कॉलेज निम्नलिखित हैं

  • IIMC (New Delhi),
  • Delhi College (New Delhi),
  • FTII (Pune), BHU (Varanasi),
  • Jamia Milia University (Aligarh)

3. Animation and Graphic Designing

इंटरनेट की वजह से बढ़ते डिजिटलाइजेशन ने एनिमेशन और ग्राफिक डिजाइन का महत्व आज काफी बढ़ा दिया है। जिस वजह से it Professionals की मांग भी आज तेजी से बढ़ती जा रही है यदि आप ने हाल ही में आर्ट्स स्ट्रीम से बारहवीं की परीक्षा पास की है तो वर्तमान में animation aur graphic designing का कार्य क्रिएटिव होने के साथ-साथ जॉब के अवसरों से भरा पड़ा है।

बहुत सारे ऐसे इंस्टीट्यूट हैं जो आपको एनीमेशन ग्राफिक डिजाइनिंग का कोर्स उपलब्ध कराते हैं। यह आर्ट्स स्टूडेंट के लिए एक ऐसा कैरियर ऑप्शन है जिसकी आने वाले समय में डिमांड और भी बढ़ती जाएगी।

4. BFA-Bachelor of Fine Arts

यह भी एक ग्रेजुएशन कोर्स है जो आपको अपने इंटरेस्ट और पैशन को फॉलो करने में आपकी मदद करता है इस कोर्स के अंतर्गत डांसिंग फोटोग्राफी म्यूजिक पेंटिंग जैसे विषयों पर अधिक फोकस होता है। अतः इस तरह का कोर्स आमतौर पर वे ही छात्र करते हैं जिनके अंदर कुछ अलग करने की क्रिएटिविटी और स्किल होती हैं

5. Hotel Management (HM)

डिग्री कोर्स या फिर डिप्लोमा कोर्स के साथ होटल मैनेजमेंट एक शानदार कैरियर विकल्प बन सकता है।

पर्यटन के तौर पर भारत एक शानदार देश है और hotel management इस क्षेत्र में एक ऐसा पेशा है। जिसमें न सिर्फ देश के अंदर बल्कि विदेशों में भी नौकरी करने के अवसर होते हैनम

इस कोर्स में छात्र की चॉइस के मुताबिक विभिन्न कम्यूनिकेशन स्किल्स, फॉरेन लैंग्वेज, फूड प्रॉडक्शन, ट्रैवल मैनेजमेंट, पब्लिक रिलेशंस और मार्केटिंग जैसे विषयों को पढ़ाया जाता है।

तो आपकी इनमें से जिस भी विषय में अधिक रुचि है, होटल मैनेजमेंट में आप उस सब्जेक्ट की पढ़ाई कर उसमें बेहतर करियर बना सकते हैं।

5. Event Management

आर्ट्स स्टूडेंट्स के लिए एक नया और शानदार कैरियर विकल्प के रूप में सामने आया है यह कोर्स, इवेंट मैनेजमेंट 3 साल का कोर्स होता है।

जिसे करने के बाद आप बतौर इवेंट मैनेजर जॉब कर सकते हैं या फिर खुद का एक बिजनेस भी कर सकते हैं इस कोर्स के दौरान आपको प्लानिंग, ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंट, अकाउंटिंग, मार्केटिंग जैसे विषय पढ़ाए जाते हैं।

रिलेटेड पोस्ट:

12th ARTS के बाद क्या करे

BA के बाद क्या करे

आईपीएस बनने के लिए क्या करना पड़ेगा

आईएस बनने के लिए क्या करें पूरी जानकारी

आपकी और दोस्तों:

तो यह थे 12वीं पास करने वाले स्टूडेंट्स के लिए शानदार कैरियर विकल्प इनमें से आप किसी भी फील्ड में अपने इंटरेस्ट पैशन तथा संभावनाओं को देखते हुए उसमें आगे बढ़कर अपना करियर बना सकते हैं।

तो साथियों आज के इस लेख में हमने सभी स्ट्रीम्स के छात्रों के लिए कैरियर विकल्प की जानकारी आपके साथ साझा की! हमें आशा है इस लेख को पढ़ने के बाद 12वीं के बाद क्या करें ? अब आपको यह निर्णय लेने में आसानी होगी।

यदि आपको इस लेख में दी गई जानकारी पसंद आई तो आप इसको शेयर करके दूसरों तक भी पहुंचायें।

Leave a Comment

Your email address will not be published.